khabaruttrakhand
उत्तरकाशीउत्तराखंडखेलदिन की कहानीप्रभावशाली व्यतिराष्ट्रीयविशेष कवरस्टोरी

बर्फ की चादर ओढ़े यहाँ का दयारा बुग्याल (मखमली घास का मैदान) स्कीइंग व साहसिक पर्यटन के लिए सैलानियों का कर रहा इंतजार कर।

बर्फ की चादर ओढ़े उत्तरकाशी जिले का दयारा बुग्याल (मखमली घास का मैदान) स्कीइंग व साहसिक पर्यटन के लिए सैलानियों का इंतजार कर रहा है।

30 वर्ग किमी में फैले दयारा बुग्याल में इन दिनों तीन से लेकर चार फीट तक बर्फ की चादर बिछी हुई है।

Advertisement

जो साहसिक खेलों स्कीइंग आदि के लिए आदर्श स्थिति है। दयारा बुग्याल में कदम-कदम पर स्कीइंग की ढलान हैं। कई ढलान तो दो किमी तक लंबी हैं।

बार्सू गांव से चार किमी की दूरी पर दयारा बुग्याल का ही हिस्सा भरनाला में एक किमी लंबी ढलान है।

Advertisement

जहाँ पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से स्थानीय युवाओं द्वारा इन दिनों स्कीइंग भी की जा रही है।

 

Advertisement

नेहरू पर्वतारोहण संस्थान व पर्यटन विभाग द्वारा भरनाला मे हर वर्ष स्कीइंग प्रशिक्षण कराया जाता है किन्तु इस वर्ष देर से बर्फबारी होने के कारण फिलहाल स्थानीय युवाओं द्वारा ही इसके प्रचार प्रसार हेतु स्कीइंग की जा रही है।

पर्यटन व्यवसाय से जुड़े बार्सू गांव के नवीन रावत कहते हैं कि विंटर गेम्स के लिए दयारा व भरनाला में आदर्श स्थितियां हैं।

Advertisement

उनका कहना है कि स्कीइंग करने वाले पर्यटकों के लिए स्थानीय ट्रैकिंग संचालकों के पास सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध हैं।

वहीं नजदीकी पाला गांव से प्रताप प्रकाश पंवार ने बताया कि सरकारी स्तर से कुछ सुविधाएं ओर मिलें और बुग्याल का प्रचार हो तो इससे अच्छी स्कीइंग कहीं और नहीं हो सकती।बार्सू गांव के स्थानीय युवा पुष्पेंद्र रावत, सुशील रावत, आलोक रावत, रितिक रावत,नवीन सिंह रावत द्वारा पिछले 3-4 दिनों से अपने स्तर से यहाँ स्कीइंग प्रशिक्षण कराया जा रहा है।

Advertisement

दयारा की खूबसूरती पर्यटकों का मन मोह लेने वाली है।

दयारा बुग्याल से गिडारा बुग्याल, बंदरपूंछ, काला नाग पर्वत, द्रोपदी का डांडा प्रथम व द्वितीय, श्रीकंठ पर्वत सहित कई प्रमुख चोटी नजर आती हैं।

Advertisement

इसके साथ ही गंगा घाटी का मनोहारी नजारा भी यहां से दिखता है।सर्दियों के दौरान दयारा बुग्याल की शांति, जहां बर्फ से ढके परिदृश्य, पैरों के निशान और हिमालय की चोटी के दृश्य एक अविस्मरणीय अनुभव पैदा करते हैं!

पर्यटन व्यवसाय से जुड़े स्थानीय ग्रामीणों व प्रशिक्षित युवाओं द्वारा उत्तराखंड सरकार व पर्यटन विभाग से भरनाला मे शीतकालीन खेलों के आयोजन की मांग की है जिससे यहाँ रोजगार सृजन के अवसर पैदा किये जा सके।

Advertisement

Related posts

CM Dhami का Haldwani के विवादित भूमि पर कठोर निर्णय, लोगों ने कहा – अब गुंडों को बेफिटिंग जवाब मिला

srninfosoft@gmail.com

नारी शक्ति डिजिटल भारत, स्मार्ट शिक्षा केंद्र आराकोट में चल रहे द्वि-साप्ताहिक प्रशिक्षण कार्यक्रम का विधिवत समापन।

khabaruttrakhand

Haridwar: अंतरराष्ट्रीय Hindu परिषद के अध्यक्ष Togadia बोले- दो से अधिक बच्चे होने पर छिने वोट का अधिकार

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights