khabaruttrakhand
उत्तराखंड

Ayodhya Ram Mandir: श्रीराम के तीर से उत्पन्न हुई रामगंगा, जिससे मां सीता को लगी थी प्यास, आज हजारों लोगों की प्यास

Ayodhya Ram Mandir: श्रीराम के तीर से उत्पन्न हुई रामगंगा, जिससे मां सीता को लगी थी प्यास, आज हजारों लोगों की प्यास

Ayodhya Ram Mandir: रामगंगा, जो चमोली जिले के गैरसैंय क्षेत्र के दुधातेली पर्वत से उत्पन्न होती है और कन्नौज में गंगा नदी से मिलती है, भगवान श्रीराम की तीर से उत्पन्न हुई है। रामगंगा लगभग 500 किलोमीटर की यात्रा करके मुरादाबाद के माध्यम से गंगा से मिलती है और अपने यात्रा में लाखों लोगों की प्यास बुझाती है।

Mehalchauri के सामाजिक कार्यकर्ता और गैरसैंय के MN Juyal कहते हैं कि रामगंगा को भगवान श्रीराम और सीता माता के साथ एक घनिष्ठ संबंध माना जाता है। माना जाता है कि 14 वर्ष के वनवास के दौरान, जब भगवान श्रीराम, सीता माता और लक्ष्मण वन में घूम रहे थे, तब सीता माता को प्यास लगी। लक्ष्मण और श्रीराम ने इस क्षेत्र में पानी की खोज की, लेकिन उन्होंने कहीं भी पानी का स्रोत नहीं पाया।

Advertisement

रामनली के रूप में पहचानी जाती है

जब वे पानी की खोज करके Sita Mata के पास आए, पानी ना मिलने पर Sita Mata प्यासी हो गईं। इस पर भगवान राम ने अपनी कटार से पानी निकालने के लिए एक तीर निकाला और उसे पृथ्वी पर छोड़ा। तब वहां से एक जलधारा बहने लगी। बाद में, इस धारा ने स्थायी रूप से बहना शुरू किया और इसे रामनली कहा जाने लगा।

लोगों की विश्वास

यहां एक श्रीराम का पशुनिक मंदिर भी है। मंदिर पर राम नवमी और अन्य अवसरों पर भक्तों से भरपूर भीड़ होती है। मंदिर में श्रीराम, लक्ष्मण, सीता और हनुमान आदि देवताओं की मूर्तियां हैं। वर्तमान में, गैरसैंय के सहित भरदिसैंय के हजारों लोगों की प्यास बुझाने के लिए रामगंगा नदी पर एक बंध बनाने की योजना है और इसका भूगोलीय सर्वेक्षण भी किया गया है।

Advertisement

Related posts

दुःखद ब्रेकिंग:- यहां खाई में गिरा वाहन, 3 लोगों की मौत ।

khabaruttrakhand

Uttarakhand: हेली मेडिकल सर्विस वाला देश का पहला राज्य बनेगा Uttarakhand, ज्योतिरादित्य सिंधिया ने किया एलान

cradmin

राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण नैनीताल के निर्देशानुसार जिला विधिक सेवा प्राधिकरण उत्तरकाशी के तत्वाधान में डुंडा प्रखंड के श्रीमती मंजीरा देवी आयुर्वेदिक कॉलेज हिटाणु में बहुउदेशीय विधिक साक्षरता एंव चिकित्सा शिविर का आयोजन।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights