khabaruttrakhand
अपराधअल्मोड़ाआकस्मिक समाचारउत्तरकाशीउत्तराखंडखेलचमोलीचम्पावतदिन की कहानीदुनियाभर की खबरेदेहरादूननैनीतालपिथोरागढ़पौड़ी गढ़वालीबागेश्वरयू एस नगरराजनीतिकराष्ट्रीयरुद्रप्रयागविशेष कवरस्टोरीहरिद्वार

अतिक्रमण Breaking:-उत्तराखंड के इस जनपद में व्यापारिक प्रतिष्ठान तोड़े जाने पर व्यापारियों ने लगाए कई आरोप, किया गया पुतला दहन भी।

उत्तराखंड के इस जनपद में व्यपारियो में भारी आक्रोश देखने को मिला, मिल रही रिपोर्ट के अनुसार व्यापारिक प्रतिष्ठान तोड़े जाने पर व्यापारियों ने बाजार बंद कर किया मुख्यमंत्री फूंका पुतला।

रिपोर्ट:- सुभाष बडोनी उत्तरकाशी।

Advertisement

मामला उत्तराखंड के जनपद उत्तरकाशी का है,  बताया जा अरहै है कि जहां  कई जगहों में हाईकोर्ट के आदेश के बाद प्रशासन द्वारा अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही गतिमान है।

वही अतिक्रमण को रेडमार्क कर उत्तरकाशी जनपद के अलग-अलग बाजार तोड़े जा रहे हैं ।

Advertisement

वही मिल रही जानकरी के अनुसार विना मानक के अतिक्रमण हटाने में हो रही अनियमिताओं के विरोध में अब व्यापारी लामबंद होने लगे हैं।

वहीँ शुक्रवार को उत्तरकाशी के ब्रहमखाल बाजार के सभी व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठानों को बंद कर मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया।

Advertisement

इस मामले में व्यापारियों का आरोप है कि अतिक्रमण हटाने को लेकर सरकार को उनका पक्ष भी सुनना चाहिए था लेकिन प्रदेश सरकार भी उनके साथ सौतेला व्यवहार कर रही है।

वही उनका बड़ा आरोप था कि जब सरकार झुग्गी झोपड़ियां और मलिन बस्तियों को बचाने के लिए अध्यादेश ला सकती है तो क्या उनके पक्ष सुनने के लिए अध्यादेश नहीं ला सकती।

Advertisement

व्यापारियों का कहना है कि अतिक्रमण की आड़ में प्रशासन व सम्बंधित विभाग उनका उत्पीड़न कर रहा है और प्रदेश सरकार यह सब देखकर खामोश है।

साथ ही व्यापारियों का कहना है कि अतिक्रमण चिन्हित करने आए कर्मियों ने विना मानक के चिन्हीकरण में अनियमिताएं की है इनके द्वारा वास्तविक अतिक्रमण को चिन्हित नहीं किया गया है।

Advertisement

उनका यह भी आरोप था अधिकारियों  द्वारा तो उस अतिक्रमण को नजर अंदाज ही कर दिया गया जो वास्तविक था।

जबकि बाजार में 15 मीटर,व अन्य जगहों पर 18 मीटर के दायरे में ऊपर की तरफ का मुआवजा ऑल वेदर सड़क निर्माण के समय राष्ट्रीय राजमार्ग बड़कोट के द्वारा दिया गया और कही न कही विभागीय अधिकारियों की मिली भगत से आज वहां पर लोगों ने अतिक्रमण कर अपने पक्के भवनों को खड़ा कर दिया है‌।

Advertisement

वहीं उन भवनों को बचाने के लिए विभागीय अधिकारियों ने दूसरी तरफ के भवनों को चिन्हित कर अब उनका उत्पीड़न कर रहे है।

आज विभाग  को अतिक्रमण के नाम पर उनकी पुश्तैनी भूमि पर तो अतिक्रमण दिख रहा है लेकिन जहां विभाग ने लाखों व करोड़ो रूपए का मुआवजा दिया है वहां पर विभाग को अतिक्रमण अभी भी नहीं दिखाई दे रहा है ।

Advertisement

जिस भूमि, जिस मकान का पूर्व में  मुआवजा दिया गया उसे तो छोडा जा रहा है और जहां पर कुछ भी प्रतिकर नहीं दिया गया उसे अतिक्रमण के दायरे में लाया जा रहा है।

उन्होंने आरोप लगाते हुए सवाल उठाया कि आखिर यह अनियमित क्यों बरती जा रही है यह एक जांच का विषय है और क्यों सरकार इसका संज्ञान नहीं ले रही है।

Advertisement

व्यापारियों का कहना था कि सरकार भी उनके प्रतिष्ठानों को बचाने के बजाय उजाड़ने का काम कर रही है।

इसी बात से गुस्साए व्यापारियों ने कहा कि उन्होंने आज सिर्फ सांकेतिक तौर पर बाजार बंद किया है लेकिन अगर इसके बाबजूद सरकार नहीं चेती तो अनिश्चित काल के लिए बाजार बन्द किया जायेगा और सभी व्यापारी अपने अपने प्रतिष्ठानों के आगे आमरण अनशन शुरू कर देंगे।

Advertisement

वही इस दौरान व्यापार मंडल अध्यक्ष राजेश रमोला,सरवीर चंद रमोला, सत्येन्द्र रावत, नरेंद्र नेगी, मनवीर भण्डारी शक्ति प्रसाद अवस्थी, बालम सिंह रावत, दलवीर सिंह रावत,सुरेश रमोला, नरेश भट्ट, जितेन्द्र राणा इत्यादि व्यापारी मौजूद रहे।

Advertisement

Related posts

ब्रेकिंग:-श्रीनगर -ऋषिकेष मोटर मार्ग पर हादसा, 3 लोग थे सवार।

khabaruttrakhand

ब्रेकिंग:-प्राथमिक विद्यालय के लिए मुसीबत बनी हाईटेंशन बिजली की लाइन ।

khabaruttrakhand

ब्रेकिंग:-बाल गंगा महाविद्यालय सेंदुल केमर द्वारा यहाँ मनाया गया नमामि गंगे आई o ई o सी o गतिविधियों एवम अर्थ गंगा स्वच्छता पखवाड़ा।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights