khabaruttrakhand
दिन की कहानीनैनीताल

ब्रेकिंगः-गुरु अर्जुन देव सभी धर्मों का सम्मान आदर करते थे। राज्यपाल गुरमीत सिंह

गुरु अर्जुन देव सभी धर्मों का सम्मान आदर करते थे। राज्यपाल गुरमीत सिंह

रिपोर्ट । ललित जोशी।

Advertisement

सरोवर नगरी नैनीताल में इन दिनों आये उत्तराखंड के राज्यपाल गुरमीत सिंह ने सिखों के पांचवे गुरू श्री अर्जुन देव जी याद करते हुए श्रद्धांजलि दी।

राज्यपाल ने शहीदों के “सरताज” कहे जाने वाले वीर योद्वा श्रीगुरू अर्जुन देव को श्रद्धांजलि देते हुए कहा।
वे धर्म रक्षक और मानवता के सच्चे सेवक थे।
उन्होंने राष्ट्र, एवं भारतीय समाज के लिए अपने प्राणों की आहुति दी।
उनका बलिदान देश, समाज एवं मानवता के लिए महत्वपूर्ण है जिसे युगों-युगों तक याद किया जाता रहेगा।

Advertisement

राज्यपाल ने कहा कि श्रीगुरू जी ने अपना जीवन धर्म और लोगों की सेवा में बलिदान कर दिया।
वे दिन-रात लोगों की संगत में लगे रहते थे।
वे सभी धर्मों को एक समान दृष्टि से देखते थे।

उन्हें कई यातनाएं देने के बावजूद भी वे अपने सिद्वान्तों पर अडिग रहे ।
जो हमें एक नयी सीख देते हैं।
राज्यपाल ने कहा कि श्री गुरू ग्रन्थ साहिब के सम्पादन में उनका महत्वपूर्ण योगदान रहा।
गुरू ग्रन्थ साहिब का मुख्य संदेश समरसता, ज्ञान और विद्या है। गुरू अर्जुन जी का जीवन दर्शन भी समरसता से प्रेरित था। आज के युग में उनकी वाणी का एक-एक शब्द पूरे राष्ट्र को एक सूत्र में बांधता है।
राज्यपाल ने कहा की श्रीगुरुजी के जीवन से परोपकार की भावना की सीख मिलती है।

Advertisement

उन्होने संदेश दिया कि हमें अपनी कमाई का दशम (10%) हिस्से को परोपकार, नेक एवं अच्छे कार्यों के लिए करना चाहिए। इस दौरान “छबील” का आयोजन भी किया गया।
इस अवसर पर विधि परामर्शी अमित कुमार सिरोही, परिसहाय श्री राज्यपाल मेजर तरूण कुमार, विशेष कार्याधिकारी बी0पी0 नौटियाल, कंप्ट्रोलर प्रमोद चमोली के अलावा राजभवन के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।

Advertisement

Related posts

ब्रेकिंग:-नव सांस्कृतिक सत्संग समिति में पांच मार्च को मचेगी होली की धूम।

khabaruttrakhand

ब्रेकिंग:-एम्स ऋषिकेश के तत्वावधान में इंटिग्रेटिव बैलेंस साइंस एंड प्रेक्टिसिस विषय पर कांफ्रैंस का आयोजन।

khabaruttrakhand

सऊदी अरब ने नाबालिगों के अपराधों के लिए सजा-ए-मौत खत्म की

cradmin

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights