khabaruttrakhand
आकस्मिक समाचारउत्तराखंडदिन की कहानीदुनियाभर की खबरेदेहरादूनराष्ट्रीयस्वास्थ्य

जागरूकता से ही होगा सर्वाइकल कैंसर का उन्मूलन, 30 से अधिक उम्र की महिलाओं को स्क्रीनिंग करवाने की सलाह एम्स ऋषिकेश में आयोजित हुआ जनजागरूकता कार्यक्रम।

जागरूकता से ही होगा सर्वाइकल कैंसर का उन्मूलन
30 से अधिक उम्र की महिलाओं को स्क्रीनिंग करवाने की सलाह
एम्स ऋषिकेश में आयोजित हुआ जनजागरूकता।

कार्यक्रम ऋषिकेश। सर्वाइकल कैंसर उन्मूलन दिवस के अवसर पर एम्स में आयोजित जनजागरूकता कार्यक्रम के दौरान महिलाओं को समय-समय पर स्की्रनिंग करने की सलाह दी गयी

Advertisement

इस अवसर पर कहा गया कि जनजागरूकता के माध्यम से गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर को खत्म किया जा सकता है।

Advertisement

एम्स ऋषिकेश के प्रसूती व स्त्री रोग विभाग तथा नर्सिंग विभाग के संयुक्त तत्वावधान में सर्वाइकल कैंसर पर जनजागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया।

गायनी विभाग की ओपीडी में आयोजित इस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए संस्थान की कार्यकारी निदेशक प्रो. मीनू सिंह ने कहा कि गर्भाशय कैंसर के उन्मूलन के लिए समाज की प्रत्येक महिला को जागरूक होना पड़ेगा।

Advertisement

जनजागरूकता के माध्यम से इस बीमारी का निदान किया जा सकता है।

डाॅ. मीनू सिंह ने कहा कि घरेलू कार्यों में व्यस्त रहने के कारण महिलाएं आमतौर पर अपने स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही बरतती हैं जो भविष्य में उन्हें नुकसान देती हैं।

Advertisement

यदि वो प्रत्येक वर्ष अपने जन्मदिन पर सर्वाइकल कैंसर की जांच हेतु स्क्रीनिंग करवाने का नियम बना लें तो वह इस बीमारी से बच सकती हैं।

डीन एकेडेमिक और गायनी विभाग की हेड प्रो. जया चतुर्वेदी ने एम्स ऋषिकेश द्वारा संचालित स्क्रीनिंग कार्यक्रम की जानकारी दी और एचपीवी टीकाकरण अभियान को बढ़ाने पर जोर दिया। साथ ही बताया कि एम्स में इस बीमारी के निदान के लिए सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध हैं।

Advertisement

चिकित्सा अधीक्षक प्रो. आर.बी. कालिया ने इसके लिए व्यापक जनजागरूकता अभियान संचालित करने की आवश्यकता बतायी।

उन्होंने कहा कि इसके खात्मे के लिए हम सभी को एक योजनाबद्ध तरीके से समाज की प्रत्येक महिला को जागरूक करना होगा।

Advertisement

गायनी विभाग की आन्कोलाॅजिस्ट प्रोफेसर डाॅ0 शालिनी राजाराम ने बताया कि इसके लक्षण देरी से दिखते हैं लेकिन एचपीवी वैक्सीन से इसे रोका जा सकता है।

उन्होंने 30 वर्ष से अधिक उम्र की सभी महिलाओं को स्क्रीनिंग करवाने के लिए अस्पताल आने के लिए प्रोत्साहित किया।

Advertisement

‘‘सर्वाइकल कैंसर उन्मूलन दिवस‘‘ के अवसर पर नर्सिंग विभाग की डीएनएस सुश्री वंदना ने कार्यक्रम का संचालन करते हुए ओपीडी में मौजूद महिलाओं को इस दिवस की महत्ता बतायी।

इस दौरान नर्सिंग ऑफिसर्स और रेजिडेंट डॉक्टरों की टीम द्वारा नुक्कड़ नाटक प्र्रस्तुत कर इस बीमारी के प्रति महिलाओं को जागरूक किया गया।

Advertisement

साथ ही इस विषय पर पोस्टर और स्लोगन प्रतियोगिता भी आयोजित की गई।

कार्यक्रम में सर्वाइकल कैंसर के जोखिम कारक, संकेत और लक्षण, स्क्रीनिंग कार्यक्रम, एचपीवी टीकाकरण आदि के बारे में विस्तृत जानकारियां दी गयीं। इस दौरान गायनी विभाग की डॉ. अनुपमा बहादुर, चीफ नर्सिंग आफिसर रीटा शर्मा, एएनएस सुश्री सोनिया, सुश्री नीमवाक, एएनएस, एनओ सहित कई अन्य मौजूद रहे।

Advertisement

बाॅक्स समाचार-
एम्स ऋषिकेश की गायनी ओपीडी में सोमवार से शुक्रवार तक प्रत्येक दिन महिलाओं में सर्वाइकल कैंसर की जांच की जाती है। ’वीआईए ओपीडी क्लीनिक’ सुबह 9 बजे से अपरान्ह 1 बजे तक संचालित होती है।

स्त्री रोग आन्कोलाॅजिस्ट डाॅ0 शालिनी राजाराम ने बताया कि एम्स में यह कार्यक्रम अगस्त 2023 में शुरू किया गया था। ’विजुअल इंस्पेक्शन विद एसिटिक एसिड’ (वीआईए) विधि द्वारा अभी तक 500 से अधिक महिलाओं की स्क्रीनिंग की जा चुकी हैं।

Advertisement

वहीं उन्होंने कहा कि 30 से 65 वर्ष की उम्र की महिलाओं को प्रत्येक 5 वर्ष के अन्तराल में सर्वाइकल कैंसर की जांच हेतु अनिवार्य रूप से स्क्रीनिंग करवानी चाहिए।

Advertisement

Related posts

ऋषिकेश में धूमधाम से मनाया गया भैया दूज पर्व ,भाइयों ने भी अपनी बहनों को स्नेह स्वरूप उपहार किये भेंट।

khabaruttrakhand

ब्रेकिंग:-टिहरी पुलिस द्वारा तीन प्रकरणों में 08 पेटी अंग्रेजी देशी शराब एवं दोपहिया वाहन सहित तीन शराब तस्कर गिरफ्त में।

khabaruttrakhand

यहां door to door कूड़ा कलेक्शन एवं यूजर चार्ज जमा करने के संबंध में समीक्षा की गई, समीक्षा के दौरान विशेष रूप से त्रिवेणी सेना के कार्यों की भी की गई समीक्षा ।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights