khabaruttrakhand
आकस्मिक समाचारआध्यात्मिकउत्तरकाशीउत्तराखंडदिन की कहानीप्रभावशाली व्यतिराष्ट्रीयविशेष कवर

चारधाम यात्रा:- यहां पहुँचकर जिलाधिकारी ने यात्रा व्यवस्था से जुड़े विभागों व संगठनों को इस धाम में श्रद्धालुओं की सुविधाओं के लिए सभी जरूरी व्यवस्थाएं चाक-चौबंद बनाए रखने के दिए निर्देश।

जिलाधिकारी डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट ने गंगोत्री धाम का दौरा कर चारधाम यात्रा की तैयारियों का निरीक्षण किया।

रिपोर्ट:-सुभाष बडोनी / उत्तरकाशी

Advertisement

जिलाधिकारी ने यात्रा व्यवस्था से जुड़े विभागों व संगठनों को गंगोत्री धाम में श्रद्धालुओं की सुविधाओं के लिए सभी जरूरी व्यवस्थाएं चाक-चौबंद बनाए रखने के निर्देश देते हुए कहा कि गंगोत्री में सड़क पर अतिक्रमण हटाकर श्रद्धालुओं की आवाजाही के लिए अलग-अलग लेन बनाई जानी जरूरी है।
जिलाधिकारी ने कहा कि गंगोत्री में भागीरथी के दूसरे तट पर घाटों का विस्तार करने सहित दीर्घकालीन महत्व की अवस्थापना विकास की योजनाएं तैयार करने पर विशेष ध्यान दिया जाएगा और पंडा-पुरोहितों, स्थानीय निवासियों व व्यापारियों की सहूलियतों का भी पूरा ध्यान रखा जाएगा।

जिलाधिकारी ने गंगोत्री में वीआईपी पार्किंग तक वाहनों की आवाजाही पर रोक लगाने के निर्देश देते हुए कहा कि धामों की व्यवस्थाओं में आम श्रद्धालुओं की सुविधा, सहूलियत व सुरक्षा को सर्वोपरि रखा जाय।

Advertisement

इस दौरान जिलाधिकारी ने गंगोत्री में प्रस्तावित टनल पार्किंग स्थल का भी निरीक्षण कर एनएचआईडीसीएल के अधिकारियों को टनल पार्किंग की परियोजनाओं की डीपीआर तैयार करने की कार्रवाई को जल्द पूरा करने के निर्देश भी दिए।
चार धाम यात्रा को लेकर की जा रही तैयारियों की मौके पर पड़ताल करने के लिए जिलाधिकारी डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट ने गंगोत्री धाम पहॅुचकर सबसे पहले स्वास्थ्य सुविधाओं, यात्री पंजीकरण केन्द्र एवं पार्किंग व्यवस्था का जायजा लिया।
वही उन्होंने धाम में स्थापित अस्पताल में जाकर उपलब्ध चिकित्सा सुविधाओं का निरीक्षण करते हुए सभी जीवन रक्षक दवाओं, उपकरणों व ऑक्सीजन का हर समय पर्याप्त स्टॉक बनाए रखने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने मौके पर उपस्थित अपर मुुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. बीएस पांगती को निर्देशित किया कि चिकित्सकों एवं पैरामेडीकल स्टाफ निरंतत अस्पतालों एवं मेडीकल रिलीफ पोस्ट पर उपलब्ध रहें और किसी भी प्रकार की आकस्मिकता के लिए बैकअप व रेफरल प्लान तथा एंबुलेंस की व्यवस्था सुनिश्चित की जाय।

Advertisement

एसीएमओ ने बताया कि इस बार धाम के अस्पताल में विशेषज्ञ चिकित्सक की तैनाती के साथ ही मंदिर परिसर में भी चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है।
निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने धाम में नियमित रूप से पेयजल की आपूर्ति किए जाने, स्ट्रीट लाईट और सफाई कर्मियों की संख्या बढाए जाने, पार्किंग व ट्रैफिक का प्रबंधन सुव्यवस्थित ढंग से किए जाने की हिदायतें जारी करते हुए कहा कि यात्रा व्यवस्थाओं में कोई कमी न रहने दी जाय।

जिलाधिकारी ने कहा कि आम श्रद्धालुओं की सुविधा को देखते हुए गंगोत्री धाम में सभी वाहनों को मुख्य पार्किंग स्थल से आगे नहीं जाने दिया जाएगा और वीआईपी पार्किंग तक वाहनों की आवाजाही पर रोक लगाई जाएगी।

Advertisement

जिलाधिकारी ने कहा कि बस अड्डे से गंगोत्री मंदिर तक का मार्ग चौड़ा कर इसके श्रद्धालुओं के आवागमन के लिए अलग-अलग लेन बनाई जा सकती है, इसकेे लिए सड़क पर हुए अतिक्रमण को हटाने में सभी लोगों को आगे आना होगा।
इस अवसर पर उन्होंने कहा कि आने वाले पॉंच से दस सालों की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए गंगोत्री धाम में अवस्थापना विकास की योजनाएं तैयार की जाएंगी जिसके लिए संबंधित विभाग प्रस्ताव तैयार कर प्रस्तुत करेंगे।
वहीं उन्होंने सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता केएस चौहान को भागीरथी के दूसरे तट पर घाटों के विस्तार के लिए योजना प्रस्तुत करने की हिदायत देते हुए कहा कि गंगोत्री धाम में भीड़ प्रबंधन व श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए अनेक स्थानों पर पुलों का निर्माण भी किया जाना उपयोगी होगा।

इसके लिए अभी से योजनाबद्ध ढंग से आगे बढनपा जरूरी है।
जिलाधिकारी ने गंगोत्री मंदिर परिसर तथा पार्किंग स्थल में हाईमास्ट लाईट के स्थापना कार्य की प्रगति का भी जायजा लिया।

Advertisement

अधिशासी अभियंता यूपीसीएल मनोज गुसांई ने बताया कि सभी हाईमास्ट लाईट तीन दिनों के भीतर काम करना शुरू कर देंगी।

जिलाधिकारी ने जीएम डीआईसी शैली डबराल को गंगोत्री में तीर्थधामों की प्रतिकृति की सोवेनियर शॉप खोलने के निर्देश देते हुए कहा कि इसके लिए नगर पंचायत स्थान उपलब्ध कराएगा।

Advertisement

जिलाधिकारी ने धाम की सफाई, सेनीटेशन, टॉयलेट्स एवं कूड़ा निस्तारण व्यवस्था का निरीक्षण करते हुए नगर पंचायत की अधिशासी अधिकारी कुसुम राणा को निर्देशित किया कि सफाई एवं स्ट्रीट लाईट्स की अतिरिक्त व्यवस्था के लिए नगर पंचायत को अतिरिक्त वित्तीय सहायता भी दी जायगी।
जिलाधिकारी ने कहा कि उप जिलाधिकारी भटवाड़ी बृजेश कुमार तिवारी यात्रा शुरू होने तक धाम में ही प्रवास कर सभी व्यवस्थाओं को चाक-चौबंद रखने और सड़क से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई सुनिश्चित कराएंगे।
इस अवसर पर जिलाधिकारी ने गंगोत्री मंदिर समिति के पदाधिकारियों के साथ भी धाम की व्यवस्थाओं एवं यात्रा की तैयारियों को बावत बैठक की।
इस बैठक में समिति के अध्यक्ष हरीश सेमवाल सहित अन्य पदाधिकारियों ने गंगोत्री धाम में यात्रा की तैयारियों को प्रशासन के प्रयासों की सराहना करते हुए दर्शनार्थियों के कतार प्रबंधन, सड़क से अतिक्रमण हटाने और धाम के अवस्थापना विकास के कार्यो में पूरा सहयोग देने का भरोसा दिलाया।

समिति के पदाधिकारियों ने पेयजल की समस्या के समाधान के लिए पर्याप्त स्टोरेज क्षमता के ओवरहेड टैंक बनाए जाने का आग्रह भी किया।

Advertisement

जिलाधिकारी ने मंदिर समिति के पदाधिकारियों के साथ स्नान व पूजा घाट तथा कतार प्रबंधन सुविधा का भी निरीक्षण किया और इसके लिए बनाए गए रास्ते में सभी जगह पर तुरंत इंटरलाकिंग टाईल्स बिछाने की कहिदायत दी।
इस दौरान जिला पर्यटन विकास अधिकारी केके जोशी, तहसीलदार सुरेश सेमवाल भी उपस्थित रहे।

Advertisement

Related posts

Uttarakhand: उपनल कर्मचारियों के लिए राहतभरी की खबर…हड़ताल की अवधि का नहीं कटेगा मानदेय, पढ़ें पूरी खबर

cradmin

ब्रेकिंग:-आपदा प्रबंधन सचिव डॉ सिन्हा ने वीडियो कांफ्रेंसिंग कर सभी जनपद के जिलाधिकारियों को किया निर्देशित ,असहाय लोगों को ठंड से बचाया जाए।

khabaruttrakhand

घनसाली ब्रेकिंग:-आंगनबाड़ी कर्मियों के कार्य बहिष्कार के आवाहन पर धड़ो में बंटे आंगनबाड़ी कर्मचारी, ये बतायी आंदोलन में शामिल ना होने की वजह।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights