khabaruttrakhand
अल्मोड़ाउत्तरकाशीउत्तराखंडखेलचमोलीचम्पावतटिहरी गढ़वालदिन की कहानीदेहरादूननैनीतालपौड़ी गढ़वालीबागेश्वरराजनीतिकराष्ट्रीयरुद्रप्रयागविशेष कवरस्टोरीस्वास्थ्यहरिद्वार

ब्रेकिंग:-एम्स ऋषिकेश में शुरू होगा इंटिग्रेटेड मेडिसिन विभाग 13 जुलाई को केन्द्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री करेंगी उद्घाटन।

एम्स ऋषिकेश में शुरू होगा इंटिग्रेटेड मेडिसिन विभाग
13 जुलाई को केन्द्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री करेंगी उद्घाटन।

इलाज हेतु एम्स ऋषिकेश आने वाले रोगियों को अब आधुनिक चिकित्सा पद्धति के साथ पारंपरिक चिकित्सा पद्धति का भी लाभ मिलेगा। इसके लिए एम्स के आयुष विभाग में इंटीग्रेटिव मेडिसिन विभाग की स्थापना की गयी है।
इसमें पंचकर्मा की सुविधाएं भी शामिल हैं। एक सप्ताह बाद 13 जुलाई को एम्स के आयुष भवन में इसका उद्घाटन प्रस्तावित है।

Advertisement

हमारी आबादी का एक तबका जीवन शैली से जुड़ी कुछ ऐसी बीमारियों से ग्रसित है जिनका पूर्ण उपचार किसी एक चिकित्सा पद्धति से संभव नहीं है।
इस प्रकार की बीमारियों में अलग-अलग चिकित्सा पद्धतियों के सहयोग की जरूरत महसूस होती है।
एम्स ऋषिकेश में अब इस प्रकार की गंभीर बीमारियों से ग्रसित मरीजों का इलाज एक ही स्थान पर हो सकेगा।

केन्द्र सरकार की पहल पर इसे ध्यान में रखते हुए संस्थान में इंटीग्रेटिव (एकीकृत) मेडिसिन विभाग की एक अलग डिवीजन बनाई जा रही है।

Advertisement

उल्लेखनीय है कि एम्स में आयुष विभाग की सेवाएं पूर्व में भी संचालित की जा रही थीं, लेकिन वर्ष 2019 में कोविड काल के दौरान इसे बंद करना पड़ा था।
इस बाबत एम्स की कार्यकारी निदेशक प्रोफेसर (डॉक्टर) मीनू सिंह ने बताया कि मरीजों को अधिकाधिक स्वास्थ्य लाभ देने के उद्देश्य से संस्थान के आयुष भवन में इंटीग्रेटिव मेडिसिन केन्द्र खोला जायेगा जहां अलग-अलग चिकित्सा पद्धतियों को मिलाकर मरीजों का उपचार किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि एलोपैथिक चिकित्सा पद्धति के साथ-साथ कई बीमारियों में आयुर्वेदिक और पारंपरिक चिकित्सा पद्धति भी लाभकारी सिद्ध हुई है।

Advertisement

ऐसे में इंटीग्रेटिव मेडिसिन विभाग के अंतर्गत ऐसी बीमारियों का साक्ष्य आधारित इलाज होने के साथ-साथ इसमें अनुसंधान कार्य भी हो सकेंगे। साथ ही इस विभाग द्वारा पारंपरिक दवाओं और योग को आगे बढ़ाने का कार्य भी किया जाएगा।

प्रोफेसर (डा.) मीनू सिंह ने बताया कि इस केन्द्र में आयुर्वेद से संबन्धित पंचकर्मा जैसी स्वास्थ्य सुविधाएं भी शुरू की जा रही हैं।

Advertisement

उन्होंने कहा कि समावेशी स्वास्थ्य देखभाल प्रदान करने की दिशा में यह विभाग मरीजों के बेहतर इलाज के लिए बहुलाभकारी सिद्ध होेगा। केन्द्र का उद्घाटन 13 जुलाई को केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण राज्य मंत्री डाॅ.भारती प्रवीण पवार करेंगी।

Advertisement

Related posts

ब्रेकिंग:- इंस्पेक्टर और सब-इंस्पेक्टर के खिलाफ CJM कोर्ट ने मुकदमा दर्ज करने के दिए निर्देश*

khabaruttrakhand

रहे सावधान:- यूजीसी द्वारा 20 विश्वविद्यालयों को किया गया है फर्जी घोषित , पढ़े कौन कौन शामिल है इस सूची में।

khabaruttrakhand

Asian Champions Trophy: कोरोना के मामलों की वजह से भारतीय महिला हॉकी टीम टूर्नामेंट से हुई बाहर, पिछली बार रही थी उपविजेता

cradmin

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights