khabaruttrakhand
उत्तराखंड

Global Investors Summit: Delhi पहुंचे CM Dhami, वैश्विक निवेशक सम्मेलन के लिए PM Modi को आज देंगे न्योता

Global Investors Summit: Delhi पहुंचे CM Dhami, वैश्विक निवेशक सम्मेलन के लिए PM Modi को आज देंगे न्योता

Dehradun: मुख्यमंत्री Pushkar Singh Dhami ने शुक्रवार को दो दिन के दौरे पर Delhi पहुंचे। उन्हें शनिवार को प्रधानमंत्री Narendra Modi से मिलेगा। माना जा रहा है कि इस समय के दौरान मुख्यमंत्री द्वारा प्रधानमंत्री Modi को 8 और 9 December को Dehradun में होने वाले वैश्विक निवेशकों कॉन्फ्रेंस में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया जाएगा। वहीं, मीडिया से बातचीत के दौरान मुख्यमंत्री Dhami ने कहा कि Silkiara टनल हादसे में 41 कामगारों को सुरक्षित बाहर निकालना एक बड़ी उपलब्धि है, और यह कार्य प्रधानमंत्री Narendra Modi के मार्गदर्शन में ही संभव हुआ है।

इस समय की महत्वपूर्ण मुद्रा रूप में देखी जा रही है, Uttarakhand सरकार की निर्धारित लक्ष्य है कि 2025 तक Uttarakhand को सशक्त बनाया जाए। मुख्यमंत्री Dhami खुद इसकी तैयारी में व्यस्त हैं। Silkiara टनल में 41 कामगारों के फंस जाने के कारण निवेशक सम्मेलन की तैयारी की गति पर कुछ प्रभाव दिखा गया।

Advertisement

8 December को वैश्विक निवेशकों कॉन्फ्रेंस के उद्घाटन में प्रधानमंत्री Narendra Modi मौजूद हो सकते हैं। मुख्यमंत्री Dhami शुक्रवार को New Delhi पहुंचे हैं। बताया जा रहा है कि उन्होंने यहाँ पहुंचने का कारण यह है कि Modi ji के साथ वार्ता का समय शनिवार को निर्धारित था।

शुक्रवार को New Delhi में मीडिया के साथ आम बातचीत में मुख्यमंत्री Dhami ने कहा कि Silkiara टनल हादसे में 41 कामगारों को सुरक्षित बाहर निकालना एक बड़ी उपलब्धि है, और यह कार्य प्रधानमंत्री Narendra Modi के मार्गदर्शन में ही संभव हुआ है।

Advertisement

केंद्र सरकार द्वारा भेजे गए विशेषज्ञ एजेंसियों की धन्यवाद, हमने कामगारों को सुरक्षित बाहर निकालने में सफलता प्राप्त की। पूरे देश ने 17 दिनों तक इन जीवनों के लिए प्रार्थना की थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर प्रधानमंत्री ने सही मात्रा में साधन और मानव सहायता प्रदान नहीं की होती तो यह प्रचारण सफल नहीं होता।

उन्होंने कहा कि 12 November को Diwali के सुबह जब हादसा हुआ, तब प्रधानमंत्री Modi ने शाम में उन्हें कॉल किया और घटना के बारे में पूरी जानकारी ली। हमारी प्राथमिकता किसी भी कीमत पर टनल में फंसे सभी कामगारों को सुरक्षित रूप से बाहर निकालना था। प्रधानमंत्री ने उन्हें संघर्ष करने की आश्वासन दिया। संगीत की कमी और मिशन पूरा करने के लिए साधन और विशेषज्ञों की कमी नहीं होगी।

Advertisement

प्रधानमंत्री ने शुरुआत से अंत तक मार्गदर्शन किया और पल-पल की जानकारी लेते रहे। उन्होंने उन कामगारों से भी टनल से बाहर निकाले गए थे, उनसे फोन पर बातचीत की और उनके स्वास्थ्य और भलाइ की जानकारी पूछी। उन्होंने कामगारों और उनके रिश्तेदारों को घर छोड़ने की व्यवस्था करने के लिए भी निर्देश दिए।

प्रधानमंत्री ने प्रारंभ से लेकर मार्गदर्शन किया और हर क्षण सूचना लेते रहे। उन्होंने टनल से बाहर निकाले गए कामगारों से फ़ोन पर बातचीत की और उनके स्वास्थ्य और भलाइ की जानकारी ली। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि कामगारों और उनके सगे-संबंधियों को घर छोड़ने के लिए व्यवस्थाएँ की जाएं।

Advertisement

मुख्यमंत्री Dhami ने कहा कि केंद्र में Modi के नेतृत्व में सरकार आने के बाद एक बड़ा परिवर्तन हुआ कि जहां भी देश और दुनिया में संकट आया, वहां भारतीय सरकार ने अपने नागरिकों को सुरक्षित घर लाने के लिए कोई कड़ी नहीं छोड़ी। Modi सरकार ने कभी भी विदेश में फंसे हुए लोगों को असहाय नहीं छोड़ा। यह पहले की सरकारों में नहीं हुआ। टनल में फंसे हुए कामगारों और उनके संबंधियों को यह मान्यता थी कि प्रधानमंत्री सभी संसाधन प्रदान करेंगे और कामगारों को सुरक्षित बाहर निकालेंगे।

देश जानता है कि वह वह पहले प्रधानमंत्री हैं जिन्होंने शब्दों के साथ ही कर्मों में श्रमिकों के प्रति उच्च स्तर का आदर दिखाया है। उन्होंने Kashi में श्रमिकों के पैर धोए हैं। नए संसद के उद्घाटन में श्रमिकों के साथ भागीदारी की और उनसे संवाद किया।

Advertisement

यह प्रधानमंत्री की नीति का परिणाम है कि भारत ने संकट के समय न केवल अपने नागरिकों की जानें बचाईं, बल्कि पानी, भूमि और आकाश में सफल ऑपरेशन चला कर कई विदेशी नागरिकों की जानें भी बचाईं और दुनिया को मानवता और अद्भुत teamwork के कई उदाहरण प्रस्तुत किए।

Advertisement

Related posts

जिलाधिकारी ने किया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पिलखी, तहसील कार्यालय घनसाली, थाना घनसाली एवं ब्लॉक कार्यालय भिलंगना का निरीक्षण।

khabaruttrakhand

BreakingNews:-पीएम किसान योजना की अगली किश्त जाने कब मिल सकती है, क्या कुछ करना होगा।

khabaruttrakhand

प्लास्टिक अपशिष्ट निस्तारण के कार्य विभागीय हीला-हवाली के कारण प्रभावित होने पर जिलाधिकारी ने इन अधिकारियों का अग्रिम आदेशों तक वेतन रोकने के दिए निर्देश।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights