khabaruttrakhand
उत्तराखंड

Uttarakhand में 20 हजार से ज्यादा स्थलों पर लोग देखेंगे Ramlala का प्राण प्रतिष्ठा समारोह, की गई ये व्यवस्था; शाम को मनेगा दीपोत्सव

Uttarakhand में 20 हजार से ज्यादा स्थलों पर लोग देखेंगे Ramlala का प्राण प्रतिष्ठा समारोह, की गई ये व्यवस्था; शाम को मनेगा दीपोत्सव

Uttarakhand: Ayodhya में बन रहे भव्य श्रीराम मंदिर में 22 जनवरी को होने वाले भगवान श्रीराम के बाल रूप नूतन विग्रह के प्राण प्रतिष्ठा समारोह से संपूर्ण देवभूमि भी जुड़ेगी। राज्य में इन दिनों विश्व हिंदू परिषद समेत राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के 32 आनुषांगिक संगठन राम काज में जुटे हैं।

Ayodhya में पूजित अक्षत, श्रीराम मंदिर का चित्र और रामलला के विराजमान होने संबंधी पत्रक घर-घर वितरित किए जा रहे हैं। साथ ही, प्राण प्रतिष्ठा समारोह का सीधा प्रसारण देखने के लिए भी कार्ययोजना तैयार कर ली गई है। Uttarakhand में विभिन्न मंदिरों समेत 20 हजार से अधिक स्थलों पर विशाल LED स्क्रीन पर इस समारोह का सीधा प्रसारण देखने की व्यवस्था की जा रही है। रामलला के विराजमान होने पर शाम को दीपोत्सव मनेगा।

Advertisement

भगवान श्रीराम के नूतन बाल रूप विग्रह की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर समूचे Uttarakhand में वातावरण राममय होने लगा है। विश्व हिंदू परिषद की अगुआई में इन दिनों राज्यभर में जगह-जगह कलश यात्राएं, घर संपर्क कर पूजित अक्षत वितरण जैसे कार्य चल रहे हैं। 15 जनवरी तक यह क्रम चलेगा। साथ ही, 22 जनवरी को प्राण प्रतिष्ठा समारोह का सीधा प्रसारण सामूहिक रूप से देखने को कार्ययोजना तैयार कर ली गई है।

विश्व हिंदू परिषद के प्रांत संगठन मंत्री अजय के अनुसार उत्तराखंड में 16 हजार से अधिक गांवों और सभी 105 शहरों में लोग प्राण प्रतिष्ठा समारोह का सीधा प्रसारण देखेंगे। ये कार्यक्रम मंदिर केंद्रित होने के साथ ही सार्वजनिक स्थलों में भी एलईडी स्क्रीन की व्यवस्था की जाएगी। इन स्थलों की संख्या 20 हजार से अधिक है।

Advertisement

रूपरेखा इस तरह से बनाई गई है कि रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के दिन सुबह से ही मंदिरों समेत इन सभी स्थलों पर सुंदरकांड पाठ, कीर्तन-भजन के कार्यक्रम होंगे, जो दोपहर 12 बजे तक चलेंगे। इसके बाद दोपहर 12 से एक बजे तक सभी लोग प्राण प्रतिष्ठा समारोह का सीधा प्रसारण देखेंगे। तत्पश्चात प्रसाद वितरण होगा।

दीपोत्सव के साथ ही विशेष सजावट

Ayodhya में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा होने के बाद 22 जनवरी की शाम को देशभर की भांति Uttarakhand में भी दीपोत्सव मनाया जाएगा। घरों, मंदिरों व सार्वजनिक स्थलों पर दीप प्रज्ज्वलित किए जाएंगे। साथ ही, घरों, प्रतिष्ठानों व सार्वजनिक स्थलों पर विशेष सजावट की जाएगी। विश्व हिंदू परिषद के प्रांत संगठन मंत्री अजय के अनुसार इस सिलसिले में व्यापार मंडल समेत अन्य संगठनों व रामभक्तों से वार्ता हो चुकी है।

Advertisement

देवभूमि से 258 संत होंगे शामिल

विश्व हिंदू परिषद के प्रांत संगठन मंत्री ने बताया कि 22 जनवरी को Ayodhya में होने वाले प्राण प्रतिष्ठा समारोह में देवभूमि Uttarakhand से 258 संत भी शामिल होंगे। इनमें सभी अखाड़ों के अध्यक्ष, महामंत्री, कोठारी, आचार्य महामंडलेश्वर हैं। यही नहीं, राज्य के 13 अन्य विशिष्ट जन भी समारोह में आमंत्रित किए गए हैं।

Advertisement

Related posts

ब्रेकिंग:-प्राथमिक विद्यालय के लिए मुसीबत बनी हाईटेंशन बिजली की लाइन ।

khabaruttrakhand

ब्रेकिंग:-लंदन में स्थित प्रतिष्ठित इंडिया क्लब – एक प्रतिष्ठित लाउंज-सह-रेस्तरां और बार होने जा रहा है बन्द, सितम्बर की यह तारिख होगी इसके संचालन की अंतिम तिथि, जाने इससे जुड़े दशकों का इतिहास।

khabaruttrakhand

CM Dhami: सार्वजनिक निगमों के 40 हजार कर्मियों को मिलेगा 4% महंगाई भत्ता, आचार संहिता से पहले होगा आदेश

cradmin

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights