khabaruttrakhand
उत्तराखंड

Rishikesh AIIMS: घर में स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराएगा AIIMS का हब एंड स्पोक मॉडल, जानिए क्या है ये तरीका

Rishikesh AIIMS: घर में स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराएगा AIIMS का हब एंड स्पोक मॉडल, जानिए क्या है ये तरीका

Uttarakhand में सभी आयुष्मान आरोग्य मंदिरों में सामुदायिक चिकित्साधिकारी तैनात होगा। जिसके माध्यम से AIIMS के चिकित्सक मरीजों के रोग की पहचान करेंगे। किसी मरीज को तत्काल दवाई की आवश्यकता होगी तो AIIMS की ड्रोन मेडिकल सेवा के तहत उपलब्ध कराई जाएगी।

प्रदेश के दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को अब बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्राप्त होंगी। AIIMS Rishikesh हब एंड स्पोक मॉडल से दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराएगा। इस मॉडल को AIIMS की नियमित ड्रोन मेडिकल सेवा और अधिक मजबूत करेगी।

Advertisement

AIIMS ने हब एंड स्पोक मॉडल के तहत प्राथमिक चरण में कार्य शुरू कर दिया है। इसके तहत अभी कुछ मिशनरियों के अस्पतालों को जोड़ा गया है। हब एंड स्पोक मॉडल के तहत Uttarakhand के सभी आयुष्मान आरोग्य मंदिरों को AIIMS से जोड़ा जाएगा।

AIIMS से सभी आयुष्मान आरोग्य मंदिरों को टेली मेडिसिन से जोड़ा जाएगा। सभी आयुष्मान आरोग्य मंदिरों में सामुदायिक चिकित्साधिकारी (CHO) तैनात होगा। जिसके माध्यम से AIIMS के चिकित्सक मरीजों के रोग की पहचान करेंगे। किसी मरीज को तत्काल दवाई की आवश्यकता होगी तो AIIMS की ड्रोन मेडिकल सेवा के तहत उपलब्ध कराई जाएगी। Uttarakhand में आयुष्मान आरोग्य मंदिरों की संख्या करीब 2500 है। इस मॉडल के तहत AIIMS उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्से में भी स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराएगा।

Advertisement

क्या है हब एंड स्पोक मॉडल

यह एक संगठनात्मक मॉडल है जो एक प्राथमिक (हब) प्रतिष्ठान और कई माध्यमिक प्रतिष्ठानों (स्पोक) के साथ एक नेटवर्क में सेवा वितरण परिसंपत्तियों की व्यवस्था करता है। इस मॉडल के तहत सभी माध्यमिक प्रतिष्ठान प्राथमिक प्रतिष्ठान से जुड़े रहते हैं।

ड्रोन मेडिकल सेवा की हो चुकी हैं करीब 14 उड़ाने

AIIMS Rishikesh ने इसी माह से नियमित ड्रोन मेडिकल सेवा भी शुरू की है। अब तक करीब 14 उड़ाने हो चुकी हैं। AIIMS ड्रोन मेडिकल सेवा के नोडल अधिकारी डाॅ. जितेंद्र गैरोला ने बताया कि अब तक चंबा, यमकेश्वर, कोटद्वार, न्यू टिहरी व हिंडोलाखाल दवाइयां भेजी गई हैं। सेवा चारधाम यात्रा में भी काफी महत्वपूर्ण होगी। इसके साथ ही हब एंड स्पोक मॉडल में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी।

Advertisement

हब एंड स्पोक मॉडल से Uttarakhand के दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। योजना को प्राथमिक चरण के तहत शुरू कर दिया गया है। योजना के तहत Uttarakhand के सभी आयुष्मान आरोग्य मंदिरों को जोड़े जाने के साथ UP के कुछ आयुष्मान आरोग्य मंदिरों को जोड़ा जाएगा। – प्रो. मीनू सिंह, निदेशक, AIIMS Rishikesh

Advertisement

Related posts

उत्तराखंड के इस इंजीनियरिंग कॉलेज में छात्रों को मिल रहा ये अनोखा आदेश।#BreakingNews

khabaruttrakhand

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक की गई आहूत, फैमिली प्लानिंग को लेकर काउंसलिंग तथा एक दम्पति की दो से अधिक लड़की वालों को लेकर निर्देश जारी।

khabaruttrakhand

ब्रेकिंग:- स्पा केंद्र की मिल रही थी शिकायत,पुलिस ने मारा छापा, ऐसे हुआ खुलासा।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights