khabaruttrakhand
Uttar Pradesh

Uttarakhand: हजारों परिवारों को राहत, प्रदेश में लागू रहेगी Nazul नीति, पढ़ें धामी कैबिनेट के अन्य अहम फैसले

Uttarakhand: हजारों परिवारों को राहत, प्रदेश में लागू रहेगी Nazul नीति, पढ़ें धामी कैबिनेट के अन्य अहम फैसले

प्रदेश में Nazul नीति 2021 अधिनियम बनने तक लागू रहेगी। दिसंबर में Nazul नीति की समय सीमा खत्म हो गई थी, प्रदेश मंत्रिमंडल ने बृहस्पतिवार को इसे फिर से लागू करने की मंजूरी दे दी। नीति के प्रभावी होने से देहरादून, हरिद्वार, ऊधम सिंह नगर और नैनीताल के हल्द्वानी क्षेत्र के शहरी क्षेत्रों में Nazul भूमि पर काबिज हजारों परिवारों को राहत मिलेगी। सरकार ने अधिनियम बनाने के लिए विधेयक विस से पारित कर राजभवन भेजा था। राजभवन ने इसे केंद्र सरकार के विचाराधीन भेज दिया था। जब तक अधिनियम नहीं बनेगा तब तक नीति के तहत Nazul भूमि फ्री होल्ड कराई जा सकेगी। राज्य सचिवालय में CM Pushkar Singh Dhami की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में 16 में से 15 प्रस्तावों पर मुहर लगी। मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधु ने फैसलों की जानकारी दी।

छावनी परिषद से बाहर होंगे नागरिक क्षेत्र

कैबिनेट ने प्रदेश के नौ छावनी क्षेत्र अल्मोड़ा, रानीखेत, लैंसडौन, देहरादून, क्लेमेंटटाउन, नैनीताल, रुड़की, चकराता व लंढौर के गैर सैनिक नागरिक क्षेत्रों को बाहर रखने का सैद्धांतिक फैसला ले लिया है। इन क्षेत्रों में आवागमन और अन्य सुविधाओं को लेकर नागरिक क्षेत्रीय आबादी को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। मुख्य सचिव के मुताबिक, छावनी क्षेत्रों के अभी भूमि व कर्मचारियों से संबंधित मुद्दे हैं, जिनके समाधान के लिए अभी और बैठकें होंगी।

Advertisement

विधानसभा सत्र आहूत करने का अधिकार CM

विधानसभा सत्र आहूत करने के प्रस्ताव पर कैबिनेट ने निर्णय लेने का अधिकार मुख्यमंत्री को दे दिया। सरकारी नौकरियों में राज्य आंदोलनकारियों के क्षैतिज आरक्षण संबंधी विधेयक को लेकर सत्र आहूत करने की मांग हो रही है।

High Court गौलापार होगा शिफ्ट, आसपास के क्षेत्रों में भूमि खरीद-फरोख्त पर रोक
High Court गौलापार (Haldwani) में जिस स्थान पर शिफ्ट होगा, कैबिनेट ने उस स्थान के आसपास के क्षेत्रों में नियोजित विकास के लिए फ्रीज जोन घोषित करने का निर्णय लिया है। मास्टर प्लान बनने तक यहां भूमि की खरीद-फरोख्त नहीं हो सकेगी। एक साल में मास्टर प्लान बनकर तैयार हो जाएगा। नया High Court 26.08 हेक्टेयर भूमि पर बनेगा।

Advertisement

5000 व्यापारियों को राहत, VAT का बकाया जमा करने के लिए दिए तीन महीने

उत्तराखंड मूल्यवर्धित कर अधिनियम (VAT) का बकाया टैक्स जमा करने के लिए प्रदेश सरकार ने वन टाइम सेटलमेंट स्कीम को तीन माह के लिए बढ़ा दिया। इससे पांच हजार व्यापारियों को राहत मिलेगी। स्कीम के तहत बकाया टैक्स जमा करने पर ब्याज और अर्थदंड में छूट का लाभ मिलेगा।

हरिद्वार-ऋषिकेश गंगा कॉरिडोर की SPV निरस्त

कैबिनेट ने हरिद्वार-ऋषिकेश गंगा कॉरिडोर की स्पेशल परपज व्हीकल (SPV) निरस्त कर दी है। अब यह कार्य उत्तराखंड निवेश व अवस्थापना विकास बोर्ड (UIIDB) करेगा। CM की अध्यक्षता में बोर्ड की हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया था।

Advertisement

गन्ना मूल्य बढ़ाने का फैसला ACS पर छोड़ा

कैबिनेट में उत्तराखंड में गन्ना मूल्य बढ़ाने के प्रस्ताव पर सहमति नहीं बनीं। गन्ने का मूल्य 25 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाने का प्रस्ताव था। अपर मुख्य सचिव वित्त को गन्ना मूल्य बढ़ाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

अन्य महत्वपूर्ण फैसले

-राजकीय महाविद्यालयों में सहायक अध्यापकों के 25 खाली पदों पर संविदा से होगी भर्ती
-स्मार्ट सिटी के लिए MDDA के तहत बनाई ग्रेटर दून विकास प्राधिकरण लि. समाप्त
-उत्तराखंड AYUSH विभाग में मेडिकल कॉलेज के प्रोफेसर नहीं अपर निदेशक ही बनेंगे निदेशक, नियमावली संशोधन
-खटीमा सिविल कोर्ट परिसर में अधिवक्ता चैंबर बनाने के लिए भूमि 90 नहीं 30 वर्ष की लीज पर मिलेगी
-पेराई सत्र 2023-24 के लिए डोईवाला, किच्छा, नादेही व बाजपुर चीनी मिल के गन्ना मूल्य भुगतान के लिए 409.47 करोड़ की प्रत्याभूति मंजूर
-श्री केदारनाथ धाम में ओम मूर्ति को रखे जाने वाले स्थान के निर्माण का कार्य गुजरात वडोदरा की इनफाइन आर्ट वेंचर कंपनी को मिला
-बदरीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति के विभिन्न सेवा संवर्गों के सीधी भर्ती के पदों पर संविलियन किए जाने को नियमावली मंजूर की गई
-सिंचाई विभाग में राज्य बांध सुरक्षा संगठन हर वर्ष के आखिर तीन माह के भीतर अपनी गतिविधियों की वार्षिक रिपोर्ट तैयार करेगा जिसे विधानसभा के पटल पर रखा जाएगा।
UPCL की वित्तीय वर्ष 2019-20, 2020-21, 2021-22 की वार्षिक वित्तीय रिपोर्ट विधानसभा पटल पर रखी जाएगी।

Advertisement

Related posts

MEA: भारत और ग्रीस के बीच रक्षा उत्पादन समेत कई मुद्दों पर चर्चा, आतंकवाद के खिलाफ सहयोग बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित

cradmin

Lok Sabha Elections: बरेली में Congress को झटका… ‘हाथ’ का साथ छोड़ BSP में शामिल हुए पूर्व विधायक छोटेलाल गंगवार

cradmin

Ayodhya: CM Yogi ने दर्शनार्थियों की व्यवस्था की समीक्षा, बोले- “सभी को दर्शन सुगम करना हमारा कर्तव्य”

cradmin

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights