khabaruttrakhand
उत्तराखंड

Uttarakhand जल संस्थान को कर्मचारियों की कमी और परियोजना में देरी का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि शीर्ष पद खाली हैं, जिससे चल रहे कार्यों

Uttarakhand जल संस्थान को कर्मचारियों की कमी और परियोजना में देरी का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि शीर्ष पद खाली हैं, जिससे चल रहे कार्यों

Dehradun: Uttarakhand जल पीने के पानी निगम ने जल जीवन मिशन, Amrit-2 सहित विभिन्न परियोजनाओं के लिए पांच हजार करोड़ रुपए से अधिक के कार्यों को पूरा करने के लिए इकाइयों को छोड़ दिया है। जो आने वाले छह महीनों से एक वर्ष में पूरा किया जाना है। हालांकि, जब काम पूरा हो जाता है, तो समस्याओं के बादल छाए हुए हैं।

पीने के पानी निगम के शीर्ष पद रिक्त हैं और 1 January के बाद निगम में वरिष्ठतम अभियंताओं

की कमी हो सकती है। प्रबंध निदेशक SC Joshi 31 December को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। इसके बाद, निगम में कोई प्रमुख अभियंता नहीं है। साथ ही, प्रमुख अभियंता के पदों को आगामी एक और आधे वर्ष से पहले भरा नहीं जा सकता है।

Advertisement

मुख्यमंत्री Pushkar Singh Dhami के तहत पीने के पानी निगम में वरिष्ठ अभियंताओं की कमी है। प्रबंध निदेशक SC Pant 31 December के बाद सेवानिवृत्त हो रहे हैं। जबकि, निगम के प्रबंध निदेशक के पद के लिए कोई योग्य अभियंता नहीं है। हैरत इस बात की है कि अब तक निगम में कोई प्रमुख अभियंता भी नहीं है, जो मैनेजिंग डायरेक्टर बनाया जा सकता है।

अधिसूचना प्रणाली के तहत, सुपरिंटेंडिंग इंजीनियर प्रमुख इंजीनियर के काम का संचालन कर रहा है। वर्तमान में, निगम के सबसे वरिष्ठ सुपरिंटेंडिंग इंजीनियर को भी मुख्य इंजीनियर बनने के लिए July 2025 तक प्रतीक्षा करनी पड़ेगी। इस परिस्थिति में, केंद्र के जल जीवन मिशन और अन्य योजनाओं को समय पर और गुणवत्ता से लागू करना एक बड़ी चुनौती लग रही है।

Advertisement

रुपए के जल जीवन मिशन के 4,000 करोड़ के कार्यों को छह महीने में पूरा करने का लक्ष्य

जल जीवन मिशन के तहत कुल 3,960 कार्य ₹ 4,862 करोड़ में मंजूर हैं। इसमें 1,687 कार्य ₹ 800 करोड़ के मूल्य में पूरे किए गए हैं। शेष 2,273 कार्य ₹ 4,062 करोड़ के मूल्य में निर्माण के अंतर्गत हैं। इन कार्यों को आगामी गर्मी तक पूरा करने का लक्ष्य है। इनमें से ₹ 1,962 करोड़ का खर्च हो चुका है और शेष ₹ 2,900 करोड़ के कार्यों का पूरा होने की क़सम June 2024 तक है।

PMO से निगम के 75 योजनाओं के 55 प्रतिशत काम शेष है

प्रधानमंत्री Narendra Modi द्वारा रखी गई 75 योजनाओं के ₹ 1600 करोड़ के शेष 55 प्रतिशत काम हैं। इन कार्यों का प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा निरंतर निगरानी हो रही है और इन्हें समय सीमा के भीतर पूरा करने का लक्ष्य है। इसके अलावा, केंद्र सरकार की महत्वपूर्ण योजना AMRUT-2 के तहत Uttarakhand में ₹ 300 करोड़ के कार्य होने की योजना है।

Advertisement

Related posts

Uttarakhand News: बिल्डरों पर लगाम…अब मालिकों की मर्जी बिना नहीं बदलेगा नक्शा, ये नियम किए गए तय

cradmin

ब्रेकिंग:-राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर उत्तरखंड पुलिस के जवानों की होगी शानदार प्रस्तुति”

khabaruttrakhand

ब्रेकिंगः-मदर डे के अवसर पर निःशुल्क होम्योपैथिक चिकित्सा शिविर का आयोजन

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights