khabaruttrakhand
आकस्मिक समाचारआध्यात्मिकउत्तराखंडटिहरी गढ़वालदिन की कहानीदुनियाभर की खबरेदेहरादूनप्रभावशाली व्यतिराष्ट्रीयविदेश ब्रेकिंगविशेष कवरस्टोरीहरिद्वार

ब्रेकिंग:-ऋषिकेश से मध्यप्रदेश के लिए रवाना हुए श्री राम गौधाम सेवा समिति के सदस्य,इस दिन निकलेंगी ऐतिहासिक गौ यात्रा।

ऋषिकेश से मध्यप्रदेश के लिए रवाना हुए श्री राम गौधाम सेवा समिति के सदस्य, निकलेंगी ऐतिहासिक गौ यात्रा…

श्री राम गौधाम सेवा समिति द्वारा 23 अक्टूबर से मध्यप्रदेश से 15 दिवसीय गौ यात्रा का शुभारंभ होने जा रहा है।

Advertisement

ये यात्रा देश के कई राज्यों से होकर गुजरेंगी। इस यात्रा के लिए समिति के सदस्य ऋषिकेश से मध्यप्रदेश के लिए रवाना हो गए है इस यात्रा पर जाने से पहले श्रीराम गौ धाम के संस्थापक एवं गौ भक्त जगदीश प्रसाद भट्ट ने ऋषिकेश में प्रेस वार्ता की। जिसमें उन्होंने बताया कि इस यात्रा का उद्देश्य गांव से लेकर शहर के सड़कों पर निराश्रित घूम रही गौमाता एवं गौ वंशो की दशा सुधारने के लिए एक जन जागरण अभियान करना रहा।

इसके साथ ही यात्रा के माध्यम से गौमाता को राष्ट्रमाता का दर्जा दिये जाने की पुरजोर मांग की जा रही है।
समिति संस्थापक जगदीश प्रसाद भट्ट ने कहा कि श्रीराम गौधाम सेवा समिति द्वारा निराश्रित गौमाता और गौ वंशों की दशा और दिशा सुधारने के लिए एक एतिहासिक गोरखा जनजागरण भारत यात्रा का शुभारम विश्वविख्यात, अनंत श्रीविभूषित, मानसममंज्ञा, संत शिरोमणी पद्मविभूषण श्री तुलसी पीठाधीश्वर जगद्गुरु रामानन्दाचार्या स्वामी रामभद्राचार्य जी महाराज के आशीर्वाद एवं सान्निध्य में 23 अक्टूबर 2023 से मध्य प्रदेश के शियोपुर जनपद के वन क्षेत्र की गई है।

Advertisement

यह यात्रा मध्यप्रदेश प्रदेश से चलकर उत्तर प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, पंजाब, हिमाचल तथा उत्तराखण्ड के हरिद्वार में पहुंचेगी जहाँ इसका दिव्य एवं भव्य समापन महामण्डलेश्वरी सती के सानिध्य में होगा ।

इस एतिहासिक गौरक्षा जनजागरण भारत यात्रा को देशभर के संत समाज एवं प्रबद्धजनों का का आशीर्वाद मिल का है।
उन्होंने कहा कि 23 अक्टूबर से शुभारम्भ हुई इस एतिहासिक गौरक्षा जनजागरण भारत यात्रा का उद्देश्य गांव से लेकर शहरों में पैदल मार्गों में तथा सड़कों पर घूम रही गौमाता एवं गौ वंशो की दशा सुधारने के लिए एक जन जागरण अभियान चलाया जा रहा है ।

Advertisement

जिसके लिए समस्त आम जन से की जा रही है कि वह अपने-अपने क्षेत्र में गौ माता की रक्षा एवं संवर्धन का कार्य सेवा भाव से कर पुण्य के भागी बने तथा किसी भी स्थिति एवं परिस्थिति में गौमाता को नितिन श्रीराम गौधाम सेवा समिति परिवार, घीवन ऐसे सभी गौभक्तों एवं गौ प्रेमियों से साथ जुड़ने की अपील की है।
गौ माता हमारे हिन्दू सनातन की माता है, गौमाता की शास्त्रों में बहुत बड़ी महिमा है तथा वह सभी प्रकार से पूज्य है, फिर भी गौमाता की इतनी बुरी दुर्दशा क्यों हो रही है। गौमाता से बढ़कर कोई दूसरा बड़ा धर्म एवं महान पुण्य कार्य नहीं है, गौमाता को कभी भूलकर भी अन्य पशुओं से तुलना ना करें एवं अन्य पशुओं की भांति साधारण नहीं समझना चाहिए, गौमाता के शरीर में 13 कोटि देवी देवताओं का वास होता है।

गौमाता श्रीकृष्ण की परमाराच्या है, गौमाता वैतरणी पार लगाने वाली है, गौमाता को अपने घर पर रखकर तन, मन तथा पन सेवा करनी चाहिए ।
ऐतिहासिक गौरक्षा जन जागरण गौरथ भारत यात्रा के माध्यम से लोगों को गौमाताओं एवं गौवंशों की सच्ची सेवा से जोड़ने का कार्य किया जा रहा है।

Advertisement

इस ऐतिहासिक यात्रा के माध्यम से आम जनमानस के भीतर गौमाता एवं गौवंशो की सेवा संरक्षण एवं सवर्धन की अलख जगाने का कार्य किया जा रहा है।

जिसके लिए समस्त आम जनमानस से अपील की जा रही है की वह अपने – अपने क्षेत्र में गौ माता की रक्षा एवं संवर्धन का कार्य सेवा भाव से कर पुण्य के भागी बने तथा किसी भी स्थिति एवं परस्थिति में गौ माता को जगह जगह निराश्रित ना छोड़े  क्योंकि केवल और केवल गौसेवा मात्र में ही समस्त जगत का कल्याण निहित है।

Advertisement

कार्यक्रम में श्रीराम गौधाम सेवा समिति के संथापक एवम यात्रा के ध्वजवाहक श्री जगदीश प्रसाद भट्ट जी, मुख्य यात्रा कार्यक्रम अधिकारी हर्षमणि उनियाल, कार्यक्रम अधिकारी (प्रचारक) मनीष व्यास, यात्रा प्रवक्ता शांति प्रसाद, मार्गदर्शक देवी प्रसाद पैन्यूली जी, वाचस्पति भट्ट जी, हरे रामा हरे कृष्णा के भक्तजन, गौसेवक मदन बिष्ट, योगी दिलीप बिष्ट, सतीश भट्ट जी, आदि अन्य गौसेवक मौजूद रहे।

Advertisement

यात्रा विवरण
पहला दिवस 23 अक्टूबर 2023 गसवानी (म.प्र) से चलकर झाँसी (उ.प्र.) ।
दूसरा दिवस 24 अक्टूबर 2023 झाँसी (उ.प्र.) से चलकर चित्रकूट (उ.प्र.)
तीसरा दिवस : 25 अक्टूबर 2023 चित्रकूट (उ.प्र.) से चलकर प्रयागराज (उ.प्र.)
चौथा दिवस 26 अक्टूबर 2023 प्रयागराज (उ.प्र.) से चलकर अयोध्या जी (उ.प्र.)
पांचवा दिवस 27 अक्टूबर 2023 अयोध्या जी (उ.प्र.) से चलकर लखनऊ (उ.प्र.)
छठा दिवस 28 अक्टूबर 2023 लखनऊ (उ.प्र.) से चलकर कन्नौज/इटावा (उ.प्र.)
सातवां दिवस 29 अक्टूबर 2023 इटावा (उ.प्र.) से चलकर मथुरा-वृन्दावन (उ.प्र.)
आठवां दिवस : 30 अक्टूबर 2023 मथुरा-वृन्दावन (उ.प्र.) से चलकर गुरुग्राम (हरियाणा)
नवां दिवस: 31 अक्टूबर 2023 गुरुग्राम (हरियाणा) से चलकर कुरुक्षेत्र (हरियाणा)
दसवां दिवस 1 नवम्बर 2023 कुरुक्षेत्र (हरियाणा) से चलकर खन्ना (पंजाब)
ग्यारवां दिवस : 2 नवम्बर 2023 खन्ना (पंजाब) से चलकर लुधियाना (पंजाब)
बारहवां दिवस 3 नवम्बर 2023 लुधियाना (पंजाब) से चलकर चण्डीगढ़ (पंजाब)
तेरहवां दिवस : 4 नवम्बर 2023 चण्डीगढ़ (पंजाब) से चलकर पोण्टा साहिब (हिमाचल)
चौदहवां दिवस : 5 नवम्बर 2023 पोण्टा साहिब (हिमाचल) से चलकर हरिद्वार (उत्तराखण्ड)
पन्द्रहवां दिवस : 6 नवम्बर 2023 हरिद्वार में यथाविधि सम्पन्न समारोह

Advertisement

Related posts

ब्रेकिंग:-चारधाम यात्रा मार्गों पर होने वाली स्वास्थ्य सम्बन्धी परेशानियों के निदान हेतु एम्स ऋषिकेश द्वारा चिकित्सकों के प्रशिक्षण के लिए कार्यशाला का आयोजन।

khabaruttrakhand

Uttarakhand Cabinet: PM आवास के लाभार्थियों पर सरकार मेहरबान, अब देना होगा कम पैसा…जानें और क्या फायदे

cradmin

मंजीरा देवी शिक्षण एवं प्रशिक्षण संस्थान हिटाणु में बिजली विभाग की लापरवाही से बच्चों की जान पर मंडरा रहा है 11000 बोल्ट का खतरा ।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights