khabaruttrakhand
आकस्मिक समाचारउत्तराखंडटिहरी गढ़वालदिन की कहानीराजनीतिकविशेष कवरस्टोरी

कांग्रेस पार्टी एवं भारतीय राष्ट्रीय विकासात्मक समावेशी संगठन इंडिया से जुड़े दालों के द्वारा जिलाधिकारी टिहरी के माध्यम से महामहिम राष्ट्रपति को प्रेषित किया गया ज्ञापन ,जाने मामला।

*केंद्र सरकार लोकतंत्र की हत्या कर रही है, राकेश राणा ने लगाया आरोप।

लोकसभा एवं राज्यसभा में संसद की सुरक्षा में हुई चूक के मसले पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बयान की मांग कर रहे विपक्षी दलों के 143 सांसदों की अलोकतांत्रिक तरीके से की गई निलम्बन की कार्रवाई का हम विरोध करते हुए इस कार्रवाई की कड़े शब्दों में निन्दा करते है।

Advertisement

आज जिला मुख्यालय नई टिहरी में जिला कांग्रेस कमेटी टिहरी गढ़वाल के अध्यक्ष राकेश राणा के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी एवं भारतीय राष्ट्रीय विकासात्मक समावेशी संगठन इंडिया से जुड़े दालों के द्वारा जिलाधिकारी टिहरी के माध्यम से महामहिम राष्ट्रपति को ज्ञापन प्रेषित किया गया ।

Advertisement

जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राकेश राणा ने कहा कि लोकसभा अध्यक्ष एवं राज्य सभा उपसभापति द्वारा लोकतंत्र के सभी मानकों एवं मापदण्डों पर कुठाराघात करते हुए अलोकतांत्रिकता का घिनौना चेहरा सबके सामने लाते हुए कांग्रेस पार्टी सहित सभी विपक्षी दलों के 143 सांसद, जो देश की जनता के हितों की रक्षा के लिए, उन्हें जनता ने जो कर्तव्य निर्वहन की जिम्मेदारी दी है, उसके अनुसार सरकार से स्पष्टीकरण की मांग कर रहे थे, को संसद से निलम्बित कर दिया गया।

यह भाजपा के फासीवादी एवं तानाशाही चरित्र का द्योतक ही नहीं अपितु स्वस्थ लोकतंत्र के भविष्य के लिए उचित नहीं है, जिसे लोकतंत्र में विश्वास रखने वाला कोई भी दल सहन नहीं करेगा।

Advertisement

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के जिला संयोजक भगवान सिंह राणा, ने कहा कि हमारा सदैव लोकतंत्र एवं लोकशाही में गहरा विश्वास रहा है और आज देश में लोकतंत्र के जितने भी स्तम्भ हैं, उनकी स्थापना में महात्मा गांधी से लेकर आज तक कांग्रेस पार्टी का एक लम्बा इतिहास रहा है।

चुने हुए जनप्रतिनिधियों को उनके कर्तव्यों से विमुक्त करना लोकतंत्र के प्रति अपराध है।

Advertisement

असहमति के स्वरों को सुनना एवं स्वीकार करना स्वस्थ लोकतंत्र की पहचान है तथा भारतीय संसद लोकतंत्र के मूल्यों की रक्षा का सर्वोच्च मंच हैं।

प्रदेश कांग्रेस के महासचिव विजय गुनसोला और टिहरी विधानसभा में पूर्व प्रत्याशी रहे नरेंद्र चंद रमोला ने कहा कि संसद एवं देश की सुरक्षा के लिए आवाज उठाने पर लोकसभा अध्यक्ष एवं राज्यसभा के उपसभापति द्वारा की गई यह कार्रवाई लोकतंत्र के लिए अच्छा संदेश नहीं है।

Advertisement

चुने हुए सांसदों को संसद से बाहर करने की यह घटना लोकतंत्र के इतिहास में काले अक्षरों में अंकित की जायेगी।

स्वस्थ लोकतांत्रिक परम्परा में असहमति को भी सुनना पड़ता है तथा देश और जनता से जुडे हुए मुद्दों पर अगर लोकतंत्र के सर्वोच्च मन्दिर में चर्चा नहीं की जायेगी तो वे बतायें कि वे किस सदन में चर्चा करना चाहते हैं।

Advertisement

प्रदेश कांग्रेस के सचिव सैयद मुसरफ़ अली एवं महिला कांग्रेस की जिलाध्यक्ष आशा रावत ने कहा कि सत्ता प्राप्ति के लिए जनता की संवेदनाओं का शोषण करने का भारतीय जनता पार्टी का लम्बा इतिहास रहा है।

उन्होंने  आरोप लगाया कि इस प्रकार का गिरगिटी चरित्र भारतीय जनता पार्टी की पहचान है और वे जब सत्ता में होते हैं तो उनके स्वयं के लिए अलग नैतिक मूल्य एवं कानून होते हैं।

Advertisement

इसका प्रत्यक्ष उदाहरण संसद प्रकरण में विजिटिंग पास जारी करने वाले भारतीय जनता पार्टी के सांसद हैं जिन पर संसद कांड के सम्बन्ध मे अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

कांग्रेस के पूर्व जिला अध्यक्ष सूरज राणा और पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष विक्रम सिंह पवार ओबीसी प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष इंद्रदेव डोभाल ने कहा कि लोकसभा एवं राज्यसभा में गतिरोध बढाने के लिए भाजपा ने मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस सहित सभी विपक्षी दलों के सांसदों के साथ जिस प्रकार की कार्रवाई की है वह भाजपा के तानाशाही रवैये को उजागर करती है।

Advertisement

लोकसभा अध्यक्ष एवं राज्यसभा उपसभापति द्वारा की गई इस कार्रवाई का विश्व के लोकतांत्रिक देशों में अच्छा संदेश नहीं गया है तथा देश के बुद्धिजीवी वर्ग ने भी लोकसभा अध्यक्ष एवं राज्यसभा के उपसभापति के इस अलोकतांत्रिक कदम की सराहना नहीं की है।

भारतीय जनता पार्टी विषेशकर गृहमंत्री अमित शाह को कांग्रेस पार्टी एवं विपक्षी दल के निलम्बित सांसदों से माफी मांगनी चाहिए तथा सरकार को सुरक्षा में हुई चूक पर जिम्मेदारी लेते हुए सभी सांसदों का निलम्बन वापस लिया जाना चाहिए।

Advertisement

शहर कांग्रेस के अध्यक्ष कुलदीप सिंह पवार और पीसीसी सदस्य देवेंद्र नौटियाल हुआ साहब सिंह सजवान ने कहा कि राजनैतिक प्रतिशोध और द्वेष की भावना से प्रेरित होकर विपक्षी दल के सांसदों के खिलाफ की गई निलम्बन की कार्रवाई की कडे शब्दो में निन्दा करती है तथा आपसे आग्रह करती है कि देश के संवैधानिक संरक्षक होने के नाते इस मामले में हस्तक्षेप करते हुए विपक्षी दल के सांसदो का निलम्बन शीघ्र वापस लिए जाने हेतु उचित दिशा-निर्देश जारी करने की कृपा करेंगे।

उपरोक्त कार्यक्रम में जिला कांग्रेस कमेटी टिहरी गढ़वाल के अध्यक्ष राकेश राणा, भारतीय माकर्षवादी कम्युनिस्ट पार्टी के जिला संयोजक भगवान सिंह राणा ,महिला कांग्रेस की जिला अध्यक्ष श्रीमती आशा रावत श्रीमती अनीता रावत श्रीमती अनीता शाह प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री विजय गुनसोला प्रदेश सचिव सैयद मुसरफ़ अली पूर्व जिला अध्यक्ष सूरज राणा वरिष्ठ नेता नरेंद्र रमौला ओबीसी प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष इंद्रदेव डोभाल पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष विक्रम सिंह पवार, शहर अध्यक्ष कुलदीप सिंह पवार पीसीसी सदस्य देवेंद्र नौटियाल ब्लॉक अध्यक्ष साहब सिंह सजवान, मूर्त्जा बैग, वरिष्ठ नेता विजेंद्र सिंह नेगी हरि सिंह मखलोगा, गिरवीर सिंह नेगी विजेंद्र सिंह नेगी वीरेंद्र सिंह नेगी सफर सिंह नेगी ,युवा कांग्रेस के जिलाध्यक्ष संदीप कुमार ,,विधानसभा अध्यक्ष नवीन सेमवाल पूर्व जिला अध्यक्ष कपिल जोशी, प्रधान प्रतिनिधि मुखमाल गांव जगदीश लाल वरिष्ठ नेता सलीम खान, नफीस खान जुनैद खान, कुमारी सलोनी आदि कांग्रेसी उपस्थित थे।

Advertisement

Related posts

ब्रेकिंग:-लाखोरी फॉर्मर प्रोडयूसर कम्पनी ने तल्ला सल्ट हरडा मौलेखी में किया शुभारंभ

khabaruttrakhand

ब्रेकिंग:-भारतीय बाल्मीकि धर्म समाज के मनोज बने उत्तराखंड प्रदेश अध्यक्ष। सभी को एक सूत्र में पिरोकर कार्य किया जायेगा। मनोज कुमार।

khabaruttrakhand

Chamoli में Heavy snowfall, तापमान शून्य से 10 Degrees Celsius नीचे चला गया, Niti और Malari घाटियों में झरने और झरने जम गए

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights