khabaruttrakhand
आकस्मिक समाचारउत्तराखंडटिहरी गढ़वालदिन की कहानीदेहरादूनप्रभावशाली व्यतिराजनीतिकराष्ट्रीयविशेष कवरस्टोरीस्वास्थ्य

व्यवस्थाओं की खुली पोल:-उपजिलाधिकारी द्वारा कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय हॉस्टल का आकस्मिक निरीक्षण,पाई कई खामियां। संबंधित वार्डन का वेतन अग्रिम आदेशों तक रोकने तथा कारण बताओं नोटिस जारी।

उपजिलाधिकारी घनसाली/प्रतापनगर द्वारा कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय हॉस्टल प्रतापनगर का आकस्मिक निरीक्षण किया गया।

निरीक्षण के दौरान उपजिलाधिकारी श्री शैलेन्द्र नेगी द्वारा हॉस्टल वार्डन तथा अन्य स्टाफ अनुपस्थित पाया गया।

Advertisement

यही नहीं हॉस्टल में 70 बालिकाओं के सापेक्ष मात्र 7 बालिकाएं उपस्थित थी।

Advertisement

उपस्थिति बालिकाओं द्वारा जानकारी दी गई कि अन्य बालिकाएं एवं हॉस्टल का स्टाफ रक्षाबंधन तथा जन्माष्टमी अवकाश पर घर गए हैं तथा रविवार या सोमवार तक लौटेंगे ।

वहीं  उपजिलाधिकारी द्वारा हॉस्टल का निरीक्षण करने पर पाया गया कि कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय हॉस्टल में उचित व्यवस्थाएं नहीं हैं, पर्याप्त सुविधाएं भी उपलब्ध  नहीं है ।

Advertisement

सबसे हैरानी की बात यह थी कि  छोटे-छोटे कमरों में अधिक बालिकाएं रह रही हैं और वहां पर शौचालय की उचित व्यवस्था नहीं है ।

वही सुरक्षा के भी पर्याप्त इंतजाम नहीं है।

Advertisement

हैरानी का विषय जो निरीक्षण के दौरान उपजिलाधिकारी के  संज्ञान में आया कि कस्तूरबा गांधी विद्यालय हॉस्टल भवन तैयार हो चुका है किंतु बच्चों को उसमें शिफ्ट नहीं किया है।


वही इन तमाम बातों को देखते हुए उपजिलाधिकारी द्वारा खंड शिक्षा अधिकारी प्रतापनगर को संबंधित वार्डन का वेतन अग्रिम आदेशों तक रोकने तथा कारण बताओं नोटिस जारी करने के निर्देश दिए गए हैं ।
इसके साथ ही मामले की रिपोर्ट जिलाधिकारी टिहरी गढ़वाल को भेजी जा रही है।

Advertisement

Related posts

ब्रेकिंग:-भागवत कथा जीवन के कल्याण का सन्मार्ग बताती है।

khabaruttrakhand

आवासीय भवन में लगी आग पर देर रात्रि को फायर व पुलिस की टीम ने स्थानीय लोगों के सहयोग से पाया काबू।

khabaruttrakhand

Uttarakhand: 20 साल बाद पहली बार घाटे से उबरा रोडवेज, 56 करोड़ का मुनाफा; CM ने बताया गुड गवर्नेंस का उदाहरण

cradmin

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights