khabaruttrakhand
Uncategorized

BSP का मास्टर प्लान: बिजनौर से चुनावी अभियान की शुरुआत करेंगी Mayawati, भतीजे आकाश को सौंपी प्रचार की कमान

BSP का मास्टर प्लान: बिजनौर से चुनावी अभियान की शुरुआत करेंगी Mayawati, भतीजे आकाश को सौंपी प्रचार की कमान

BSP: पश्चिमी उत्तर प्रदेश के नगीना लोकसभा सीट सबसे शांत लेकिन सबसे दिलचस्प मुकाबलों वाली सीट है। नगीना के मतदाताओं ने अधिकतर बाहरी प्रत्याशी के साथ-साथ हर बार नई पार्टी व नए प्रत्याशी को ही गले लगाया है। अब तक हुए तीन चुनाव में दो बार बाहरी प्रत्याशी को यह सीट रास आई है, जबकि तीनों चुनाव में नगीना की जनता ने हर बार नई पार्टी के प्रत्याशी को जिताकर संसद में भेजा है।

इस बार के चुनाव में BJP, SP व BSP के अलावा आजाद समाज पार्टी भी पहली बार चुनाव की मुख्य लड़ाई में कूदी है। ऐसे में इस सीट पर इस बार चुनाव और भी दिलचस्प होगा। वहीं BSP ने अपने चुनावी मैदान में उतरने का आगाज भी इसी सीट से करने का फैसला लिया है।

Advertisement

एक तरफ BJP प्रत्याशी ओम कुमार के लिए यह चुनाव उनकी प्रतिष्ठा का चुनाव है। दूसरी तरफ बहुजन समाज पार्टी के लिए भी नगीना सीट बहुत अहम है। एक तरफ यह सीट उनकी जीती हुई सीट है जबकि उसकी इस सीट को राजनैतिक विरासत की सीट भी माना जाता है। क्योंकि BSP सुप्रीमो Mayawati ने 1989 में बिजनौर से जीतकर ही अपने राजनीतिक सफर की शुरुआत की थी, उस समय नगीना का क्षेत्र बिजनौर संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत ही आता था।

SP के लिए भी नगीना लोकसभा सीट बेहद अहम है। Congress से गठबंधन के बाद इस सीट पर SP की पकड़ और मजबूत मानी जा रही है। BSP के लिए लिए नगीना सीट कितनी अहम है, इस बात का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि बसपा सुप्रीमो Mayawati ने अपने चुनावी प्रचार अभियान की शुरुआत नगीना से ही करने का निर्णय लिया है।

Advertisement

आगामी छह अप्रैल को पार्टी सुप्रीमो Mayawati के भतीजे आकाश आनंद नगीना में चुनावी जनसभा के साथ पार्टी के चुनावी अभियान की शुरुआत करेंगे। पार्टी के जिलाध्यक्ष दिलीप कुमार उर्फ पिंटू ने इस कार्यक्रम की पुष्टि की है

आकाश आनंद Mayawati के छोट भाई आनंद कुमार के बेटे हैं। गुरुग्राम से शुरुआती दौर की पढ़ाई के बाद आकाश ने लंदन से 2013 से 2016 के बीच MBA की शिक्षा ग्रहण की। वापस आने पर उन्होंने कुछ कंपनियों को भी खोला। हालांकि फिर उन्होंने राजनीति में आने का फैसला लिया। आकाश आनंद ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश की धरती से पहली बार राजनीति में कदम रखा था।

Advertisement

Mayawati ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश के देवबंद में आयोजित एक रैली में पहली बार आकाश आनंद को मंच पर अपने साथ बैठाकर पार्टी काडर को संदेश दिया कि भविष्य में आकाश ही BSP संगठन में अहम भूमिका निभाने वाले हैं। वहीं, वर्ष 2019 में हुए लोकसभा चुनाव में आकाश काे स्टार प्रचारक बनाया गया। साथ ही युवाओं को पार्टी से जोड़ने की जिम्मेदारी भी सौंपी थी।

बीते वर्ष मार्च माह में मायावती ने आकाश को पार्टी का नेशनल कोआर्डिनेटर बनाकर सबको चौंका दिया था। बता दें कि आकाश की शादी पार्टी के पूर्व राज्यसभा सांसद अशोक सिद्धार्थ की पुत्री डॉ. प्रज्ञा से बीते मार्च माह में हुई थी।

Advertisement

सहारनपुर में 2019 की गठबंधन की चुनावी सभा में शामिल हुए थे आकाश

आकाश आनंद ने 2019 के लोकसभा चुनाव में देवबंद में हुई गठबंधन की रैली में बुआ संग पहली बार राजनीतिक मंच पर पांव रखा था। उन्होंने यहां मायावती, अखिलेश यादव, चौधरी अजित सिंह और जयंत चौधरी के साथ मंच साझा किया था।

पार्टी में तभी से कयास लगाए जाने लगे थे कि आकाश आनंद ही Mayawati के उत्तराधिकारी होंगे। वहीं पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भी BSP नेता आकाश आनंद को स्टार प्रचारक बनाए जाने से समर्थक खुश हैं। उनका मानना है कि निश्चित रूप से युवा आकाश आनंद बहन जी के साथ मिलकर पार्टी को मजबूत करेंगे।

Advertisement

एक नजर में आकाश आनंद का प्रोफाइल

– वर्ष 1995 में नोएडा में जन्मे आकाश आनंद ने स्कूली शिक्षा नोएडा और गुरुग्राम से हासिल की थी।
– वर्ष 2013 से 2016 के दौरान लंदन की यूनिवर्सिटी ऑफ प्लाईमाउथ से MBA किया।
– वापस आने पर खुद का व्यवसाय शुरू किया और पिता का कारोबार भी संभाला।
– पांच कंपनियों से जुड़े बताए जाते हैं आकाश आनंद, जिनकी नेटवर्क करोड़ाें रुपये है।
– वर्ष 2016 में आकाश आनंद ने सक्रिय राजनीति में आने का फैसला लिया था।
– एक्स पर आकाश आनंद के 184 लाख और फेसबुक पर 53 हजार फॉलोवर्स हैं।
– उन्होंने BSP के पूर्व राज्यसभा सांसद अशोक सिद्धार्थ की बेटी डॉ. प्रज्ञा से शादी की है।

Advertisement

Related posts

Lok Sabha Election 2024: विकासनगर पहुंचे BJP के स्टार प्रचारक जेपी नड्डा, जनसभा को किया संबोधित

cradmin

ब्रेकिंग:- हरियाली के लिये हर किसी व्यक्ति को वृक्ष लगाना चाहिए। चन्द्र शेखर जोशी।

khabaruttrakhand

CG News: Chhattisgarh में Congress की न्याय यात्रा के बारे में भूपेश बघेल ने कहा- ‘राहुल से घबराकर मंदिर जाने से रोका’

cradmin

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights