khabaruttrakhand
उत्तराखंड

Uttarakhand: Uttarkashi में Silkyara के पास एक और सुरंग से ‘खतरों’ का रिसाव, ग्रामीणों की बढ़ रही चिंता

Uttarakhand: Uttarkashi में Silkyara के पास एक और सुरंग से 'खतरों' का रिसाव, ग्रामीणों की बढ़ रही चिंता

Silkyara टनल हादसे के साथ ही, Uttarkashi जिले के एक अन्य टनल में पानी की लीकेज गाँववालों के लिए कठिनाई का कारण बन गई है। इस टनल से इतना पानी बह रहा था कि खेतों और सिंचाई नहरों में क्षति हो गई थी।

गाँववाले भय की छाया में जी रहे हैं। वहीं, Uttarakhand Jal Vidyut Nigam Limited (UGVNL) कहता है कि टनल की सुधार कार्य लगातार जारी है। वास्तव में, Maneri Bhali-2 परियोजना में 16 किलोमीटर लंबा टनल है। इस टनल से पानी बहता है, जिसके बाद Dharasu में बिजली उत्पन्न होती है। Dharasu के पास स्थित Mahargaon के इस टनल से पानी की लीकेज दो साल पहले शुरू हुई थी और धीरे-धीरे बढ़ रही है।

Advertisement

पहले ही करोड़ों रुपए खर्च हो चुके हैं

इसके उपचार में UGVNL ने पहले ही करोड़ों रुपए खर्च किए हैं, लेकिन लीकेज नियंत्रण में नहीं आ रही है। Mahargaon के हेड सुरेंद्रपाल कहते हैं कि यहां पानी की लीकेज पिछले दो वर्षों से तेजी से बढ़ रही है। गाँववालों के लगभग 10 ड्रेन लैंड्स और सिंचाई नहर क्षतिग्रस्त हो गए हैं। कई स्थानों पर भूमि की धराई हो रही है। टनल के इस परियोजना के भविष्य के हानि से गाँववाले और भी अधितर्क हो रहे हैं।

बताया जा रहा है कि इस लीकेज का कारण टनल के ऊपरी हिस्से से हो रहा है, Mahargaon से एक-दो किलोमीटर दूर। गाँववाले इस परियोजना के इस टनल से आने वाले भविष्य के हानियों से और भी अधितर्क हो रहे हैं और उन्होंने इस टनल को तत्काल इलाज करने की मांग की है, ताकि उन्हें नुकसान से मुक्ति मिल सके।

Advertisement

कभी-कभी टनल से लीकेज हो सकती है। Maneri Bhali टनल से हो रही लीकेज का नियमित इलाज किया जा रहा है। जिन गाँववालों को नुकसान हुआ है, उन्हें मुआवजा भी दिया गया है। हमारे विशेषज्ञ इसके इलाज में लगे हैं। जल्दी ही कुछ परिणाम होंगे।

Advertisement

Related posts

ब्रेकिंग:-दिव्यांग कल्याण समिति के संस्थापक स्व राजेंद्र नेगी “अंकल “की याद में लगाया गया कैम्प, ग्राम वासियों ने जताया आभार।

khabaruttrakhand

मुख्यमंत्री Dhami Uttarakhand में 1,376 पदों पर चयन की घोषणा के बाद से चार महीने का इंतजार खत्म करते हुए नर्सिंग अधिकारियों को नियुक्ति पत्र जारी करेंगे

khabaruttrakhand

ब्रेकिंग:- टिहरी जनपद क्षेत्रान्तर्गत चारधाम यात्रा मार्गों, राष्ट्रीय राजमार्ग-94 चम्बा-उत्तरकाशी के स्थान-स्यांसू (किमी 110) में भूस्खलन, राष्ट्रीय राजमार्ग-94 चम्बा-उत्तरकाशी के स्थान-चम्बा धनौला पैट्रोल पम्प (किमी 60) में भूकम्प तथा राष्ट्रीय राजमार्ग-58 ऋषिकेश-कीर्तिनगर के स्थान-मूल्यगांव के समीप (किमी 304) में एक मिनी बस के अनियंत्रित होकर पलटने की घटना में ऐसे हुआ राहत बचाव, जाने पूरा मामला।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights