khabaruttrakhand
उत्तरकाशीउत्तराखंड

Tunnel Rescue: सीएम धामी ने सुरंग में पहुंचकर रेस्क्यू ऑपरेशन का लिया जायजा

Uttarkashi Tunnel Updates: सीएम धामी पहुंचे उत्तरकाशी, रेस्क्यू ऑपरेशन का लिया जायजा

Tunnel Rescue:  उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में स्थित सिल्कियारा टनल में फंसे 41 मजदूरों को बचाने के लिए जारी सुरक्षा अभियान ने 16वें दिन में महत्वपूर्ण सफलता प्राप्त की। सोमवार को रोडी में फंसे ऑगर मशीन के सिर को हटाने के बाद, मैनुअल खुदाई कार्य शुरू हो गया है। बचाव टीम ने 800 मिमी पाइप को लगभग एक और आधे मीटर अंदर धकेला है। टनल में ऊपर से ड्रिलिंग का कार्य सोमवार को बड़े पत्थरों के आगमन के कारण प्रभावित होता रहा।

पीएम मोदी ने सीएम धामी से उत्तरकाशी टनल की जानकारी ली
प्रधानमंत्री मोदी ने उत्तराखंड सीएम पुष्कर सिंह धामी से उत्तरकाशी सिल्कियारा टनल में जारी बचाव अभियान से संबंधित जानकारी ली। सीएम धामी ने कहा कि महाकाल टनल में फंसे मजदूरों को बचाने के लिए मैनुअल खुदाई का कार्य जारी है।

Advertisement

उत्तराखंड में मौसम की अपडेट, बारिश की संभावना
उत्तराखंड में मौसम की अपडेट है। उत्तरकाशी में हल्के बादल हैं। कहीं सूरज है और कहीं बादल हैं। सिल्कियारा में बचाव अभियान अपने अंतिम चरण में है। संभावना है कि मंगलवार शाम तक 41 मजदूर टनल से बाहर निकाले जाएंगे।

सीएम धामी ने उत्तरकाशी पहुंचकर बौखनाग दैवत के मंदिर में पूजा की
मंगलवार को सीएम पुष्कर सिंह धामी ने उत्तरकाशी पहुंचे। सीएम धामी ने टनल में प्रवेश करने से पहले बौखनाग दैवत के मंदिर में पूजा की। उन्होंने बचाव अभियान की समीक्षा भी की।

Advertisement

इन 41 मजदूरों के परिवारों को दिए गए थे ये निर्देश
उत्तरकाशी टनल बचाव अभियान में बड़ा अपडेट आया है। टनल के अंदर फंसे 41 मजदूरों के परिवारों से कहा गया है कि वे अपने कपड़े आदि तैयार करें। बताया गया है कि कामगारों को सुरक्षित रूप से टनल से बाहर निकालने के बाद, उन्हें सभी को चिन्यालिसौर हॉस्पिटल में स्वास्थ्य जांच के लिए ले जाया जाएगा।

क्षतिग्रस्त हिस्से को हटाने के बाद काम की गति बढ़ गई
उत्तरकाशी टनल में फंसे कामगारों को बचाने की कोशिश में, ऑगर मशीन के क्षतिग्रस्त हिस्से को हटा दिया गया है। इस स्थिति में काम इसी छायादारी से शुरू हुआ है। रेस्क्यू ऑपरेशन के नोडल ऑफिसर नीरज खैरवाल ने कहा, ऑगर मशीन के टूटे हुए हिस्से को हटाने के बाद, 800 मिमी पाइप को धकेलने में सफलता मिली।

Advertisement

हालांकि, इसके पारे के सड़क को कितने समय में साफ किया जा सकता है, यह कहा नहीं जा सकता है। उन्होंने कहा कि सरकार को कामगारों को बाहर निकालने के लिए पाँच विकल्पों पर आगे बढ़ने का निर्णय लिया गया है। इनमें से एक विकल्प के तहत, टनल से ऊपरी दिशा से भी सीधी ड्रिलिंग की जानी है। इसके लिए जिम्मेदारी ऑयल एण्ड नेचुरल गैस कॉरपोरेशन (ओएनजीसी) को दी गई है।

रात के समय टनल के ऊपर से ड्रिलिंग में और एक बाधा आई 
रविवार को टनल के ऊपर से 19.2 मीटर लंबा और एक मीटर चौड़ा पाइप सीधी रूप से ड्रिल किया गया था। सोमवार दोपहर तक, 30 मीटर के बाद हार्ड रॉक की आगमन के कारण काम बीच में रुक गया था। पत्थर को काटने के बाद, देर रात तक 36 मीटर का पाइप अंदर गया था।

Advertisement

सोमवार रात को लगभग 9 बजे, ऊपर से ड्रिलिंग में फिर एक बार पत्थर आने के कारण काम रुक गया। ऊपर से 86 मीटर का पाइप भेजना है। इस पाइप की चौड़ाई एक मीटर है।

Advertisement

Related posts

“Uttarakhand Global Investors Summit 2023: मुख्यमंत्री Pushkar Singh Dhami के नेतृत्व में 12,000 करोड़ रुपये का क्षेत्रीय निवेशक सम्मेलन आयोजित”

khabaruttrakhand

ब्रेकिंग:-घर से स्वस्थ आये जच्चा बच्चा दोनो चढे स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही की भेंट, मामले की मजिस्ट्रेट जांच की मांग की राकेश राणा ने।

khabaruttrakhand

पायलट प्रोजेक्ट:-इस जनपद में किसानों की कमाई बढ़ाने के लिए पायलट प्रोजेक्ट हुआ शुरू।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights