khabaruttrakhand
उत्तराखंड

Uttarakhand के माल्टे को मिला GI Tag, सेहत का है खजाना, फायदे जान हो जाएंगे हैरान

Uttarakhand के माल्टे को मिला GI Tag, सेहत का है खजाना, फायदे जान हो जाएंगे हैरान

Uttarakhand की पहाड़ियों में माल्टा प्रचुरता से पाया जाता है। यह Uttarakhand के अलावा बाहरी राज्यों में भी अपने अनूठे स्वाद के लिए प्रसिद्ध है। हाल ही में Uttarakhand के माल्टे को GI tag मिला है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह सिर्फ एक फल नहीं बल्कि स्वास्थ्य का एक खजाना है।

Uttarakhand के माल्टा को GI tag मिला

माल्टा सिट्रस परिवार का एक फल है और इसे ‘Himalayan Orange’ भी कहा जाता है। माल्टा का वैज्ञानिक नाम सिट्रस सिनेंसिस है। माल्टा पहाड़ी क्षेत्रों में पाई जाती है। Uttarakhand के साथ ही यह फल Himachal Pradesh, Jammu-Kashmir में भी पाया जाता है। जो कि पोषण से भरपूर है। यह Uttarakhand के ठंडे क्षेत्रों में जैसे कि Bhawali, Nainital और Bhimtal में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है।

Advertisement

माल्टा गुणों से भरपूर है

माल्टा स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है। इसका सेवन कैंसर और हृदय रोग में भी राहत प्रदान करता है। NCBI की एक रिपोर्ट के अनुसार, सिट्रस फलों में एक यौगिक जिसे फ्लैवोनॉइड कहा जाता है, पाया जाता है। इनमें एंटी-डायबेटिक गुण भी होते हैं। सिट्रस फल होने के कारण सिट्रस फ्लैवोनॉइड्स ग्लूकोज और इंसुलिन को भी नियंत्रित करते हैं। इस प्रकार, यह डायबिटिक रोगियों के लिए फायदेमंद है।

हम आपको बताते हैं कि माल्टा में कैफीक एसिड, फेरुलिक एसिड, एंथोसायनिन, कृषांथेमिन आदि शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं। ये सभी रोग को रोकने में सहायक होते हैं। माल्टे में पाए जाने वाले इन सभी तत्वों का अच्छूता मानव शरीर को होने वाले फ्री रेडिकल के क्षति को कम करने में कामयाब होता है। जिसके कारण कोशिकाएं कैंसर में परिणाम होने की संभावना कम हो जाती है।

Advertisement

माल्टा में पाए जाने वाले पोषण

माल्टा पोषण से भरपूर है। माल्टे में पोटैशियम, कार्बोहाइड्रेट्स, फाइबर, फॉस्फोरस, फैट, मैग्नीशियम, आयरन, फ्लैवोनॉइड्स के साथ-साथ प्रोटीन भी पाया जाता है। इसके अलावा, माल्टा से विटामिन सी की अद्भुत आपूर्ति होती है। इसका सेवन करने से आपके शरीर में स्वस्थ रहता है।

माल्टे के लाभ

माल्टा आपके शरीर के लिए ही नहीं, बल्कि यह आपके चेहरे के लिए भी फायदेमंद है। इसके सेवन से कमजोरी दूर होती है। इसके सेवन से एनीमिया और पेट संबंधित बीमारियों में भी फायदा है।

Advertisement

अगर किसी को भूख कम लगती है तो उसे कुछ दिनों तक माल्टे का सेवन करना चाहिए। इसके सेवन से भूख बढ़ती है। इसके लिए आप माल्टा का रस पी सकते हैं।

अगर आप किसी भी प्रकार की कमजोरी से जूझ रहे हैं तो आपको माल्टे का सेवन करना चाहिए। इसके सेवन से कमजोरी दूर होती है।

Advertisement

रक्त संबंधित समस्याएं अक्सर महिलाओं और लड़कियों में देखी जाती हैं। यदि आप भी एनीमिया से पीड़ित हैं तो आपको भी माल्टा का सेवन करना चाहिए। माल्टे में लौह की प्रचुरता होती है। इसके सेवन से एनीमिया दूर होती है।

माल्टा कई पेट संबंधित समस्याओं के लिए एक आशीर्वाद है। माल्टा खाने से गैस की समस्या या एरुक्टेशन में राहत मिलती है।

Advertisement

माल्टा का सेवन करने से बाल चमकदार होते हैं। माल्टा में मौजूद गुणों के कारण, आपके बाल लंबे, काले, चमकदार और मुलायम हो जाते हैं।

माल्टा का सेवन कई बीमारियों के इलाज में बहुत फायदेमंद है, जैसे कि उच्च रक्तचाप, कोलेस्ट्रॉल, हृदय रोग और प्रोस्टेट कैंसर।

Advertisement

हर कोई सुंदर त्वचा पाना चाहता है। माल्टा का सेवन करके आप चमकदार त्वचा प्राप्त कर सकते हैं। इसके साथ ही, माल्टा की छिलके भी त्वचा के लिए लाभकारी हैं। इसकी छिलके को पाउडर बना कर त्वचा पर पैक के रूप में लगाने से आपकी त्वचा में सुधार होगा।

इसके अलावा, माल्टा का भी उपयोग होता है। इस फल, रस, बीज और छिलके का उपयोग करके कई प्रकार की दवाएं बनती हैं।

Advertisement

माल्टा की छिलका भी दवाओं को बनाने के लिए उपयोग होती है। इसकी छिलके से कफ, सर्दी, श्लेष्मा, पाचन क्षमता की कमी और स्तन कैंसर को कम करने के लिए दवा बनती है। इसके साथ ही, इसकी छिलके से सीने में दर्द को कम करने के लिए भी दवा बनती है।

Pharmaceutical Science में एक अनुसंधान ने बताया है कि माल्टा का रस पथरी को हटाने में प्रभावी है। इसका जूस पीना पथरी के मर्ज के लिए बहुत फायदेमंद है।

Advertisement

Related posts

ब्रेकिंग:-यहाँ मां- बेटी के मर्डर से सनसनी । डबल मर्डर की इस वारदात से सनसनी।

khabaruttrakhand

khabaruttrakhand

ब्रेकिंग:-डॉ भीमराव अंबेडकर ने आज के दिन संविधान तैयार कर विधानसभा को सौपा था। पी सी गोरखा।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights