khabaruttrakhand
आकस्मिक समाचारउत्तराखंडटिहरी गढ़वालदिन की कहानीराष्ट्रीयविशेष कवरस्वास्थ्य

वफादारी:-टिहरी में कुत्ते ने निभाई वफादारी, महिला पर हमले से पहले ही कुत्ते ने किया ये काम।

*महिला पर हमले से पहले कुत्ता भिड़ गया बाघ से,

*दिनदहाड़े घरों के नजदीक घूम रहे हैं बाघ, बढ़ रहा खतरा।

Advertisement


राकेश राणा ने की मांग वन विभाग के कर्मचारियों को मौका दस्त बढ़ाकर लोगों के जीवन को सुरक्षित करना चाहिए।

प्रताप नगर प्रखंड में मुखमाल गांव के नजदीक सोडेंच नाम तोक में 500 मीटर की दूरी पर बेसिक स्कूल और जूनियर हाई स्कूल अगल-बगल खूब बस्ती और खेतों में काम करती महिलाएं तकरीबन सायं 4:00 बजे घरों के नजदीक ही श्रीमती सोना देवी और बहुत सारी महिलाएं खेतों में काम कर रही थी की बगल में बाघ घात लगाए बैठा था ।
वहीं जैसे ही बाघ महिला की तरफ दौड़ता नीचे खेत में कुत्ते को एहसास हो गया और वह सीधा ऊपर वाले खेत में जा पहुंचा और सीधा बाघ पर चिपक गया।
बताया गया है कि काफी देर तक कुत्ते और बाघ में संघर्ष हुआ श्रीमती सोना देवी ने खूब हला मचाया जिसमे कुत्ता बुरी तरह लहू लोहान हो गया और नतीजन बाघ को उल्टे पैर भागना पड़ा ।

Advertisement

वहीं एक बार कुत्ते ने अपने मालिक की प्रति वफादारी दिखाई ,कुत्ते और बाघ के इस खूनी संघर्ष में कुत्ता बुरी तरह जख्मी हो गया और इस घातक हमले में बाघ ने कुत्ते की छाती बुरी तरह फाड़ दी थी और लगभग नाखून से 18, 20 छेद भी कर रखें थे।

सामाजिक कार्यकर्ता विजयपाल सिंह राणा के द्वारा कुत्ते को पशु चिकित्सालय धोन्त्री ले जाया गया जहां फार्मासिस्ट सतीश कुमार के द्वारा कुत्ते पर लगभग 18 ,20 टांके लगाकर इंजेक्शन आदि लगाकर उसे बचाया गया।

Advertisement

जिला कांग्रेस कमेटी टिहरी गढ़वाल के अध्यक्ष राकेश राणा ने कहा कि पहाड़ों में लगातार आये दिनों कई तरह की घटनाये हो रही है कुछ दैवीय आपदा, कहीं मानव जनित आपदा और कहीं जंगली जानवरों के आक्रमण से लगातार जन और धन की हानि हो रही है।

वहीं लगातार हो रहै पहाड़ों से पलायन का यह भी एक बड़ी वजह है।
अब जंगली जानवर लगातार गांव के बहुत नजदीक आ गए हैं एक तरफ फसलों को भारी नुकसान हो रहा है दूसरी तरफ जनहानि भी लगातार हो रही है।

Advertisement

वही इस घटना के बाद उन्होंने सरकार से मांग करते हुए कहा कि अब लगातार 5 महीने 6 महीने गांव में बाघ का डर बढ़ गया है इसलिए वन विभाग के कर्मचारियों को मौका दस्त बढ़कर लोगों के जीवन को सुरक्षित करना चाहिए।

Advertisement

Related posts

Anupam Kher बाबा नीम करोली के शिष्य बने, Kainchi Dham में पूज्य संत के दिव्य गुणों की प्रशंसा की

khabaruttrakhand

श्रीमती प्रज्ञा दीक्षित (पत्नी जिलाधिकारी मयूर दीक्षित) घर की जिम्मेदारियों से समय निकाल सामाजिक कार्यों में प्रतिभाग कर किशोरियों एवं महिलाओं को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक कर महिलाओं को सशक्त बनाने का कर रही कार्य।

khabaruttrakhand

Uttarakhand: हेली मेडिकल सर्विस वाला देश का पहला राज्य बनेगा Uttarakhand, ज्योतिरादित्य सिंधिया ने किया एलान

cradmin

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights