khabaruttrakhand
अपराधअल्मोड़ाआकस्मिक समाचारउत्तराखंडदिन की कहानीदेहरादूननैनीतालमनी (money)राजनीतिकराष्ट्रीयविशेष कवरस्टोरी

ब्रेकिंग(Scam):-प्रशासनिक अधिकारी पर साल दर साल अपना एरियर पे बढ़ाने का आरोप ,लाखो का है मामला, प्रधानाचार्य ने पकड़ा मामला।

प्रशासनिक अधिकारी साल दर साल अपना एरियर पे बढ़ता रहा , विभाग हुआ बेखबर

जीआईसी पदमपुरी के प्रधानाचार्य ने पकड़ा मामला

Advertisement

बताया जा रहा है कि मामला 15 से 20 लाख के घोटाले का हो सकता है, आरोप के तहत लाखो रुपये का घोटाला कर चुका है यह अधिकारी ।

रिपोर्ट (चन्दन सिंह बिष्ट) हल्द्वानी नैनीताल

Advertisement

पदमपुरी नैनीताल:-

पैसों के गड़बड़झाला के लिए यह मामला गर्म और सुर्खियों में है। मामला वेतन से संबंधित है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार 15 से 20 लाख का यह गड़बड़झाला बताया जा रहा है ।

Advertisement

नैनीताल जिले से खबर सामने आई है कि में शिक्षा विभाग में कार्यरत एक प्रशासनिक अधिकारी बीते कई साल से अपना वेतन हर माह बढ़ता रहा है ।

और हैरानी की बात है कि विभाग को इस घपले की कानों कान भनक तक नहीं लगी ।

Advertisement

वहीं यह मामला  एक प्रधानाचार्य ने  पकड़ा तो तब जाकर विभाग इसकी जांच करने लगा ।

इस घोटाले की खास बात यह रही की यह अधिकारी बेसिक शिक्षा से इस घपले को अंजाम देता आ रहा है।

Advertisement

वहीं मीडिया सूत्रों की माने तो विभाग इस मामले को रफा दफा करने में भी जुटा है बता जा रहा है कि अभी तक इस अधिकारी पर कोई कारवाई भी नहीं हुई है ।

जिले के संत सोमवारी जीआईसी पदमपुरी के पूर्व प्रधानाचार्य बलवंत सिंह मनराल ने मामले को पकड़ा ।

Advertisement

मनराल ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि पदमपुरी इंटर कालेज में प्रशासनिक अधिकारी के पद पर विजय जोशी जुलाई 2022 में आया था ।

वही उसने  एरियर पे से हर महीने अपना वेतन बढ़ाने का काम शुरु कर दिया ।

Advertisement

इस मामले में मनराल ने मीडिया को बताया कि उन्हें इसकी भनक इसी साल फरवरी लगी ।

तब उन्होंने इस मामले में  जोशी से लिखित में तीन बार स्पष्टीकरण मांगा वही उसका वेतन रोकने के निर्देश दिए।

Advertisement

वही इस मामले में उस आरोपी व्यक्ति ने लिखित में माफ़ीनामा मैं बकाया भुगतान जमा करने की बात कबूली ।

प्रधानचार्य ने इस घपले की जानकारी BEO कार्यालय को दी थी ।

Advertisement

खंड शिक्षा अधिकारी अंशुल जोशी को भी एरियर पे भुगतान में घपला लगा है।

वही इस मामले में उच्च अधिकारियों को पत्र लिखकर इस मामले की जांच करने की मांग की गयी ।

Advertisement

वहीं इस पूरे मामले में जिले की तरफ से एक टीम गठित कर वित्तीय अधिकारी के नेतृत्व में जांच शुरू कर दी गई है ।

अब इस मामले में बताया जा रहा  है कि विजय जोशी सबसे पहले बेसिक शिक्षा नैनीताल में कार्यरत था ।

Advertisement

जहां उन्होंने 2007-8 में कार्य किया उसका स्थानांतरण उसके बाद धारी विकासखंड की चोरलेख हुआ, उसके बाद राजकीय कॉलेज नथुवाखान  के बाद जीआईसी पदमपुरी में यह मामला पकड़े जाने पर उसमें अपना अल्मोड़ा जिला में पारंपरिक स्थानांतरण लिया ।

बताया जा रहा है कि वह व्यक्ति तब से  अल्मोड़ा में कार्यरत है।

Advertisement

वही जो बड़ी बात इस मामले से जुड़ी बतायी जा रही है कि  अभी तक शिक्षा विभाग आरोपी के  खिलाफ कोई कारवाई नहीं  कर पाया है ।

वही इस मामले में विभाग का मानना है कि मामले की तह तक जाया जाए ताकि पता चल सके कि आखिर कितना घोटाला हुआ है ।

Advertisement

वहीं यह बात मीडिया  में कही जा रही है कि यह मामला 15 से 20 लाख का हो सकता है।

क्या कहना है इस मामले में अधिकारियों का।

Advertisement

बलवंत सिंह मनराल” (पूर्व प्रधानाचार्य पदमपुरी) नैनीताल

सबसे पहले यह घपला मैंने पकड़ा प्रशासनिक अधिकारी जोशी को नोटिस देकर स्पष्टीकरण मांगा उसने माफीनामा मांगा घपले के पैसे भरने की बात कही वही उसका वेतन रोका गया जांच के लिए उच्च अधिकारियों को पत्र लिखा ।

Advertisement

अंशुल जोशी” – (खंड शिक्षा अधिकारी धारी) “नैनीताल”

पदमपुरी के प्रधानाचार्य के पत्र के अनुसार जांच की गई जिसमें प्रथम दृश्य एरियर पर से वेतन बढ़ाने जाना लग रहा है उच्च अधिकारी को पत्र के माध्यम से सक्षम वित्त अधिकारी से जांच करने की मांग की गई है।

Advertisement

वर्तमान में वित्तीय अधिकारी नैनीताल के नेतृत्व में जांच चल रही है जहां से तस्वीर साफ होगी कि आखिर कितना घपला हुआ है।

Advertisement

Related posts

यहाँ के चिकित्सकों ने निकाली हाथ में बनी 5.6 किलो की गांठ – पुनर्निमाण प्रक्रिया से किया धमनी और रक्त वाहिकाओं को स्थापित – बीमारी के चलते हाथ नहीं हिला पा रहा था 25 वर्षीय युवक।

khabaruttrakhand

जनपद टिहरी की 03 विधान सभाओं में तैनात 233 वेब कास्टिंग कार्मिकों द्वारा लिया गया प्रशिक्षण।

khabaruttrakhand

ब्रेकिंग:- स्पा केंद्र की मिल रही थी शिकायत,पुलिस ने मारा छापा, ऐसे हुआ खुलासा।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights