khabaruttrakhand
आकस्मिक समाचारउत्तराखंडदिन की कहानीदुनियाभर की खबरेदेहरादूनप्रभावशाली व्यतिराजनीतिकराष्ट्रीयविदेश ब्रेकिंगविशेष कवरस्टोरी

ब्रेकिंग:-महिला आरक्षण बिल लोकसभा में पास हो गया,जाने कुल पक्ष में पड़े वोटों की संख्या, क्या रही प्रतिक्रियाएं।

नई दिल्ली(देश की राजधानी):-

महिला आरक्षण बिल लोकसभा में पास हो गया।

Advertisement

बुधवार को इसके पक्ष 454 हाँ वोट और केवल दो वोट नहीं थे।

यह बिल लोकसभा में दो-तिहाई बहुमत से पारित हो गया, इससे पहले विधेयक पर चर्चा में सत्ता पक्ष और विपक्ष के कई प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।

Advertisement

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने बिल पर बहस में हिस्सा लिया और इसमें ओबीसी को आरक्षण देने की मांग की।

वहीं उन्होंने केंद्र पर ओबीसी की अनदेखी का भी आरोप लगाया गया है.

Advertisement

राहुल गांधी के बयान पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने प्रतिक्रिया दी।

महिला आरक्षण कानून पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि ओबीसी आरक्षण, परिसीमन के मुद्दे या जनगणना के मुद्दों पर सवाल उठाए जाएंगे। मैं उन सभी का उत्तर देता हूं।

Advertisement

सबसे पहले, वर्तमान संविधान में तीन प्रकार के प्रतिनिधि हैं: सामान्य श्रेणी, एससी श्रेणी और एसटी श्रेणी।

इन तीन श्रेणियों में, हमने महिलाओं के लिए 33% सीट बुकिंग की।

Advertisement

और अगर एक तिहाई सीटें आरक्षित हो गईं तो उस सीट का फैसला कौन करेगा? क्या हमें करना चाहिए?

अगर वायनाड संसदीय सीट आरक्षित हो गया, तो फिर वे कहेंगे कि हम राजनीति खेल रहे थे।

Advertisement

महिला आरक्षण बिल पर बहस में हिस्सा लेने पहुंचे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को कहा कि वह महिला आरक्षण का समर्थन करते हैं।

उन्होंने कहा कि पंचायतों में महिलाओं के लिए आरक्षण एक बड़ा कदम था।

Advertisement

उन्होंने कहा कि इस बिल में ओबीसी के लिए भी आरक्षण का प्रावधान होना चाहिए था, महिला आरक्षण विधेयक में ओबीसी आरक्षण नहीं है।

उन्होंने यह भी कहा कि ओबीसी महिलाओं को भी आरक्षण मिलना चाहिए।

Advertisement

राहुल गांधी ने इस बिल को बताया आधा अधूरा ।

वहीं, ओवेसी ने महिला आरक्षण बिल को नो-चेक बिल बताया।

Advertisement

उन्होंने आरोप लगाते हुए इसे ओबीसी विरोधी और मुस्लिम विरोधी बताया।

औवेसी ने कहा कि ये विनाश का कानून है,

Advertisement

ओवैसी ने लोकसभा में जैन समुदाय से कोई सांसद नहीं होने पर सवाल उठाया

उन्होंने पूछा कि क्या गृह मंत्री अमित शाह खड़े होकर बता सकते हैं कि जैन सांसद क्यों नहीं हैं?

Advertisement

उन्होंने ये भी कहा कि 1984 के बाद से गुजरात से एक भी मुस्लिम सांसद क्यों नहीं बना?

वही उन्होंने बड़ी बात कहते हुये कहा कि मैं सरदार पटेल और नेहरू पर संविधान सभा में मुस्लिम समुदाय को धोखा देने की बात कही।

Advertisement

उनका उस मामले में रूख था जो उन्होंने अपनी बातों से जाहिर किया कि यदि वह लोग ईमानदार होते तो इस सदन में मुसलमानों का बेहतर प्रतिनिधित्व होता।

Advertisement

Related posts

आगामी लोकसभा सामान्य निर्वाचन के मध्यनजर एस0पी0 उत्तरकाशी एक्शन मोड मे।

khabaruttrakhand

Lok Sabha Election 2024: पहाड़ नहीं चढ़ पाया आज तक हाथी, 25 हजार मतों पर सिमटे प्रत्याशी

cradmin

Haridwar : December से February तक दो ट्रेनें रद्द रहेंगी, क्योंकि सर्दियों के कारण ट्रेनों की रफ्तार कम होगी।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights