khabaruttrakhand
आकस्मिक समाचारउत्तराखंडटिहरी गढ़वालदिन की कहानीदुनियाभर की खबरेदेहरादूनप्रभावशाली व्यतिराजनीतिकराष्ट्रीयविशेष कवरस्टोरीस्वास्थ्य

ब्रेकिंग:-घर से स्वस्थ आये जच्चा बच्चा दोनो चढे स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही की भेंट, मामले की मजिस्ट्रेट जांच की मांग की राकेश राणा ने।

*घर से आए स्वस्थ जच्चा बच्चा दोनो चढे स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही की भेंट।

आखिर कब तक यह मौत का सिलसिला जारी रहेगा मामले की हो मजिस्ट्रेट जांच राकेश राणा।

Advertisement

राकेश राणा ने जानकारी देते हुए बतयाव की प्रताप नगर प्रखंड के पट्टी भदुरा के रोणीया ओनाल गांव , निवासी 28 वर्षीय देवकी देवी पत्नी जगमोहन सिंह राणा सामान्य प्रसव पीड़ा होने पर घर से चलकर सड़क पर आई और गाड़ी में बैठकर लमगांव चौड़ अस्पताल पहुंचे थे।

परिजनों के अनुसार वहां पर संबंधितों द्वारा प्राथमिक परीक्षण के बाद उन्हें वहीं पर रुकने की सलाह दी गई और कहा गया कि जल्दी प्रसव हो जाएगा ।

Advertisement

4:30 घंटे बीतने पर जब महिला को ज्यादा दर्द हुआ तब अस्पताल प्रशासन ने यह कहकर उन्हें रेफर किया की बच्चे की हार्टबीट बहुत कम चल रही है आनन फानन में सीधा महिला को हायर सेंटर रेफर कर दिया।

परिजनों द्वारा देवकी को तत्काल एंबुलेंस के माध्यम से जिला चिकित्सालय नई टिहरी लाया जा रहा था ।

Advertisement

*देवकी मात्र आधे घंटे का सफर ही चल पायी थी की चांटी गांव के पास जच्चा बच्चा दोनों ने दम तोड़ दिया*।

उसके बाद उन्हें जिला चिकित्सालय बोराडी लाया गया

Advertisement

ऐसा नहीं की देवकी देवी का यह पहला प्रसव हो उन्हें पहले भी दो बेटियां एक 7 वर्ष की एक 5 वर्ष की सामान्य प्रसव से हो रखी है।

आखिर कब तक प्रताप नगर में इस तरह बहू बेटियां स्वास्थ्य विभाग के लापरवाही के कारण मरती रहेगी।

Advertisement

वहीँ इस मामले में जिला कांग्रेस कमेटी टिहरी गढ़वाल के अध्यक्ष राकेश राणा ने जिलाधिकारी टिहरी श्री मयूर दीक्षित जी से दूरभाष पर बात कर मामले की गंभीरता को समझते हुए उक्त प्रकरण की मजिस्ट्रियल जांच करने का अनुरोध किया साथ ही वीडियोग्राफी के साथ तीन सदस्यीय डॉक्टरों की कमेटी से पोस्टमार्टम करनी की मांग की जिससे उक्त प्रकरण की सच्चाई सबके सामने आ सके और दोषियों को दंडित किया जा सके।

साथ ही कहा कि देवकी देवी की दो बेटियों के भरण पोषण एवं लालन पालन शिक्षा दीक्षा की जिम्मेदारी स्वास्थ्य विभाग प्रशासन ले।

Advertisement

Related posts

Lok Sabha Election 2024: धर्म हो या राजसत्ता…पंचपुरी के संतों की हमेशा रही महत्वपूर्ण भूमिका

cradmin

ब्रेकिंग:- गनखौल घाटी में दो पट्टियों के ग्रामीणों की हुई महापंचायत, लोकसभा चुनाव का करेंगे बहिष्कार।

khabaruttrakhand

Uttarakhand : युवाओं की चिंताओं पर प्रतिक्रिया देते हुए मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि यदि मूल निवास प्रमाण पत्र उपलब्ध है तो स्थायी निवास की कोई आवश्यकता नहीं है।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights