khabaruttrakhand
उत्तराखंड

Haldwani violence: नैनीताल की DM ने कहा, प्लानिंग के साथ की गई है हल्द्वानी हिंसा और पुलिसवालों को जलाने की कोशिश

Haldwani violence: नैनीताल की DM ने कहा, प्लानिंग के साथ की गई है हल्द्वानी हिंसा और पुलिसवालों को जलाने की कोशिश

Haldwani : Uttarakhand के हल्द्वानी के चर्चित बनभूलपुरा में सरकारी भूमि पर बने अवैध मदरसा व नमाज स्थल को ध्वस्त करने गई पुलिस, प्रशासन व नगर निगम की टीम पर हमले, पथराव और आगजनी को लेकर शुक्रवार को नैनीताल की DM Vandana Singh ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस की।

Vandana Singh ने बताया, “High Court के आदेश के बाद हल्द्वानी में जगह-जगह अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई की गई। सभी को नोटिस और सुनवाई के अवसर दिए गए, कुछ ने High Court का दरवाजा खटखटाया, कुछ को समय दिया गया, जबकि कुछ को समय नहीं दिया गया। जहां समय नहीं दिया गया वहां PWD और नगर निगम की ओर से डिमोलिशन अभियान चलाया गया।

Advertisement

यह कोई पृथक गतिविधि नहीं थी और किसी विशेष परिसंपत्ति को टारगेट करके की गई गतिविधि नहीं थी।” DM Vandana Singh ने कहा, “आप वीडियो में देख सकते हैं कि पुलिस बल किसी को उकसा और मार नहीं रहा है या किसी को नुकसान नहीं पहुंचा रहा है।”

भीड़ ने नगर निगम टीम पर क‍िया पहला हमला

DM ने बताया, “हमने डिमोलिशन अभियान जारी रखने का फैसला किया, क्योंकि परिसंपत्तियों पर कोई रोक नहीं थी, किसी व्यक्ति का अधिकार नहीं था… विभिन्न स्थानों पर अतिक्रमण हटाने की कानूनी प्रक्रिया चल रही है और इसलिए यहां भी ऐसा किया गया। हमारी टीमें और संसाधन मूव हुई और किसो को उकसाया या नुकसान नहीं पहुंचाया गया, जिससे जनसंपत्ति की हानि हमारी टीमों (पुलिस और प्रशासन) के माध्यम से हो। अभियान शांतिपूर्ण ढंग से शुरू हुआ… पूरी प्रक्रिया ठीक से होने के बावजूद आधे घंटे के भीतर एक बड़ी भीड़ ने हमारी नगर निगम टीम पर पहला हमला किया।”

Advertisement

पहले से बनाई गई थी हमले की योजना

उन्‍होंने कहा, “ये योजना बनाई गई थी कि जिस दिन डिमोलिशन अभियान चलाया जाएगा उस दिन बलों पर हमला किया जाएगा… हमने पत्थरों वाली पहली भीड़ को तितर-बितर कर दिया गया और दूसरी भीड़ जो आई उसके पास पेट्रोल से भरे बोतल थे उसमें उन्होंने आग लाग के फेंकी।..तब तक हमारी टीम ने कोई बल प्रयोग नहीं किया था।

पुल‍िसवालों को जलाने की कोशि‍श

उन्‍होंने कहा, “…भीड़ ने थाने को घेर लिया और थाने के अंदर मौजूद लोगों को बाहर नहीं आने दिया गया। उन पर पहले पथराव किया गया और फिर पेट्रोल बम से हमला किया गया। थाने के बाहर वाहनों में आग लगा दी गई और धुएं के कारण दम घुटने लगा…पुलिस थाने की सुरक्षा के लिए ही आंसू गैस और पानी की बौछारों का इस्तेमाल किया…”

Advertisement

Related posts

Uttarakhand के 1500 श्रद्धालुओं को विशेष ट्रेन से Ayodhya पहुंचाएगी विश्व हिंदू परिषद, Ramlala के दर्शन के लिए सबसे पहले करेंगे

khabaruttrakhand

Uttarakhand Cabinet: प्रदेश में हो सकेगी Virtual Registry , केंद्र ने इन कार्यों के लिए दी Aadhaar link की अनुमति

khabaruttrakhand

Uttarakhand Cabinet: मंत्रिमंडल की बैठक आज, UCC पर होगी चर्चा, विधेयक लाने की मिल सकती है मंजूरी

cradmin

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights