khabaruttrakhand
उत्तराखंड

CM Dhami सरकार के बजट में फिसड्डी: Uttarakhand के विभागों को विकास और निर्माण कार्यों के लिए मदों का सही उपयोग करने में दिक्कतें

CM Dhami सरकार के बजट में फिसड्डी: Uttarakhand के विभागों को विकास और निर्माण कार्यों के लिए मदों का सही उपयोग करने में दिक्कतें

Dehradun: कई विभाग उन सभी प्रयासों को खत्म कर रहे हैं जो राज्य के वार्षिक बजट का उचित उपयोग के लिए प्रयासरत है Dhami सरकार को एक झटका दे रहे हैं। इन विभागों ने विकास और निर्माण के क्षेत्र में पूंजी विभाजन के तहत प्राप्त धन का उपयोग नहीं कर सके हैं। सूचना प्रौद्योगिकी, सिंचाई, सान्निध्यिक सिंचाई, शहरी विकास, आवास, बागवानी, ऊर्जा, खेल, सामाजिक कल्याण जैसे 12 से अधिक विभाग सरकार के लिए अपने बजट व्यय में इस तरह की मुश्किलों में हैं।

इस परिस्थिति में, पहले हाफ्ते में पूंजी बजट व्यय में अच्छे प्रदर्शन को बनाए रखने के लिए दूसरे हाफ्ते में भी इसे जारी रखने के लिए विभागों को बजट निधियों का उपयोग धीमा करने के लिए निर्देश दिए गए हैं। सूचना प्रौद्योगिकी जैसे विभाग को कुशलता से ई-गवर्नेंस को प्रभावी ढंग से लागू करने का जिम्मा है। स्थिति को देखें, इस विभाग के तहत के लिए 45 करोड़ रुपये राजस्व में रखे गए हैं। इसमें से, बजट आवंटन और व्यय दोनों शून्य हैं।

Advertisement

बजट में व्यय में पिछड़े जिला

विभाग व्यय में पिछड़े जा रहे हैं। विभाग को अपने धीमे दृष्टिकोण को छोड़ने और बजट उपयोग के लिए एक योजना प्रदान करने के लिए निर्देश दिए गए हैं। वन विभाग को पूंजी बजट में 80 करोड़ रुपये का बजट मिला था, लेकिन केवल 20 करोड़ रुपये खर्च किए जा सके। सिंचाई विभाग के लिए पूंजी बजट के लिए 736 करोड़ रुपये की प्रावधानिक राशि की गई थी। इसमें से, विभाग के किटी में 210 करोड़ रुपये पहले से ही आ गए हैं। केवल 106 करोड़ रुपये खर्च किए जा सके हैं।

इतने पैसे अब तक खर्च हो चुके हैं

पूंजी बजट के लिए 189 करोड़ रुपये की प्रावधानिक राशि के तहत, सान्निध्यिक सिंचाई पर खर्च के लिए 85 करोड़ रुपये की राशि जारी की गई है। इसमें से केवल 49 करोड़ रुपये खर्च किए जा सके हैं। ऊर्जा विभाग के लिए पूंजी आइटम के लिए 1194 करोड़ रुपये की प्रावधानिक राशि है। इसमें से 262 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया है। लाखवाड़ परियोजना में 82 करोड़ रुपये खर्च होंगे। अगले फरवरी तक 120 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

Advertisement

आपदा प्रबंधन विभाग के लिए इतने पैसे

आपदा प्रबंधन विभाग के लिए पूंजी प्रावधान 1082 करोड़ रुपये है। बजट आवंटन केवल 81 करोड़ रुपये हैं। विभाग ने इस राशि को पहले से ही खर्च कर दिया है। सामाजिक कल्याण विभाग के लिए पूंजी आइटम के लिए 65 करोड़ रुपये की प्रावधानिक राशि है। आवंटित राशि 4 करोड़ रुपये है और इसका खर्च हो चुका है। सामाजिक कल्याण के लिए 132 करोड़ रुपये का बजट है। इसमें से, 17 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया था। खर्च की धीमी गति के कारण केवल 8 करोड़ रुपये उपयोग किए जा सके हैं।

युवा कल्याण विभाग का बजट इतना है

युवा कल्याण विभाग के लिए 28 करोड़ रुपये का बजट है। इसमें से केवल 2 करोड़ रुपये खर्च हो चुके हैं। वित्त अतिरिक्त मुख्य सचिव आनंद बर्धन ने कहा है कि बजट का कम उपयोग करने वाले विभागों को अगले फरवरी तक पूंजी आइटम बजट खर्च करना होगा। इस तरह के विभागों से व्यय क्रियान्वयन योजनाएँ मांगी गई हैं।

Advertisement

सामाजिक कल्याण और युवा कल्याण में बजट के कम उपयोग

नगर विकास को पूंजी साइड पर 1194 करोड़ रुपये मिले हैं, जिसमें से 180 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया, जबकि केवल 176 करोड़ रुपये ही खर्च किए जा सके हैं। आवास विभाग की स्थिति भी अधिक या कम एक सी है। इसके लिए 370 करोड़ रुपये की प्रावधानिक राशि बनाई गई थी। खर्च के लिए आवंटित 33 करोड़ रुपये में से, केवल 28 करोड़ रुपये ही खर्च किए जा सके हैं। बागवानी विभाग के लिए कुल 236 करोड़ रुपये का कुल बजट रखा गया है। इसमें से केवल 14 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया था और केवल 3 करोड़ रुपये ही खर्च किए जा सके हैं। न्याय विभाग का प्रदर्शन भी खराब है। इस विभाग ने बजट प्रावधान के 172 करोड़ रुपये में से केवल 3 करोड़ रुपये ही खर्च किए हैं।

Advertisement

Related posts

Election: Uttarakhand की पांचों सीटों पर Congress का समर्थन करेगी आम आदमी पार्टी, नतीजे सकारात्मक आने का दावा

cradmin

Silkyara: रैटहोल माइनर्स सहित बचावकर्मियों को एक महीने का वेतन देंगे Congress विधायक, party करेगी सम्मानित

khabaruttrakhand

Elections 2024: BJP नामांकन तैयारी में जुटी, Congress में दो सीटों पर माथापच्ची, आज करेगी प्रत्याशी घोषित

cradmin

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights