khabaruttrakhand
आकस्मिक समाचारअल्मोड़ाउत्तरकाशीउत्तराखंडटिहरी गढ़वालदिन की कहानीदेहरादूनराजनीतिकराष्ट्रीयरुद्रप्रयागविशेष कवरस्टोरी

ब्रेकिंग:- चंबा-टिहरी मोटर मार्ग पर चम्बा थाने के समीप टैक्सी स्टैंड में हुए भूस्खलन के मलवे से पांचवा शव देर रात बरामद,मृतको के परिजनों को 04-04 लाख की अनुमन्य राहत राशि कराई जा चुकी है उपलब्ध।

एनएच 707ए चंबा-टिहरी मोटर मार्ग पर चम्बा थाने के समीप टैक्सी स्टैंड में हुए भूस्खलन के मलवे से पांचवा शव देर रात बरामद किया गया।

सोमवार 21 अगस्त, 2023 को दोपहर लगभग 12.50 बजे चंबा-टिहरी मोटर मार्ग पर चम्बा थाने के समीप भूस्खलन से टैक्सी स्टैंड के उपर भारी मलवा आ गया, जिसमें कुछ गाड़ियों और लोगों के दबे होने की आशंका की सूचना प्राप्त हुई।एसडीआरएफ, राजस्व, पुलिस, फायर, 108, एम्बुलेंस, जेसीबी द्वारा तत्काल मौके पर पहुंचकर राहत एवं बचाव कार्य शुरू किया गया। भूस्खलन से सड़क पर भारी मलवा आ गया था, जिसको 6 जेसीबी, 8 डंपर, 01 पोकलैंड के माध्यम से देर रात 01 बजे तक हटाया जा सका।

Advertisement

उक्त दुर्घटना में कुल पांच जनहानि हुई इसके साथ ही 04 चोपहिया वाहनों, 03 दोपहिया वाहनों, नगर पालिका का शौचालय एवं चम्बा थाने के गेट को क्षति हुई।

दुर्घटना स्थल के आस-पास के 04 घरों के 07 परिवारों को नोटिस देते हुए खाली करवाया गया।

Advertisement

लोगों को उनकी आपसी सहमति से उनके रिश्तेदारों के घर शिफ्ट किया गया।

भारी मलबे से पांच शव बरामद किए गए, जिनमें-
1. पूनम खंडूडी पत्नी सुमन खंडूड़ी, उम्र लगभग 30 वर्ष, ग्राम जसपुर कंडीसौड़ टिहरी।
2. एक बच्चा पुत्र सुमन सिंह, उम्र लगभग चार माह।
3. सरस्वती देवी बहन सुमन सिंह, उम्र लगभग 32 वर्ष।
4. प्रकाश पुत्र फूलदास, उम्र लगभग 30 वर्ष, निवासी नावगर चम्बा टिहरी।
5. सोहन सिंह रावत पुत्र रुकम सिंह, उम्र लगभग 34 वर्ष, ग्राम बेरगणी, ब्लॉक् थौलधार टिहरी।

Advertisement

शवों का पंचनामा हेतु जिला अस्पताल ले जाया गया है तथा पंचनामा के बाद शवों को परिजनो को सौंप दिया गया है।

दुर्घटना में समस्त मृतकों के परिजनों को 04-04 लाख की अनुमन्य राहत राशि उपलब्ध कराई जा चुकी है।

Advertisement

मोटर मार्ग सुचारू कर दिया गया है तथा वर्तमान में सुरक्षा के दृष्टिगत आवागमन/यातायात हेतु प्रतिबंधित किया गया।

मंगलवार को प्रेस ब्रिफिंग करते हुए कहा कि जनपद की भौगोलिक स्थिति को देखते हुए सभी लोगों को जागरूक होने की आवश्यकता है।

Advertisement

घरों का निर्माण करते समय स्लोप का ध्यान रखते हुए भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण के उपरांत ही किया जाए, क्योंकि अधिक बरसात में इन स्थानों पर खतरा ज्यादा बढ जाता है।

आपदा प्रभावित परिवारों की हर सम्भव मदद की जायेगी।

Advertisement

इसके साथ ही नए नए बने स्लाईड जोन को चिन्हित कर उन पर भी उचित कार्य किया जायेगा।

Advertisement

Related posts

ब्रेकिंग:-महामहिम राज्यपाल उत्तराखंड ने सीमान्त गाँव मलारी का किया दौरा ,विषम भौगोलिक परिस्थितियों में सीमा पर डटे जवानों का बढ़ाया हौसला, श्री बद्रीनाथ मन्दिर में पूजा अर्चना कर की सम्पूर्ण विश्व एवं मानवता के कल्याण की कामना।

khabaruttrakhand

ब्रेकिंग:-सरोवर नगरी जनपद नैनीताल के मिनी स्टेडियम हल्द्वानी में 20 वीं प्रादेशिक अर्न्तजनपदीय 3 दिवसीय पुलिस फुटबाल प्रतियोगिता का शुभारम्भ।

khabaruttrakhand

ब्रेकिंग:- श्रद्धालुओं के बैग को पुलिस की मदद से वापस लौटाया गया।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights