khabaruttrakhand
आकस्मिक समाचारउत्तराखंडदिन की कहानीनैनीतालविशेष कवर

ब्रेकिंग:-डॉ० संदीप पाण्डे को मिला दक्षिण कोरिया के कोनकक (KONKUK) विश्वविद्यालय में महत्वपूर्ण पोस्टडॉक्टोरल पद

कुमाऊँ विश्वविद्यालय के डॉ० संदीप पाण्डे को मिला दक्षिण कोरिया के कोनकक (KONKUK) विश्वविद्यालय में महत्वपूर्ण पोस्टडॉक्टोरल पद

रिपोर्ट । ललित जोशी

Advertisement

नैनीताल।सरोवर नगरी नैनीताल के मालड़न कॉटेज निवासी डॉ संदीप पांडे जो अपनी मेहनत से दक्षिण कोरिया के कोनकक विश्वविधालय में अपना योगदान देने के लिए जायँगे।
कुमाऊँ विश्वविद्यालय से लेकर क्षेत्र वासियों में भी खुशी की लहर है।
यहाँ बता दें प्रो० राजेन्द्र सिंह नैनोसाइस व नैनोसाइस रसायन विज्ञान विभाग के पूर्व शोध छात्र डॉ० संदीप पाण्डे को दक्षिण कोरिया के प्रमुख फोनक विश्वविद्यालय में पोस्टडॉक्टोरल रिसर्चर पद प्राप्त हुआ है।
डॉ० संदीप पाण्डे भारतीय शहीद सैनिक विद्यालय के पूर्व छात्र रह चुके है।
सैनिक विद्यालय से इंटरमीडिएट की परीक्षा ससम्मान उत्तीर्ण करने के उपरान्त डॉ० संदीप पाण्डे ने स्नातक व परास्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद डी०एस०टी० इन्सपायर फैलोशिप हासिल कर प्रो० नन्द गोपाल साहू के निर्देशन में पी०एच०डी० मे प्रवेश लिया।
डॉ० संदीप पाण्डे ने बताया की माता-पिता के अकाल स्वर्गवास हो जाने के बाद प्रो० नन्द गोपाल साहू ने उनको मार्गदर्शन किया एवं शोध के लिए डॉ० संदीप की लगन को देखते हुए प्रो० साहू ने अपना संपूर्ण मार्गदर्शन दिया। प्रो० साहू व डॉ संदीप की टीम ने मिलकर उत्तराखण्ड व भारत से प्रथम व्यर्थ प्लास्टिक से गाफिन निर्माण’ विधि को प्रमाणित कर पेटेंट हासिल किया।
उनकी टीम द्वारा (03) भारतीय, (04) अंतराष्ट्रीय पेटेंट हासिल किये जा चुके है साथ ही अन्य (09) पेटेंट (ग्राफिन आधारित) भी प्रकाशित किये जा चुके है।

इसके अलावा डॉ० संदीप (20) से अधिक अंतराष्ट्रीय शोध पत्र (07) बुक चैप्टर्स 22) राष्ट्रीय व अंतराष्ट्रीय संगोष्ठी शोधपत्र व 7 से अधिक Young Scientist Awards, Innovator Of The Year Award भी प्राप्त कर चुके है।
डॉ० संदीप ने बताया कि ग्राफीन की उपयोगिता व ग्राफीन निमार्ण विधि में दक्षता होने के चलते उन्हे संयुक्त राष्ट्र अमेरिका की एक प्रतिष्ठित कंपनी व United Kingdom. London की स्वानसी विश्वविद्यालय की Start Up Company भी फोसमेंट मिला था। परन्तु शोध कार्य को जारी रखने हेतु उन्होने दक्षिण कोरिया का निर्णय लिया।

Advertisement

अपनी इस सफलता का श्रेय उन्होंने अपने स्व माता पिता (श्रीमती दीपा पाण्डे व श्री गिरिश चन्द्र पाण्डे ) प्रा० नन्द गोपाल साहू व श्रीमती कोहली साह, अपनी धर्मपत्नी श्रीमती लता पाण्डे व पुत्री सुश्री संपूर्णा पाण्डे, डॉ० सर्वेन्द्र राणा, डॉ० राजीव कुमार सिंह, अपने बड़े भाई इंजीनियर गौरव पाण्डे व अपने समस्त मित्रगणो को दिया है।
उनकी इस सफलता पर कुमाऊँ विश्वविद्यालय के कलपति प्रो० एन० के० जोशी, कुलसचिव दिनेश चन्द्रा रसायन विज्ञान विभागाध्यक्ष व विज्ञान संकाय अध्यक्ष प्रो० ए० बी० मेलकानी शोध डायरेक्टर प्रो० ललित तिवारी व प्रो० नन्द गोपाल साहू, श्रीमती कोहली साहू एवं उनके समस्त गुरूजनो ने हर्ष व्यक्त किया।डॉ संदीप पांडे के उज्जवल भविष्य की कामना भी की है।

Advertisement

Related posts

ब्रेकिंग:- यहां लगी थी सोसाइटी में आग, तीन दर्जन लोग थे फंसे हुए। पढ़ें पूरी खबर।

khabaruttrakhand

अप्राकृतिक रूप से वनाग्नि की घटनाओं को अंजाम देने वालों के खिलाफ मुकदमें दर्ज करने के निर्देश।

khabaruttrakhand

राज्य स्थापना दिवस में घनसाली में होगा इस प्रतियोगिता का आयोजन।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights