khabaruttrakhand
आकस्मिक समाचारउत्तरकाशीउत्तराखंडदिन की कहानीदुनियाभर की खबरेदेहरादूनप्रभावशाली व्यतियू एस नगरराजनीतिकविशेष कवरस्टोरी

पायलट प्रोजेक्ट:-इस जनपद में किसानों की कमाई बढ़ाने के लिए पायलट प्रोजेक्ट हुआ शुरू।

सुभाष बडोनी उत्तरकाशी।
– उत्तरकाशी जनपद में किसानों की कमाई बढ़ाने के लिए पायलट प्रोजेक्ट हुआ शुरू।

रिपोर्ट:-सुभाष बडोनी उत्तरकाशी।

Advertisement

उत्तरकाशी जिले में काले गेंहॅूं की खेती करने के प्रयास शुरू हो गए हैं।

सामान्य गेहॅूं की तुलना में लगभग तीन गुना अधिक कीमत वाले काले गेहॅूं के जरिए किसानों की कमाई बढाने के लिए जिले में पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया गया है।

Advertisement

जिलाधिकारी अभिषेक रूहेला ने डुण्डा ब्लॉक के गेंवला (बरसाली) गांव जाकर इस नई मुहिम से जुड़ने के लिए किसानों को प्रेरित किया और काले गेंहॅूं के बीज वितरित किए।

जिले में लाल धान के रकबे को गंगा घाटी तक विस्तारित करने की कामयाब पहल से प्रभावित किसानों ने इस नई मुहिम को लेकर काफी उत्साह दिखाया है।

Advertisement

काले गेहॅूं की इस मुहिम के बीज आगामी नवंबर महीने में खेतों में बोए जाएंगे।
काला गेंहॅूं की खेती का चलन हाल के कुछ सालों से ही देश के कुछ चुनिंदा हिस्सों में शुरू हुआ है।

नेशनल एग्रीफूड बॉयोटेक्नालॉजी इंस्टीट्यूट (नाबी) मोहाली को देश में काले गेंहॅूं को विकसित करने का श्रेय जाता है।

Advertisement

नॉन जीएम फसल के तौर पर विकसित काले गेहॅूं में एन्थ्रोसाईनिन नामक एंटीऑक्सीडेंट तत्व काफी अधिक मात्रा में पाया जाता है।

इसके साथ ही इसमें महत्वपूर्ण पोषक तत्वों के साथ ही फाईबर की प्रचुरता होने और काबेहाईड्रेट व ग्लूटेन की संतुलित मात्रा के चलते काले गेंहॅूं को आम गेंहॅूं की तुलना में स्वास्थ्य के लिए काफी गुणकारी माना जाता है।

Advertisement

सामान्य गेेंहॅूं से तिगुनी से भी अधिक कीमत में बिकने वाले वाले कालें गेंहूं की बाजार में मांग दिनों-दिन बढती जा रही है।

काले गेंहूं से किसानों की आजीविका के अवसरों में वृद्धि की संभावना को देखते हुए जिले में कृषि विभाग के माध्यम से काले गेंहॅूं की खेती शुरू करने की मुहिम चलाने का निश्चय किया गया है।

Advertisement

जिले के चिन्यालीसौड़ ब्लॉक के कामदा गांव के प्रगतिशील किसान जय सिंह बिष्ट काले गेहॅूं उगाने का सफल प्रयोग कर चुके हैं।

इस सफलता से जिले में काले गेंहॅूं की खेती की बेहतर संभावना दिखी तो प्रशासन ने इसे बढावा देने के लिए जिले के डुण्डा व नौगांव ब्लॉक के कुछ गांवों में पायलट प्रोजेक्ट शुरू करने की कवायद शुरू कर दी है।
इस मुहिम के तहत जिलाधिकारी अभिषेक रूहेला ने मुख्य कृषि अधिकारी जे.पी. तिवारी के साथ गेंवला गांव जाकर किसानों एवं महिला समूहों से इस संभावनाशील खेती को प्रयोग के तौर पर अपनाने का आग्रह किया।

Advertisement

लाल धान की खेती की पिछली पहल की कामयाबी से उत्साहित किसानों ने प्रशासन एवं कृषि विभाग की इस नई पहल को हाथों-हाथ लिया।

जिलाधिकारी ने ग्रामीणों को काले गेंहॅूं के बीज वितरित करते हुए कहा कि पारंपरिक खेती के साथ ही प्रयोग के तौर पर कुछ जमीन पर काले गेंहॅूं की खेती कर ग्रामीणों को अपनी आजीविका में वृद्धि की संभावनाओं के विकल्पों को भी आजमाना चाहिए।

Advertisement

इसके लिए कृषि विभाग किसानों को पूरा सहयोग करेगा और उत्पादित गेहॅूं की खरीद की जिम्मेदारी भी लेगा।

यह प्रयोग सफल रहने पर अगले दौर में इसे ज्यादा विस्तार देने पर विचार किया जाएगा।

Advertisement

जिलाधिकारी ने किसानों को जैविक एवं पारंपरिक अन्न की खेती के गुणकारी पहलुओं की जानकारी देते हुए इसे लाभकारी बनाए जाने के उपायों पर भी ग्रामीणों से चर्चा करतेे हुए कहा कि हमें खेती के तौर-तरीकों में अनुकूल बदलाव के लिए हमेशा तैयार रहें।
इस मौके पर मुख्य कृषि अधिकारी जेपी तिवारी ने किसानों को काले गेंहूं की खेती एवं इससे जुड़ी संभावनाओं के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि फसल प्रणाली में बदलाव लाकर किसानों की आमदनी को बढाने के लिए इस तरह के अभिनव प्रयासों को कामयाब बनाने में किसानों की महत्वपूर्ण भूमिका है। लिहाजा विभाग उन्हें पूरा प्रोत्साहन देगा, उन्होंने कहा कि पिछले दौर में लाल धान की खेती के प्रयास को किसानों से मिली सराहना के बाद अब किसानों ने काले गेहॅूं की खेती में भी हाथ आजमाने को लेकर काफी उत्साह दिखाया है।

गेंवला गांव में कालें गेहॅूं की खेती के लिए के प्रयोग में 15 किसानों का सहयोग लिया जा रहा है।

Advertisement

इसके साथ ही नौगांव ब्लॉक में भी किसानों को इस मुहिम से जोड़ा जा रहा है।
ग्राम प्रधान बृजपाल सिंह रजवार सहित गेंवला के ग्रामीणें व महिला समूहों की सदस्यों ने उम्मीद जताई कि यह नई पहल किसानों के लिए बेहतर साबित हो सकती है, और भरोसा जताया कि वे इस मुहिम को कामयाब बनाकर अन्य किसानों के लिए उदाहरण प्रस्तुत करेंगे।

Advertisement

Related posts

Uttarakhand GIS: Uttarakhand ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का PM Modi करेंगे शुभारंभ, कई देशों के राजदूत और प्रमुख उद्योगपति होंगे शामिल

khabaruttrakhand

Kainchi Dham तीर्थयात्रियों के लिए यातायात की भीड़ को कम करने के लिए bypass निर्माण के लिए ₹12.14 करोड़ स्वीकृत

khabaruttrakhand

ब्रेकिंग:पुलिस जवान ने पेश की ईमानदारी एवं कर्तव्यपरायणता की एक और मिशाल, यात्रियों के खोये पर्स व नगदी लौटायी।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights