khabaruttrakhand
आकस्मिक समाचारउत्तराखंडटिहरी गढ़वालदिन की कहानीदुनियाभर की खबरेराष्ट्रीयविशेष कवरस्टोरी

कीर्तिनगर में आतंक फैला रहे पांच लोगों पर हमला करने वाले गुलदार को वन विभाग ने मार गिराया ,क्षेत्रीय विधायक ने की इनाम की घोषणा।

कीर्तिनगर में आतंक फैला रहे पांच लोगों पर हमला करने वाले गुलदार को वन विभाग ने मार गिराया ।

पहाडी क्षेत्रों से हमेशा ऐसी खबरें आती रहती हैं जहां लोगों पर गुलदार द्वारा लोगों पर हमला करने की खबरें जबतब सामने आती रहती हैं।
बात यहीं तक खत्म नही होती और इस हमले और कई लोग गुलदार का शिकार भी बने हैं।

Advertisement

इसी बीच एक खबर टिहरी जिले के कीर्ति नगर विकासखंड से सामने आई है, जहां वन विभाग की टीम ने कड़ी मशक्कत के बाद एक आदमखोर गुलदार को आखिरकार मार गिराया है।
बताया जा रहा है कि इस गुलदार द्वारा दो दिनों में नौ लोगों पर हमला किया गया, जिनमें चार वनकर्मी भी शामिल थे।
वहीँ बताया जा रहा है कि इसी गुरुवार यानी ली 22 फरवरी को गुलदार ने क्षेत्र में पांच महिलाओं पर हमला कर दिया था. इससे इलाके में डर का माहौल पैदा हो गया था।

इसके बाद से वन विभाग की टीम गुलदार को पकड़ने में जुटी हुई थी,
मीडिया रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि गुलदार को मारने के लिए चार गोलियां चलाई गईं थी।

Advertisement

जिसमे से चौथी गोली गुलदार को लगी और उसकी मौत हो गई बताया गया है, वहीं इस मामले में वन विभाग का दावा है कि गुलदार को आत्मरक्षा में मारा गया।

वन विभाग के मुताबिक, गुरुवार 22 फरवरी को कीर्तिनगर विकासखंड के नैथाणा और डांग गांव में गुलदार ने पांच महिलाओं पर हमला किया था जिसके बाद पांचों महिलाओं को श्रीकोट बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया था।
गुलदार के इन हमलों से स्थानीय लोग काफी डरे हुए हैं।

Advertisement

वहीं, इन हमलों के बाद वन विभाग की टीम ने गुलदार को पकड़ने के लिए इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाया था।
जिसके फलस्वरूप शुक्रवार 23 फरवरी को सुबह गुलदार देवप्रयाग विधायक विनोद कंडारी के आवास से चंद कदम की दूरी पर स्थित एक होटल के कमरे में घुस गया।

वही मामले की नाजुकता को देखते हुए होटल मालिक ने कमरे का दरवाजा बंद किया और और तुरंत विधायक और वन विभाग को इस गुलदार की सूचना दी।
लेकिन बताया जा रहा है कि वन विभाग की टीम के मौके पर पहुंचने से पहले ही गुलदार कमरे की खिड़की से बाहर खेत में भाग गया।

Advertisement

जहां गुलदार ने एसडीओ को अनिल पैन्यूली, वनकर्मी महावीर, गुडडू और तेज सिंह पर हमला बोल दिया।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार गुलदार के हमले में घायल इन चारों लोगों को श्रीकोट बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया।

Advertisement

गुलदार को मारने के लिए वन विभाग के शूटरों को जानकरी देकर बुलाया गया और करीब आठ घंटे तक गुलदार का पीछा किया गया।

वहीं करीब आठ घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद इन शूटरों ने ने गुलदार को मार गिराया और राहत की सांस ली।

Advertisement

वही देवप्रयाग विधायक विनोद कंडारी ने गुलदार को मारने वाली टीम को 15 हजार रुपये नकद इनाम देने की घोषणा की हैं।

गुलदार के आतंक से लोग काफी भयभीत थे।

Advertisement

टिहरी डीएफओ अमित कंवर ने इस मामले में बताया है कि वन अधिकारियों की गोली से गुलदार की मौत हुई है।

दो दिन में गुलदार ने वन विभाग के चार कर्मचारियों समेत नौ लोगों पर हमला किया।

Advertisement

वहीं आत्मरक्षा में गुलदार को मार गिराया गया है।
बताया जा रहा कि इस खबर से क्षेत्र वासियो ने अब राहत की सांस ली है।

Advertisement

Related posts

Dehradun: स्वतंत्रता संग्राम सेनानी का हाल जानने Hospital पहुंचे मुख्यमंत्री Dhami, फिर दोहराई अपनी मांग

khabaruttrakhand

Earthquake In Uttarkashi: Uttarakhand के उत्तरकाशी में दूसरी बार एक हफ्ते में भूकंप, नुकसान की कोई खबर नहीं

srninfosoft@gmail.com

आरोप:-जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए दर – दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं इस विकासखंडवासी

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights