khabaruttrakhand
उत्तराखंड

Uttarakhand के मुख्यमंत्री Pushkar Singh Dhami ने पारंपरिक गुलदस्ते छोड़ने की अपील की, मेहमानों को किताबें उपहार में देने का सुझाव दिया

Uttarakhand के मुख्यमंत्री Pushkar Singh Dhami ने पारंपरिक गुलदस्ते छोड़ने की अपील की, मेहमानों को किताबें उपहार में देने का सुझाव दिया

Champawat: Uttarakhand के मुख्यमंत्री Pushkar Singh Dhami ने लोगों से एक नई पहल शुरू करने के लिए आग्रह किया है। CM Pushkar Singh Dhami ने कहा कि किसी भी कार्यक्रम में मेहमानों को फूलों की बजाय किताबें देने की परंपरा को शुरू किया जाना चाहिए। इससे भविष्य की पीढ़ियों के लिए ज्ञान की दुकान बढ़ेगी और मस्तिष्क को पोषित किया जाएगा। एक पौध को एक फूल के बजाय भी एक विकल्प हो सकता है।

CM Dhami ने कहा कि अगर आप एक फूल की बजाय एक पौध देना चाहते हैं तो अपने भावनाओं को व्यक्त करें। अगर आप मुझे एक किताब, पौध या कली गिफ्ट करते हैं, तो मुझे खुशी होगी। शुक्रवार को GGIC कैम्पस पर दूसरे तानकपुर बुक फेयर का उद्घाटन करते समय, Dhami ने कहा कि इस प्रदेश में प्रतिवर्ष पुस्तक मेला आयोजित करने की परंपरा बन गई है। इस ज्ञान की परंपरा को आगे बढ़ाते रहें। नई पीढ़ी इससे सीखेगी। साहित्यकारों और लेखकों को एक स्थान मिलेगा। यहां प्रतिभा का प्रदर्शन होगा।

Advertisement

पुस्तकों के माध्यम से समाज को बदला जा सकता है

CM Dhami ने कहा कि विकृत समाज को केवल पुस्तकों के माध्यम से सुधारा जा सकता है। पुस्तक मेले में एकत्र हुए लोगों का यह एक अच्छा संकेत है कि लोग जुड़ रहे हैं। आज, इंटरनेट और तकनीक के युग में भी पुस्तकों का कोई विकल्प नहीं है। बुक फेयर को ‘पुस्तकें चुनें, नशे नहीं’ के थीम पर आयोजित किया गया है। प्रधानमंत्री Narendra Modi से प्रेरणा लेते हुए, हमने निश्चित किया है कि 2025 तक Uttarakhand को नशा मुक्त बनाएं। सभी की सामूहिक प्रयासों से समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाया जाएगा।

Advertisement

Related posts

चारधाम यात्रा:- वैदिक मंत्रोच्चार व विधि विधान के साथ खोले गये विश्वप्रसिद्ध गंगोत्री धाम के कपाट

khabaruttrakhand

ब्रेकिंग:-स्याल्दे के रूडोली में सम्मान समारोह आयोजित।

khabaruttrakhand

नवोदय विद्यालय पौखाल में धूम धाम से मनाया गया वार्षिक उत्सव एवं एलुमिनी मीट।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights