khabaruttrakhand
आकस्मिक समाचारउत्तरकाशीउत्तराखंडखेलचमोलीटिहरी गढ़वालदिन की कहानीदुनियाभर की खबरेमनी (money)यू एस नगरराजनीतिकराष्ट्रीयरुद्रप्रयागविशेष कवरस्टोरी

ब्रेकिंग:-जनधन खातों की संख्या में 8 साल में हो गया इतना इफाज़ा, इन खातों में जमा राशि के आंकड़े है चौंकाने वाले।

जनधन खातों की संख्या में 8 साल में हो गया इतना इफाज़ा, इन खातों में जमा राशि के आंकड़े है चौंकाने वाले।

नई दिल्ली:– मीडिया रिपोर्ट से मिल रही जानकारी के अनुसार जनधन योजना के जरिये हो रहे बदलाव एवं डिजिटल क्रंति ने देशभर में एक वित्तीय क्रांति पैदा कर दी है।
इस मामले में सोमवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने जानकारी साझा की है।

Advertisement

उन्होंने बताया कि अभी तक इस औपचारिक बैंकिंग प्रणाली में लगभग 50 करोड़ से अधिक लोगों को जोड़ दिया गया है।
वही अगर खाताधारकों द्वारा जमा की गई राशि की बात करें तो वह भी काफी खासा है जो करीब 2 लाख करोड़ रुपये से अधिक है।
वित्त मंत्री द्वारा यह जानकारी भी साझा की गई कि जनधन योजना के अंतर्गत 55.5 प्रतिशत खाते केवल महिलाओ द्वारा खोले गए हैं।

वही बात करें खातों के ग्रामीण या शहरी क्षेत्रों के प्रतिनिधित्व की तो 67 प्रतिशत खाते ग्रामीण या फिर अर्ध शहरी क्षेत्रों में खोले गए हैं।

Advertisement

यह जानकरी वित्त मंत्री ने जनधन योजना की 9वीं वर्षगांठ पर दी।
वही बताया जा रहा है कि इन खातों की संख्या जहां 2015 में 14.72 करोड़ थी वह अब बढ़कर 50.09 करोड़ हो गयी है और यह आंकड़ा 16 अगस्त 2023 तक का है।

वही इन खातों में लोगों द्वारा जहाँ मार्च 2015 तक 15,670 करोड़ रुपये जमा किये गए थे वहीँ अगर अब अगस्त 2023 की बात करें तो यह धनराशि बढकर 2.03 लाख करोड़ रुपये से अधिक हो गयी है।

Advertisement

जमा किये गए धनराशि के आंकड़ो में जमकर वृद्धि हुई है और यह 13 गुना बढ़ गयी है।
इस तरह से यह योजना एक वित्तीय समीकरण को बदलने वाली एक महत्वपूर्ण पहल के रूप में परिलक्षित होकर सामने आई है।
इसके नतीजे बेहतरीन है।

Advertisement

Related posts

ब्रेकिंग:-मई माह में हो रही बर्फबारी उच्च हिमालई क्षेत्रों के ग्लेशियरों के लिए किसी संजीवनी से कम नहीं ।

khabaruttrakhand

PM Modi ने दिया कई स्टेशनों को सुधार करने के लिए करीब 100 करोड़ रुपये से ज्यादा का बजट

khabaruttrakhand

Uttarakhand High Court: जजों की अनिवार्य सेवानिवृत्ति मामले में Government से जवाब तलब, records पेश करने के निर्देश

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights