khabaruttrakhand
आकस्मिक समाचारउत्तराखंडटिहरी गढ़वालदिन की कहानीदुनियाभर की खबरेदेहरादूनप्रभावशाली व्यतिराजनीतिकराष्ट्रीयविशेष कवरस्टोरीस्वास्थ्य

ब्रेकिंग:-अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, एम्स ऋषिकेश में बृहस्पतिवार को इंटरनेशनल कॉलेज फेस्टिवल पायरेक्सिया 2023 का आगाज,मुख्य अतिथि सूबे के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी व विशिष्ट अतिथि रहे ये।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, एम्स ऋषिकेश में बृहस्पतिवार को इंटरनेशनल कॉलेज फेस्टिवल पायरेक्सिया 2023 का आगाज हो गया।

पांच दिवसीय पायरेक्सिया फेस्टिवल के अंतर्गत विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों, स्टार्स नाइट्स और विभिन्न खेलों का आयोजन किया जाएगा।

Advertisement

इस अवसर पर एमबीबीएस यूजी स्टूडेंट्स ने विभिन्न रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत कर दर्शकों की भरपूर तालियां बटोरीं।
बृहस्पतिवार को एम्स ऑडिटोरियम में मुख्य अतिथि सूबे के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी व विशिष्ट अतिथि ऋषिकेश मेयर अनीता ममगाईं ने पांच दिवसीय पायरेक्सिया फेस्टिवल का दीप प्रज्ज्वलित कर विधिवत शुभारंभ किया।

Advertisement

इस अवसर पर मुख्य अतिथि सीएम धामी ने पायरेक्सिया के आयोजन के लिए एम्स की स्टूडेंट्स एसोसिएशन का बधाई दी और उम्मीद जताई कि पायरेक्सिया के आयोजन से मेडिकल के छात्रों में नई उमंग, उत्साह व ऊर्जा का संचार होगा।

उन्होंने इस दौरान सूबे के मुख्य सेवक के नाते पायरेक्सिया के आयोजन में राज्य के बाहर से शामिल हो रहे प्रतिभागियों का देवभूमि उत्तराखंड में स्वागत किया।
सीएम ने कहा कि वह पायरेक्सिया के आयोजन में अन्य कार्यक्रमों को छोड़ खासतौर से शामिल हुए हैं, क्योंकि वह मेडिकल छात्रों के मध्य आने का अवसर नहीं गंवाना चाहते थे।

Advertisement

मुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई कि यह कार्यक्रम मेडिकल स्टूडेंट्स में मौजूद विभिन्न तरह की प्रतिभा को आगे लाने में मददगार साबित होगा।

सीएम ने कहा कि मेडिकल की पढ़ाई कर रहे छात्र छात्राओं को परमात्मा ने इस क्षेत्र में लोगों स्वास्थ्य देखभाल व उपचार के लिए खासतौर से भेजा है।

Advertisement

लिहाजा उन्हें पढ़ाई के साथ साथ जीवन में आने वाली कठिनाइयों का सामना करने को भी तैयार रहना होगा।

इस दौरान उन्होंने आपात स्थितियों के लिए एम्स की हेली एंबुलेंस सेवा, ट्रॉमा एवं इमरजेंसी सेवाओं को शानदार प्रयास बताया और इसके लिए एम्स प्रशासन की सराहना की।
उन्होंने बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का उत्तराखंड में एम्स संस्थान के रूप विश्वस्तरीय स्वास्थ्य सेवाओं से युक्त अस्पताल स्थापित करने का सपना था, जिससे राज्य के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध हो सकें।

Advertisement

इस दौरान उन्होंने हाल ही में चमोली में हुए हादसे के घायलों के बेहतर उपचार सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए एम्स संस्थान का आभार व्यक्त किया।

इस अवसर पर संस्थान की कार्यकारी निदेशक प्रोफेसर (डॉ.) मीनू सिंह ने कहा कि मेडिकल की पढ़ाई अत्यधिक कठिन और अवसाद पैदा करने वाली होती है,लिहाजा स्टूडेंट्स में क्रिएटिविटी को बढ़ाने व उन्हें तनाव मुक्त रखने के लिए इस तरह के रचनात्मक कार्यक्रम नितांत आवश्यक हैं।

Advertisement

उन्होंने बताया कि पायरेक्सिया फेस्टिवल के अंतर्गत होने वाली तमाम कार्यक्रमों को संस्थान के स्टूडेंट्स ने ही तैयार किया है, जिसके क्रियान्वयन में फैकल्टी सदस्य उनका सहयोग कर रहे हैं।

इस दौरान उन्होंने सभी को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर्व की बधाई भी दी।

Advertisement

संकायाध्यक्ष अकादमिक प्रोफेसर (डॉ.) जया चतुर्वेदी ने पायरेक्सिया के आयोजन को स्टूडेंट्स में रचनात्मकता को बढ़ावा देने वाला बताया और आयोजन में बेहतर प्रदर्शन के लिए उन्हें अग्रिम बधाई दी।

पायरेक्सिया के उद्घाटन कार्यक्रमों की शुरुआत एमबीबीएस यूजी स्टूडेंट्स ने श्रीगणेश वंदना से की।

Advertisement

इस अवसर पर विभिन्न कक्षाओं के विद्यार्थियों ने डांस ड्रामा के माध्यम से मां गंगा के अवतरण की नृत्य नाटिका की शानदार प्रस्तुति से दर्शकों का मन मोह लिया।

कार्यक्रम के तहत पैरामेडिकल व नर्सिंग छात्र छात्राओं ने श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर श्रीकृष्ण लीला का आयोजन किया।

Advertisement

इसके अलावा कई अन्य रंगारंग कार्यक्रम हुए।

एम्स ऋषिकेश स्टूडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन के महासचिव अंकुर शर्मा ने पायरेक्सिया आयोजन की विस्तृत जानकारी दी।

Advertisement

इस दौरान पांच दिवसीय पायरेक्सिया फेस्टिवल के तहत होने वाले तमाम आयोजनों परआधारित पायरेक्सिया ट्रेलर का भी प्रदर्शन किया गया।

एनाटॉमी विभाग की डॉ. रश्मि मल्होत्रा के संचालन में आयोजित कार्यक्रम में चिकित्सा अधीक्षक प्रो. संजीव मित्तल, चीफ प्रवोस्ट प्रो. अमित गुप्ता, डॉ. मोनिका पठानिया, डॉ. मृदुल धर आदि फेकल्टी सदस्य, चिकित्सक, अधिकारी व छात्र-छात्राएं मौजूद रहे।

Advertisement

Related posts

ड्रोन के जरिए इस सीएचसी पहुंचाई गयी टीबी की दवा एम्स की ड्रोन स्वास्थ्य सेवा का दूसरा परीक्षण भी रहा सफल -आपातकाल के लिए जल्द कराई जाएगी पहाड़ के स्वास्थ्य संस्थाओं, दुर्गम इलाकों की ड्रोन मैपिंग।

khabaruttrakhand

प्रधानमंत्री ने पूसा भवन नई दिल्ली से लखपति दीदियों/ ड्रोन दीदियों के साथ किया संवाद।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights