khabaruttrakhand
अपराधआकस्मिक समाचारउत्तराखंडटिहरी गढ़वालदिन की कहानीदेहरादूनराष्ट्रीयस्वास्थ्य

ब्रेकिंग:-एम्स में निर्मित होगा 150 आईसीयू बेड का अस्पताल -संस्थान का केन्द्रीय लोक निर्माण विभाग के साथ हुआ एमओयू

एम्स में निर्मित होगा 150 आईसीयू बेड का अस्पताल -संस्थान का केन्द्रीय लोक निर्माण विभाग के साथ हुआ एमओयू
गंभीर रोगों से ग्रसित मरीजों के बेहतर इलाज के लिए एम्स ऋषिकेश में 150 बेड क्षमता वाले क्रिटिकल केयर अस्पताल भवन के निर्माण की कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

18 हजार वर्ग मीटर प्लिंथ एरिया में बनने जा रहे इस मिनी क्रिटिकल केयर अस्पताल भवन का निर्माण कार्य केन्द्रीय लोक निर्माण विभाग द्वारा किया जाएगा।

Advertisement

इस योजना को लेकर एम्स तथा केन्द्रीय लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों द्वारा एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए।

गौरतलब है कि एम्स ऋषिकेश में वर्तमान में 960 बेड का अस्पताल संचालित हो रहा है और यहां दैनिक तौर पर 2500 से 3000 मरीज ओपीडी में विभिन्न विभागों के डॉक्टरों से चिकित्सकीय परामर्श लेने आते हैं। राज्य में सबसे बड़ा स्वास्थ्य संस्थान होने के नाते यहां इलाज हेतु भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या भी दिन-प्रतिदिन बढ़ रही है।

Advertisement

खासकर गंभीर मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए एम्स की ट्रॉमा बिल्डिंग के निकट एक मिनी क्रिटिकल केयर हॉस्पिटल बिल्डिंग का निर्माण होने जा रहा है।
मिनी अस्पताल की इस बिल्डिंग में 150 बेड स्थापित होंगे।

इस मामले में एम्स ऋषिकेश और केंद्रीय लोक निर्माण विभाग के मध्य एमओयू गठित कर दोनों पक्षों की ओर से करार पर हस्ताक्षर किए गए।
गरीब लोगों के उपचार के लिए विशेष लाभदायक सिद्ध होने जा रही अस्पताल निर्माण की यह योजना ’प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर मिशन’ के तहत स्वीकृत की गई है। योजना के तहत निर्मित होने वाली अस्पताल की बिल्डिंग भूतल सहित 7 मंजिल की होगी।

Advertisement

इस योजना के बाबत एम्स ऋषिकेश की कार्यकारी निदेशक प्रोफेसर (डॉ.) मीनू सिंह ने बताया कि यह मिनी अस्पताल पूर्णतः केन्द्रीयकृत एसी सुविधा वाला होगा।
इस आईसीयू अस्पताल में इमरजेंसी बेड सहित डे केयर बेड, डायलिसिस, आईसोलेशन रूम, एचडीयू, आईसीयू, एनआईसीयू, पीआईसीयू और ऑपरेशन थियेटरों की सुविधा भी उपलब्ध होगी। प्रोफेसर (डॉक्टर) मीनू सिंह ने कहा कि योजना के तहत सिविल कंस्ट्रक्शन का सभी कार्य केंद्रीय लोक निर्माण विभाग को सौंपा गया है।

गौरतलब है कि वर्तमान में एम्स अस्पताल में बेडों की कुल संख्या 960 है, जिनमें से 200 आईसीयू बेड हैं। एम्स की कार्यकारी निदेशक प्रोफेसर (डॉ. )मीनू सिंह ने यह भी बताया कि शीघ्र ही बीमारी से ग्रसित छोटे बच्चों के इलाज के लिए 42 बेड का एक अन्य आईसीयू भी बनकर तैयार हो जाएगा।

Advertisement

इस अवसर पर डीन एकेडेमिक प्रो. जया चतुर्वेदी, संस्थान के उप निदेशक (प्रशासन) ले. कर्नल ए.आर. मुखर्जी, विधि अधिकारी प्रदीप चंद्र पांडेय, सीपीडब्लूडी के ऋषिकेश डिवीजन के अधीक्षण अभियंता चंद्रपाल, एम्स के प्रभारी अधीक्षण अभियंता विपुल कुमार मिश्रा आदि मौजूद रहे।

Advertisement

Related posts

ब्रेकिंग:-एम्स में राज्यभर के फार्मासिस्ट और डेटा इंट्री ऑपरेटरों की वायरल हेपेटाइटिस कंट्रोल प्रोग्राम के तहत प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन

khabaruttrakhand

जिलाधिकारी द्वारा सरकार जनता के द्वार कार्यक्रम के तहत विकासखण्ड चम्बा के इस ग्राम का किया निरीक्षण गया।

khabaruttrakhand

ब्रेकिंग:-टिहरी जनपद के चंबा थाने के पास भूस्खनल से हुआ दर्दनाक हादसा, पढ़े ताजा अपडेट।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights