khabaruttrakhand
आकस्मिक समाचारउत्तराखंडखेलटिहरी गढ़वालदिन की कहानीदुनियाभर की खबरेप्रभावशाली व्यतिराजनीतिकराष्ट्रीयविशेष कवरस्टोरीस्वास्थ्य

ब्रेकिंग:-लीवर ट्रांसप्लांट के इच्छुक मरीजों को आवश्यक स्वास्थ्य परामर्श देने के लिए अब यहां होगी एक विशेष ओपीडी संचालित।

एम्स में अब ’लीवर ट्रांसप्लांट क्लीनिक’ की भी सुविधा
प्रत्येक मंगलवार को दोपहर बाद चलेगी ओपीडी
लीवर ट्रांसप्लांट की आवश्यता वाले रोगियों को मिलेगा परामर्श।

लीवर ट्रांसप्लांट के इच्छुक मरीजों को आवश्यक स्वास्थ्य परामर्श देने के लिए अब एम्स ऋषिकेश में एक विशेष ओपीडी संचालित होगी।

Advertisement

इसे लीवर ट्रांसप्लांट क्लीनिक नाम दिया गया है। यह ओपीडी प्रत्येक मंगलवार को अपरान्ह 2 बजे से 5 बजे तक संचालित होगी।

स्वास्थ्य सेवाओं को आगे बढ़ाते हुए एम्स ऋषिकेश ने नए वर्ष पर एक नया क्लीनिक शुरू किया है।
मेडिकल गेस्ट्रोएंट्रोलाॅजी और सर्जिकल गैस्ट्रोएंट्रोलाॅजी विभाग द्वारा संयुक्तरूप से शुरू की गई इस ओपीडी में विशेषतौर से उन मरीजों को देखा जाएगा, जिनका लीवर खराब है और जिन्हें निकट भविष्य में लीवर ट्रांसप्लांट की आवश्यकता है।
इस बारे में जानकारी देते हुए गैस्ट्रोएंट्रोलाॅजी विभागाध्यक्ष डाॅ. रोहित गुप्ता ने बताया कि संस्थान की निदेशक प्रोफेसर मीनू सिंह के प्रयासों से निकट भविष्य में लीवर ट्रांसप्लांट की सुविधा भी एम्स में शुरू होने जा रही है।

Advertisement

इसे देखते हुए ऐसे रोगी जिन्हें लीवर ट्रांसप्लांट की आवश्यकता पड़ रही है, वह इस ओपीडी का लाभ उठा सकते हैं।
सर्जिकल गैस्ट्रोएंट्रोलाॅजी विभाग के प्रमुख डाॅ. निर्झर राकेश ने इस बारे में जानकारी दी कि लीवर ट्रांसप्लांट ओपीडी द्वारा संबन्धित रोगी का प्रारंभिक मूल्यांकन कर लीवर ट्रांसप्लांट हेतु आवश्यक परामर्श, प्री-ट्रांसप्लांट मूल्यांकन और पोस्ट-ट्रांसप्लांट प्रबंधन के लिए एक समर्पित मंच प्रदान किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि एम्स में पेट रोग से संबंधित समस्या वाले रोगियों के लिए प्रत्येक सोमवार, बुधवार व शुक्रवार को मेडिकल गैस्ट्रोएंट्रोलाॅजी की ओपीडी तथा प्रत्येक मंगलवार, बृहस्पतिवार और शनिवार को सर्जिकल गैस्ट्रोएंट्रोलाॅजी विभाग की ओपीडी और प्रत्येक बृहस्पतिवार को दोपहर 2 बजे से फैटी लीवर क्लिनिक पूर्व से ही संचालित है।

Advertisement

Related posts

Uttarakhand के पूर्व CM Harish Rawat ने सरकार से PoK को पुनः प्राप्त करने का आग्रह किया, इस उद्देश्य के लिए राष्ट्रव्यापी समर्थन का दावा किया।

khabaruttrakhand

उत्तराखंड: नशामुक्ति केंद्रों के लिए जारी एसओपी पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक, देहरादून डीएम को प्रत्यावेदन निपटाने के निर्देश

cradmin

“Corbett Tiger Reserve में बाघों के हमलों के बाद Dhikala क्षेत्र की सफारी पर प्रतिबंध, पर्यटकों की सुरक्षा को लेकर भी चिंता”

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights