khabaruttrakhand
उत्तराखंडराजनीतिक

Uttarakhand BJP : पांच में से तीन लोकसभा सीटों पर प्रत्याशी तय, दो सीटों पर बना है सस्पेंस, जल्द होगी घोषणा

Uttarakhand BJP : पांच में से तीन लोकसभा सीटों पर प्रत्याशी तय, दो सीटों पर बना है सस्पेंस, जल्द होगी घोषणा

BJP ने Uttarakhand की पांच में से तीन लोकसभा सीटों पर अपने उम्मीदवार तय कर दिए हैं। तीनों सीटों पर उम्मीदवार रिपीट हो सकते हैं। केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में पांचों सीटों पर संभावित प्रत्याशियों को लेकर एक दौर का मंथन हो चुका है। दो अन्य लोकसभा सीटों पर प्रत्याशियों के नामों पर अभी सस्पेंस बना है।

माना जा रहा कि पार्टी एक-दो दिन में प्रत्याशियों की पहली सूची जारी कर देगी। सूत्रों के मुताबिक, केंद्रीय नेतृत्व Uttarakhand में पार्टी के विधायक को लोस चुनाव में उतारने का इच्छुक नहीं है। कुछ विधायकों ने भी लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए दावेदारी की है। बहरहाल, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट के नई दिल्ली से लौटने के बाद प्रत्याशियों को लेकर अटकलें तेज हो गई हैं।

Advertisement

दोनों नेताओं ने शुक्रवार को केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में भाग लिया था। Uttarakhand के संबंध में हुई बैठक में प्रदेश प्रभारी दुष्यंत गौतम और प्रदेश महामंत्री संगठन अजय कुमार भी शामिल हुए थे। वे प्रदेश से तैयार किए गए पैनल पहले ही समिति को सौंप चुके थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में Uttarakhand में पांचों सीटों पर संभावित प्रत्याशियों के नामों पर विचार हुआ।

बताया जा रहा कि पांच में से तीन सीटों पर प्रत्याशियों के नाम पर सहमति बन गई है। संभावना जताई जा रही कि तीनों सीटों पर पार्टी मौजूदा सांसदों पर भी दांव लगाएगी, लेकिन दो सीटों अभी पेच फंसा है। सूत्रों के मुताबिक, केंद्रीय चुनाव समिति ने सीएम और प्रदेश अध्यक्ष से इन दोनों सीटों पर कुछ और सूचनाएं मांगी हैं। सूत्रों के मुताबिक, एक-दो दिन में पार्टी प्रत्याशियों की घोषणा कर सकती है। दो अन्य सीटों पर भी जल्द निर्णय होने की संभावना है।

Advertisement

केंद्रीय नेतृत्व के पास एक-एक सीट की कुंडली

सूत्रों के मुताबिक, केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक के दौरान Uttarakhand की एक-एक सीट राजनीतिक समीकरण, विपक्षी दलों की ताकत और कमजोरियों पर चर्चा हुई। केंद्रीय नेतृत्व ने Congress, SP,  BSP समेत सभी दलों की कुंडली तैयार की है। सूत्रों के मुताबिक, बैठक के दौरान इसका प्रस्तुतीकरण भी दिया गया।

Related posts

ग्रीष्मकाल के चलते जनपद के ग्रामीण/शहरी क्षेत्रों में पेयजल संकट उत्पन्न होने की सम्भावना को दृष्टिगत रखते हुए पेयजल संकट से आच्छादित क्षेत्रों में नियमित/वैकल्पिक पेयजल आपूर्ति बनाये रखने हेतु जिलाधिकारी द्वारा अधिकारियों को सौंपे गए दायित्व ।

khabaruttrakhand

Uttarakhand: ढाई साल की बच्ची इन्फ्लुएंजा-ए के साथ ही एच-1 एन-1 पॉजिटिव, दून अस्पताल में किया गया आइसोलेट

cradmin

रैट माइनर्स होंगे सम्मानित: Congress नेताओं की पत्रकारवार्ता, Harish Rawat बोले- Priyanka Gandhi ने दिया यह सुझाव

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights