khabaruttrakhand
उत्तराखंडनैनीताल

ब्रेकिंगः-बहते हुए सीवरेज व पेयजल को तुरंत ठीक किये जाने के लिए 28 लाख की धनराशि जिला अधिकारी ने की जारी।

बहते हुए सीवरेज व पेयजल को तुरंत ठीक किये जाने के लिए 28 लाख की धनराशि जिला अधिकारी ने जारी की।

रिपोर्ट । ललित जोशी ।

Advertisement

नैनीताल । सरोवर नगरी नैनीताल में सीवरेज व पेयजल की बहुत बड़ी परेशानी दिन पर दिन बढ़ती जा रही है । इसी क्रम में एक बैठक आयोजित की गयी।
जिसमें योजना की मरम्मत हेतु जारी किए28लाख-जिलाधिकारी, धीराज सिंह गर्ब्याल।
नैनीताल नगरीय सीवरेज योजना के सम्बन्ध में एक महत्वपूर्ण बैठक जिला कार्यालय सभागार में जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल की अध्यक्षता में हुई।
जिलाधिकारी श्री गर्ब्याल ने नैनीताल नगर के अन्तर्गत सीवर लाइनों की साफ-सफाई हेतु रूपये 12 लाख तथा नगरीय पेयजल योजना में पेयजल लाइनों के लीकेज की यथाशीघ्र मरम्मत हेतु 16 लाख की धनराशि अन्टाइड फंड से जारी की।
उन्होंने अधिशासी अभियंता जलसंस्थान विपिन कुमार चौहान को शीघ्र ही इन योजनाओं पर कार्य प्रारम्भ करने के निर्देश दिये।
बैठक में अधिशासी अभियंता जलसंस्थान विपिन कुमार चौहान ने बताया कि सीवर लाइन के मेनहोल चैम्बरों मे स्थानीय लोगों के द्वारा कचरा, सीमेंट के कट्टे आदि डालने से सीवर लाइन बन्द हो जाती है जिस पर जिलाधिकारी ने कहा कि जिन संवदेनशील इलाकों पर मैनहोल हैं वहां पर सीसीटीवी कैमरे स्थापित कर मॉनिटरिंग की जाए। इसके साथ ही सीवर लाइनों की साफ-सफाई के लिए सर्वे कर शीघ्र कार्य प्रारम्भ करने के निर्देश दिये।
उन्होंने कहा कि शहर की पुरानी सीवर लाइनें जो जीणशीर्ण हो चुकी है उनका भी सर्वे कर आंगणन/प्रस्ताव शासन को भेजा जाए। उन्हांेने कहा कि जो भी योजनायें बनाई जांए वह भविष्य देखते हुये बनाई जांए ताकि उनके परिणाम दूरगामी हों।
27 क्षतिग्रस्त एवं नये मैनहोल चैम्बरों के निर्माण के लिए 9 लाख 75 हजार के प्रस्ताव शासन को प्रेषित किए गए।
बैठक में नैनीताल नगरीय सीवरेज योजना के तत्काल सुधारीकरण किये जाने हेतु रूपये 3.5 करोड़ के प्रस्ताव शासन को भेजे गये है जिसके अन्तर्गत नेशनल होटल के सामने 200 एमएम व्यास की 10 मीटर पुरानी लाइन को मेन टेªन्च से जोडे़ जाने हेतु लागत 60 हजार, ब्रसाईड स्कूल के समीप 150 एमएम व्यास की 48 मीटर सीवर लाइन लागत 1.50 लाख, सात नम्बर रामलीला ग्राउन्ड के नीचे श्री दीप जोशी के घर के पास 150 एमएम व्यास की 25 मीटर क्षतिग्रस्त सीवर लाइन हेतु 55 हजार, स्टाफ हाउस मे शंकर एवं जगन्नाथ के घर के समीप 150 एमएम 28 मीटर क्षतिग्रस्त सीवर लाइन हेतु 62 हजार, ताराहॉल मे श्री किशोरी लाल के घर के पास 150 एमएम व्यास की 50 मीटर क्षतिग्रस्त सीवर लाइन हेतु 1 लाख 10 हजार, रायल होटल कम्पाउन्ड में 150 एमएम व्यास की 25 मीटर क्षतिग्रस्त लाइन हेतु 56 हजार, फंासी गधेरे मे पम्पगृह परिसर मे सीवर ओवरफ्लो को रोके जाने हेेतु 30 मीटर क्षतिग्रस्त सीवर लाइन हेतु 67 हजार, एसएसपी कार्यालय के समीप 75 मीटर सीवर लाइन हेतु 33 हजार, बीडी पाण्डे चिकित्सालय परिसर में सीवर ओवरफ्लो को रोके जाने हेतु 60 मीटर नई सीवर लाइन बिछाने हेतु 1 लाख 52 हजार,सात नम्बर ओके लॉज कम्पाउन्ड में 56 मीटर क्षतिग्रस्त सीवर लाइन हेतु 1 लाख 24 हजार, तारा हॉल में न्यू भारत होटल में लीला निवास के समीप 180 मीटर क्षतिग्रस्त सीवर लाइन हेतु 5 लाख 4 हजार, जू रोड मे गुरू निवास के समीप चडडा बिल्डिंग से पलडिया आवास तल्लीताल 140 मीटर क्षतिगस्त सीवर लाइन हेतु 3 लाख 92 हजार तथा नई सीवर लाइन बिछाये जाने हेतु डामरीकरण , रोड कटिंग एवं पुनर्निमार्ण हेतु 9 लाख 17 हजार के प्रस्ताव भेजे गये साथ ही शहर में 27 क्षतिग्रस्त एवं नये मैनहोल चैम्बरों के निर्माण के लिए 9 लाख 75 हजार के प्रस्ताव भी शासन को भेजे गये। जिलाधिकारी ने कहा वर्षाकाल में जहां पर सीवर लाइन मे वर्षा का पानी आने से सीवर बाहर निकल जाता है उन स्थानों को चिन्हित कर शीघ्र रविवार से ही कार्य प्रारम्भ करने के निर्देश अधिशासी अभियंता जलसंस्थान को दिये।
बैठक मे अधिशासी अभियंता लोनिवि दीपक गुप्ता, अधिशासी अभियंता जलसंस्थान विपिन कुमार चौहान, सहायक अभियंता जलसंस्थान डीएस बिष्ट, कनिष्ठ अभियंता जलसंस्थान शाने आलम, परियोजना अभिंयता डीएडीए सीएम साह, सहायक अभियंता सिचाई डीसी सती के साथ ही अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Advertisement

Related posts

Uttarakhand में बिजली की कमी: नदियों के जाल में Uttarakhand जल विद्युत से बिजली उत्पादन में सुस्ती, ऊर्जा जरूरतें पूरी नहीं हो रहीं।

khabaruttrakhand

ब्रेकिंग:-कुमाऊँ मण्डलायुक्त दीपक रावत ने किया कई कार्यलयों का औचक निरीक्षण।

khabaruttrakhand

जिलाधिकारी ने रात्रि नगर के विभिन्न क्षेत्रों का भ्रमण कर सर्दी से बचाव के लिए अलाव की व्यवस्था का जायजा लेने के साथ ही जरूरतमंदों को कम्बल वितरित किये।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights