khabaruttrakhand
उत्तराखंड

Chardham Yatra 2024: इस बार भी यात्रा का पंजीकरण अनिवार्य होगा, मार्च के अंत तक शुरू

Chardham Yatra 2024: इस बार भी यात्रा का पंजीकरण अनिवार्य होगा, मार्च के अंत तक शुरू

Chardham Yatra 2024: प्रदेश सरकार ने Chardham Yatra को लेकर तैयारियां शुरू कर दी हैं। इस बार भी यात्रा पर आने वाले तीर्थयात्रियाें के लिए पंजीकरण करना अनिवार्य रहेगा।

आगामी Chardham Yatra के लिए मार्च के अंत तक तीर्थयात्रियों के पंजीकरण की प्रक्रिया शुरू हो सकती है। केदारनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि तय होने के बाद पर्यटन विभाग पंजीकरण प्रक्रिया शुरू करने की तैयारी कर रहा है। इसके लिए ऑनलाइन पंजीकरण सिस्टम को अपडेट किया जा चुका है।

Advertisement

इस बार भी यात्रा पर आने वाले तीर्थयात्रियाें के लिए पंजीकरण करना अनिवार्य रहेगा। प्रदेश सरकार ने Chardham Yatra को लेकर तैयारियां शुरू कर दी हैं। पर्यटन विभाग ने यात्रा व्यवस्थाओं के लिए गढ़वाल मंडल आयुक्त को पांच करोड़ रुपये की राशि जारी कर दी है। इस राशि को केदारनाथ, बदरीनाथ, गंगोत्री व यमुनोत्री धाम में तीर्थयात्रियों को बेहतर व्यवस्थाओं व सुविधाओं पर खर्च किया जाएगा।

इसके अलावा पर्यटन विभाग ने भी Chardham Yatra पर आने वाले यात्रियों के लिए पंजीकरण की सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं। इस बार पंजीकरण के लिए सिस्टम को अपडेट किया गया, जिसमें पंजीकरण करते समय यात्रियों को धामों में दर्शन के लिए भीड़ और ठहरने की व्यवस्था की स्थिति के बारे में जानकारी मिलेगी, जिससे यात्री अगली तिथि को पंजीकरण करने का प्लान बना सकता है।

Advertisement

शिवरात्रि को तय होगी केदारनाथ के कपाट खुलने की तिथि

आठ मार्च को महाशिवरात्रि के दिन केदारनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि घोषित होगी, जबकि बदरीनाथ धाम के कपाट 12 मई को खुलेंगे। इस बार 10 मई को अक्षय तृतीया है। परंपराओं के अनुसार अक्षय तृतीय को गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के कपाट खुलते हैं। हालांकि, मंदिर समितियों की ओर से कपाट खुलने की औपचारिक घोषणा की जानी बाकी है।

Chardham Yatra में अबकी भी काफी संख्या में श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद है। इसे देखते हुए संबंधित विभागों को यात्रा की तैयारियां समय पर पूरी करने के निर्देश दिए गए हैं। कपाट खुलने की तिथि तय होने के बाद तीर्थयात्रियों की सुविधा के लिए पंजीकरण शुरू किया जाएगा। यात्रा पर आने के लिए पंजीकरण अनिवार्य होगा।

Advertisement

Related posts

यहां बनाये गये स्ट्रांग रूम की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सन्तुष्ट नजर आये – सीईओ उत्तराखण्ड ।

khabaruttrakhand

Uttarakhand के मुख्यमंत्री Pushkar Singh Dhami ने पारंपरिक गुलदस्ते छोड़ने की अपील की, मेहमानों को किताबें उपहार में देने का सुझाव दिया

khabaruttrakhand

ऐम्स ऋषिकेश जनरल मेडिसिन विभाग के तत्वावधान में आयोजित वर्ल्ड एंटीमाइक्रोबाइल अवेयरनेस वीक शुक्रवार को विधिवत संपन्न।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights