khabaruttrakhand
आकस्मिक समाचारउत्तराखंडटिहरी गढ़वालदिन की कहानीदुनियाभर की खबरेदेहरादूनपौड़ी गढ़वालीराजनीतिकराष्ट्रीयविशेष कवरस्टोरीस्वास्थ्य

ब्रेकिंग:-दादी के हाथ से गुलदार ने छीना 4 साल की मासूम पोती को, घर मे मचा कोहराम।

दादी के हाथ से गुलदार ने छीना 4 साल की मासूम पोती को, घर मे मचा कोहराम।

श्रीनगर गढ़वाल क्षेत्र से की एक अति दुखद घटना से सब स्तब्ध है।
बताया जा रहा है कि बाजार से लगभग 11 किलोमीटर दूर गाँव धिकलवाल में गुलदार ने एक मासूम को मौत के घाट उतार दिया।
इस घटना से पूरे गाँव मे शोक की लहर दौड़ गयी।
वही इस घटना का सबसे दुःखद पहलू यह था कि एक दादी के हाथ से उसकी लाडली 4 साल की मासूम पोती को गुलदार ने अपना निशाना बनाया था।
इस घटना के बाद से दादी का बुरा हाल है।

Advertisement

वही बड़ी बात जो सामने आई कि जब गुलदार ने दादी के साथ आँगन में खेल रही मासूम पर हमला करने के बाद उसे खेत मे ले जा रहा था ऐसे हालात में दादी इस दुःखद घटना में अपनी पोती का हाथ पकड़कर चिल्लाती रहे उसे बचाने जा हर प्रयास किया।

वही जब ग्रामीणों को इस घटना की भनक लगी और उन्होंने शोर मचाया तो शोरगुल सुनकर गुलदार मासूम को वहीं खेत मे छोड़कर भाग गया ।

Advertisement

वही बताया जा रहा है कि मासूम की मौके पर ही मौत हो गई थी जिसका मुख्य कारण मासूम के गले मे गहरे घाव होना बताया जा रहा है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार यह अति दुःखद घटना मंगलवार सुबह करीब 11:00 की है।

Advertisement

मासूम बालिका का नाम आयसा है जो घर के आंगन में दादी का हाथ पकड़े खेल रही जब यह हादसा हुआ।

वही घर के पास ही मौके की तलाश में घात लगाये गुलदार ने इस घटना को अंजाम दिया।

Advertisement

वही बताया जा रहा कि जब यह घटना घटी उस वक्त मासूम आयसा के दादा और पिता बाजार गए थे जबकि मा घर पर ही थी।

दादा और पिता को जैसे ही इस घटना की जानकरी मिली वह तुरंत घर पहुँचे।
वही इस घटना के बाद
देर शाम तक गाँववालो द्वारा मृतक के परिजनों के साथ आयशा के शव को लेकर सड़क पर बैठ गए ।

Advertisement

वही ग्रामीणों ने गुलदार को सूट कराने के आदेश और क्षेत्र में शूटर तैनात की जाने की मांग की।
वही घटना के बाद उप प्रभागीय वन अधिकारी लक्की शाह ने बताया कि मामले में ग्रामीणों का मांग पत्र मुख्य वन जीव प्रतिपालक को भेजा गया है ।

वहीं सुरक्षा की दृष्टि से ड्रोन व ट्रैप कैमरे तथा पिंजरे लगाने के निर्देश भी जारी कर दिए गए थे ।

Advertisement

यह एक दुखद हादसा था जहां एक हंसती खेलती मासूम अपनी दादी के हाथ से निकलकर गुलदार के मुंह में चली गयी।
चीखती चिल्लाती दादी द्वारा अपनी पोती को बचाने का हर प्रयास किया गया लेकिन वह सफल नहीं हो पाई ।
इस दुखद घटना से सबको झकझोर दिया।

वही इस मामले में बताया जा रहा है कि गांव में गुलदार जब 4 साल की बच्ची को अपने जबड़े में पकड़ कर खेत में नीचे की ओर ले जा रहा था।

Advertisement

तब दादी कमला देवी ने भी बच्ची का हाथ नहीं छोड़ा और गुलदार से उसे छुड़ाने की हर कोशिश करती रही ।

इस दौरान ग्रामीणों का शोर सुनकर गुलदार आयशा को छोड़कर खेतों की ओर भाग खड़ा हुआ था।

Advertisement

वहीं मासूम के गले में गहरे जख्म के कारण उसकी मौके पर ही मौत हो गयी थी।

वही इस घटना के बाद अब घर में कोहरण मचा हुआ है ।

Advertisement

आयसा की मां और दादी का रो-रो कर बुरा हाल है ।

आयसा को गुलजार द्वारा मारे जाने के बाद उसकी दादी कमला देवी में और उसकी माँ विजय लक्ष्मी का रो-रो कर बुरा हाल है ।
वही दादी पूरे दिन आयशा के साथ बिताए पलों को याद कर बिलखती रही ।
मां अपने सीने से आयसा के शव को लगाये हुए थी वह उसे छोड़ने को तैयार नहीं थी ।

Advertisement

पिता गणेश सिंह नेगी और दादा मनवर सिंह नेगी अपनी जान से प्यारी मासूम को खोने के कारण सारे दिन भर तपती धूप में बैठकर सिसकते रहे।

 

Advertisement

वही बताया जा रहा है कि इस मासूम सी बच्ची का 5 दिन पहले ही धूमधाम से जन्मदिन भी मनाया गया था।

Advertisement

Related posts

जिलाधिकारी मयूर दीक्षित की अध्यक्षता में  गुरूवार को जवाहर नवोदय विद्यालय, पौखाल टिहरी गढ़वाल की प्रबन्ध समिति की बैठक सम्पन्न हुई,कई मामलो में हुई चर्चा।

khabaruttrakhand

राष्ट्रीय प्रेस दिवस के अवसर पर यहां ‘‘कृत्रिम मेधा (आर्टिफिशियमल इंटेलिजेंस) के युग में मीडिया‘‘ विषय पर एक विचार गोष्ठी का किया गया आयोजन ।

khabaruttrakhand

ब्रेकिंग:-दिव्यांग कल्याण समिति के संस्थापक स्व राजेंद्र नेगी “अंकल “की याद में लगाया गया कैम्प, ग्राम वासियों ने जताया आभार।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights