khabaruttrakhand
आकस्मिक समाचारउत्तराखंडटिहरी गढ़वालदिन की कहानीराष्ट्रीयविशेष कवर

#वीर शहीद आदर्श नेगी एवं विनोद सिंह भंडारी को गमगीन माहौल में सैन्य सम्मान के साथ दी गई अंतिम विदाई।

वीर शहीद आदर्श नेगी एवं विनोद सिंह भंडारी को गमगीन माहौल में सैन्य सम्मान के साथ दी गई अंतिम विदाई।

सोमवार को जम्मू-कश्मीर के कठुआ में हुए आतंकी हमले में उत्तराखंड के पांच जवान शहीद हुए।

Advertisement


इनमें जनपद टिहरी गढ़वाल के दो जवान कीर्तिनगर ब्लॉक के थाती डागर निवासी राइफलमैन आदर्श नेगी और जाखणीधार ब्लॉक के चौंड जसपुर निवासी नायक विनोद सिंह भंडारी वीर गति को प्राप्त हुए।

वीर जवान आदर्श नेगी के पार्थिव शरीर को पूरे सैन्य बल के साथ उनके पैतृक गांव थाती (डागर), कीर्तिनगर लाया गया, तत्पश्चात पार्थिव शरीर को अलकनंदा नदी के बासापाणी घाट मलेथा में लाया गया, जहां विधायक देवप्रयाग विनोद कंडारी, पूर्व मंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी, डीएम मयूर दीक्षित, एसएसपी नवनीत सिंह भुल्लर, जिलाध्यक्ष भाजपा राजेश नोटियाल, परिजन, जिला सैनिक कल्याण अधिकारी योगेंद्र सिंह सहित अन्य गणमान्यों द्वारा वीर जवान के पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई।
सैनिकों की टुकड़ी ने हवाई फायरिंग कर बंदूकों की सलामी देकर शहीद आदर्श नेगी को अंतिम विदाई दी।

Advertisement

इससे पूर्व क्षेत्रीय विधायक ने शहीद आदर्श नेगी के गांव में परिजनों से मिले। क्षेत्रीय विधायक ने इसे आतंकवादियों का कायराना हमला करार दिया।
वहीं उन्होंने इस दुखद घटना पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए दिवंगत आत्मा की शांति और शोकाकुल परिजनों को इस असीम दुख को सहने की ईश्वर से कामना की।

जिलाधिकारी ने इस दुखद घटना पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए दिवंगत आत्माओं की शांति एवं परिजनों को इस दुखद परिस्थिति में धैर्य प्रदान करने की कामना की।

Advertisement

अमर शहीद आदर्श नेगी के पिता दलबीर सिंह नेगी गांव में खेतीबाडी का कार्य करते हैं।
आदर्श नेगी की इण्टर तक की पढ़ाई रा.इ.का. पिपलीधार में हुई।

वह वर्ष 2018 में गढ़वाल राइफल में भर्ती हुए। उनके परिवार में माता पिता के अलावा एक बड़ा भाई है तथा एक बडी बहन है, जिसकी शादी हो चुकी है।

Advertisement

इस मौके पर एसडीएम देवप्रयाग सोनिया पंत सहित सेना और पुलिस के जवान, अधिकारी एवं विशाल जन समूह मौजूद रहा।

वहीं वीर शहीद विनोद सिंह भंडारी वर्ष 2011 में सेना में भर्ती हुए। उनके परिवार में माता-पिता, पत्नी, 04 साल का बेटा और 4 माह की बेटी है।

Advertisement

वह परिवार का अकेला बेटा था तथा उनकी तीन बहने हैं। वर्तमान में उनका परिवार भानियावाला देहरादून में रहता है, जहां से शहीद विनोद सिंह भंडारी के पार्थिव शरीर को पूरे सैन्य सम्मान के साथ पूर्णानंद घाट पर लाया गया, जहां कैबिनेट/जनपद प्रभारी मंत्री प्रेम चंद अग्रवाल, कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल सहित अन्य गणमान्यों द्वारा शहीद विनोद सिंह भंडारी को पुष्प चक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई।

Advertisement

Related posts

दुखद: यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर ड्युटी पर तैनात पुलिस के जवान की दर्दनाक मौत।

khabaruttrakhand

Uttarakhand सुधार नियम, राज्य लोक सेवा आयोग की नौकरियों में Group-C पदों में मृतकों के आश्रितों के लिए आरक्षण

khabaruttrakhand

बिग ब्रेकिंग्:- ऊर्जा निगम के अकाउंटेंट को घूसखोरी में 4 साल की सजा। बिजली बिल से जुड़ा है मामला।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights