khabaruttrakhand
आकस्मिक समाचारउत्तराखंडटिहरी गढ़वालदिन की कहानीप्रभावशाली व्यतिराजनीतिकराष्ट्रीयविशेष कवर

ग्रीष्मकाल के चलते जनपद के ग्रामीण/शहरी क्षेत्रों में पेयजल संकट उत्पन्न होने की सम्भावना को दृष्टिगत रखते हुए पेयजल संकट से आच्छादित क्षेत्रों में नियमित/वैकल्पिक पेयजल आपूर्ति बनाये रखने हेतु जिलाधिकारी द्वारा अधिकारियों को सौंपे गए दायित्व ।

ग्रीष्मकाल के चलते जनपद के ग्रामीण/शहरी क्षेत्रों में पेयजल संकट उत्पन्न होने की सम्भावना को दृष्टिगत रखते हुए पेयजल संकट से आच्छादित क्षेत्रों में नियमित/वैकल्पिक पेयजल आपूर्ति बनाये रखने हेतु जिलाधिकारी टिहरी गढ़वाल मयूर दीक्षित द्वारा अधिकारियों को दायित्व सौंपे गये।

ग्रीष्मकाल की स्थिति को दृष्टिगत रखते हुए पेयजल उपभोक्ताओं की समस्याओं के त्वरित निराकरण हेतु जल संस्थान शाखा स्तर पर कन्ट्रोल रूप की स्थापना की गयी है, जो प्रातः 8 बजे से सांय 6 बजे तक संचालित रहेगी।

Advertisement

जनपद के सभी शाखान्तर्गत पेयजल एवं जलोत्सारण सम्बन्धित शिकायतों को विभागीय टोल फ्री नम्बर 18001804100 अथवा शाखा कार्यालय में स्थापित कन्ट्रोल रूम के दूरभाष नम्बर 01376-232154 पर भी सूचित कर सकते है।

इसके साथ ही क्षेत्र की पेयजल समस्या के समाधान हेतु क्षेत्रान्तर्गत तैनात अभियन्ताओं के मोबाइल नम्बर पर भी पेयजल से सम्बन्धित शिकायत दर्ज करायी जा सकती है।

Advertisement

नई टिहरी शाखा क्षेत्रान्तार्गत सहायक अभियन्ता नीरज त्रिपाठी 9412383106 तथा अपर सहायक अभियन्ता/कनिष्ठ अभियन्ता प्रवीण मंमगाई 9457643739, नई टिहरी (सीवर) महाबीर सिंह राणा 8979202166, नई टिहरी सारज्यूला राजकिशोर पोखरियाल 9997741014, जाखणीधार विनय बगियाल 7088526113, चम्बा विपिन कुमार 9456535959 एवं राहुल कुमार 9719159953, नरेन्द्रनगर विनोद चमोली 8126900807, गजा मुनेन्द्र सरियाल 8171109436, नैनबाग (जौनपुर) अरविन्द सजवाण 8171148141, थत्यूड रवित शाह 9389719705, प्रतापनगर अभिषेक शाह 8755969748 तथा थौलधार राजबीर सिंह 9627833598 को नामित किया गया है।

अधीक्षण अभियन्ता जल संस्थान/पेयजल निगम अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत नियमित जलापूर्ति के लिए उत्तरदायी होंगे।
समस्त एसडीएम अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत पेयजल की शिकायतों का त्वरित गति से निस्तारण करने, तहसील स्तर पर संयुक्त कन्ट्रोल रूम स्थापित करते हुये, कन्ट्रोल रूम का फोन नम्बर आमजनमानस हेतु प्रकाशित करने, पेयजल समस्य से संबंधित पंजिका मेटेंन करवाना/पर्यवेक्षण किया जायेगा।

Advertisement

समस्त अधिशासी अभियन्ता जल संस्थान/पेयजल निगम द्वारा फोन, कन्ट्रोलरूम, सी.एम. हैल्पलाईन पोर्टल आदि पर म. पेयजल संकट से संबंधित प्राप्त होने वाली शिकायतों का तत्काल निस्तारण की कार्यवाही करेंगे तथा अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत पेयजल संकटग्रस्त ग्रामों एवं वार्डों की सूची तैयार कर वहां पर टैंकरों के माध्यम से पेयजल की व्यवस्था करेंगें।

इसके साथ ही शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में संचालित हो रहे हैण्डपम्पों की सूची तैयार करना तथा खराब हैण्डपम्पों की यथाशीघ्र मरम्मत करवाने के साथ ही पेयजल से सम्बन्धी समस्याओं का त्वरित निस्तारण करेंगे।

Advertisement

जनपद क्षेत्रान्तर्गत जल संवर्धन के संबंध में आईईसी अभियान के माध्यम से जल संरक्षण एवं पानी के निरन्तरता उपयोग एवं कुशल प्रबंधन, तरीकों की जानकारी एवं पानी का अनावश्यक दुरूपयोग को रोकने, पेयजल आपूर्ति की कार्ययोजना एवं कन्ट्रोलरूम आदि के नम्बर जन जागरूकता हेतु आमजनमानस में साझा करने हेतु जिला सूचना अधिकारी एवं परियोजना प्रबन्धक स्वजल/परियोजना निदेशक डीआरडीए को जिम्मेदारी दी गई है।

Advertisement

Related posts

New Year 2024: Uttarakhand जश्न के लिए तैयार, टिहरी झील के किनारे सभी झोपड़ियाँ बुक; ये है रात

khabaruttrakhand

Uttarakhand: नए साल में आपदा की तत्काल जानकारी प्रदान करने के लिए Dehradun में नई इमारत ₹53 करोड़ की प्रणालियों से सुसज्जित है।

khabaruttrakhand

ब्रेकिंग:-थौलधार विकासखंड में पंचायत प्रधानों व अन्य पंचायत प्रतिनिधियों का धरना प्रदर्शन लगातार तीसरे दिन भी जारी।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights