khabaruttrakhand
उत्तराखंडटिहरी गढ़वालदिन की कहानीदेहरादूनस्वास्थ्य

अंग प्रत्यारोपण की सुविधा हुई आसान – एम्स में अब ’डिवीजन ऑफ ऑर्गन ट्रांसप्लांट’ से संचालित होगी प्रक्रिया – संस्थान शीघ्र जारी करेगा हेल्प लाईन नम्बर।

– अंग प्रत्यारोपण की सुविधा हुई आसान
– एम्स में अब ’डिवीजन ऑफ ऑर्गन ट्रांसप्लांट’ से संचालित होगी प्रक्रिया
– संस्थान शीघ्र जारी करेगा हेल्प लाईन नम्बर

एम्स ऋषिकेश
9 मार्च, 2024 अंगदान और अंग ट्रांसप्लांट कराने के इच्छुक लोगों के लिए अच्छी खबर है।

Advertisement

एम्स ऋषिकेश में इसके लिए अब ’डिवीजन ऑफ ऑर्गन ट्रांसप्लांट’ नाम से विशेष डिवीजन स्थापित की जा रही है।

इस डिवीजन के शुरू होते ही ट्रांसप्लांट सेवाओं को बेहतर ढंग से स्ट्रीम लाईन किया जा सकेगा।

Advertisement

एम्स ऋषिकेश द्वारा अंगदान के प्रति आम लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से जन जागरूकता कार्यक्रमों का अभियान चलाया जा रहा है।

जनवरी माह में इन्ही उद्देश्यों को लेकर संस्थान द्वारा ’अंगदान संकल्प यात्रा’ भी निकाली गई थी।

Advertisement

संस्थान द्वारा अब अंग प्रत्यारोपण से सम्बन्धित स्वास्थ्य सेवाओं को और अधिक सुविधाजनक बनाने के लिए एक अलग डिवीजन गठित की गई है।

इसे ’डिवीजन ऑफ ऑर्गन ट्रांसप्लांट’ नाम दिया गया है।

Advertisement

इस बाबत डिवीजन के प्रभारी और जनरल सर्जरी विभाग में ट्रांसप्लांट सर्जन डाॅ. कर्मवीर ने बताया कि गैस्ट्रोएंट्रोलाॅजी विभाग के हेड डाॅ. रोहित गुप्ता, इसी विभाग के डाॅ. आनन्द शर्मा, यूरोलाॅजी विभाग के हेड डाॅ. अंकुर मित्तल और सर्जिकल गैस्ट्रोएंट्रोलाॅजी विभाग के डाॅ. निर्झर राकेश इस डिवीजन का मार्गदर्शन करने के साथ-साथ प्रक्रिया में आवश्यक सहयोग प्रदान करेंगे।

वहीं उन्होंने बताया कि निकट भविष्य में अंगदान और प्रत्यारोपण कराने के इच्छुक लोगों के लिए इस डिवीजन द्वारा ओपीडी भी संचालित की जाएगी।

Advertisement

डाॅ. कर्मवीर ने बताया कि संस्थान की कार्यकारी निदेशक प्रोफेसर (डॉक्टर) मीनू सिंह की पहल पर शुरू किए गए अंगदान के प्रति शपथ अभियान के तहत नोटो (नेशनल ऑर्गन एंड टिश्यू ट्रांसप्लांट ऑर्गेनाईजेशन) में अभी तक उत्तराखंड के 3 हजार से अधिक लोगों द्वारा पंजीकरण कराया जा चुका है।

’’ऑर्गन डोनर और ऑर्गन रिसीवर की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए ’डिवीजन ऑफ आर्गन ट्रांसप्लांट’ में किडनी, लीवर और पेंक्रियाज जैसे जटिल अंगों को प्रत्यारोपित करने की सुविधा प्राप्त होगी।

Advertisement

हालांकि पेंक्रियाज ट्रांसप्लांट में अभी थोड़ा समय लगेगा लेकिन किडनी और लीवर ट्रांसप्लांट की सुविधा जरूरतमंद रोगियों को पहले से उपलब्ध कराई जा रही है।

इसके अलावा इस डिवीजन में अंगदान करने सम्बन्धित आवश्यक जानकारियां, प्रत्यारोपण प्रक्रिया की बारीकियां, डोनर और रिसीवर के लिए आवश्यक स्वास्थ्य प्रोटोकाॅल व मार्गदर्शन सहित ट्रांसप्लांट से सम्बन्धित अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जाएंगी।

Advertisement

संस्थान शीघ्र ही इसके लिए एक हेल्पलाईन नम्बर भी जारी करेगा। ’’
प्रो. मीनू सिंह, कार्यकारी निदेशक एम्स ऋषिकेश।

Advertisement

Related posts

इस संस्थान में युवाओं से पैसे लेकर नौकरी लगाने के सामने आ रहे मामले, ऐसे असंवैधानिक कार्यों में संलिप्त लोगों के बहकावे में नहीं आने की अपील जनमानस की गई।

khabaruttrakhand

Christmas और New Year के दौरान Nainital के लिए नई यातायात योजना; प्रवेश के लिए Aadhaar card सत्यापन और परिवर्तित मार्गों की आवश्यकता है।

khabaruttrakhand

ब्रेकिंग:-नेत्रहीन लोगों के लिए वरदान साबित हो रहा ऋषिकेश आई बैंक

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights