khabaruttrakhand
Uttar Pradesh

Ramlalla प्रण प्रतिष्ठा: PM Modi ने शुरू किया 11 दिनों का विशेष रीति, अपनी माँ को याद करते हुए ऑडियो संदेश में बोले

Ramlalla प्रण प्रतिष्ठा: PM Modi ने शुरू किया 11 दिनों का विशेष रीति, अपनी माँ को याद करते हुए ऑडियो संदेश में बोले

प्रधानमंत्री Narendra Modi ने Ram Mandir के पुनर्निर्माण के आगे एक ऑडियो संदेश जारी किया है। उन्होंने कहा, ‘अयोध्या में Ramlala की पुनर्निर्माण के लिए केवल 11 दिन बचे हैं। मुझे भाग्यशाली समझा जा रहा है कि मुझे इस शुभ अवसर के साक्षी बनाया जा रहा है। प्रभु ने मुझे जीवन के पुनर्निर्माण के दौरान भारत के सभी लोगों का प्रतिष्ठान्तरूप साक्षी बनाने के लिए एक उपकरण बना दिया है। इसे ध्यान में रखते हुए, मैं आज से एक विशेष रूप से 11 दिन की विशेष रीति की शुरुआत कर रहा हूँ। मैं आप सभी लोगों, जनता से आशीर्वाद प्राप्त करना चाहता हूँ।

ऑडियो संदेश वीडियो Mr Modi के ‘सियावर रामचंद्र की जय’ और ‘राम-राम’ का जाप से शुरू हुआ। उन्होंने कहा, ‘जीवन के कुछ क्षण केवल अद्भुत आशीर्वादों के कारण ही हकीकत में बदल जाते हैं। आज हम सभी भारतीयों के लिए और राम के भक्तों के लिए यह एक पवित्र अवसर है। लोगों के बीच भगवान श्रीराम के प्रति भक्ति का अद्भुत वातावरण है। सभी दिशाओं में राम के नाम की गूंथ है। राम भजनों की अद्भुत सौंदर्यिकता है। सभी 22 जनवरी का इस ऐतिहासिक पवित्र क्षण का इंतजार कर रहे हैं।

Advertisement

उन्होंने कहा, ‘अब केवल अयोध्या में Ramlala के पुनर्निर्माण के लिए 11 दिन बचे हैं। मैं भाग्यशाली हूँ कि मुझे भी इस शुभ अवसर को देखने का अवसर मिल रहा है। यह मेरे लिए समय की अनदेखी अनुभूतियों का समय है। मैं भावनाओं में हूँ। मैं भावनाओं में बहुत हूँ। इस तरह की भक्ति भावना का मैं अपने जीवन में पहली बार महसूस कर रहा हूँ। मेरे अंतरात्मा की इस भावनात्मक यात्रा को अभिव्यक्ति नहीं बल्कि अनुभव का एक अवसर मानता हूँ। मैं इसकी गहराई, तीव्रता और समग्रता को व्यक्त करने का प्रयास करता हूँ, चाहे मैं जितना भी प्रयास करूँ।

प्रधानमंत्री Modi ने आगे कहा, ‘आप भी मेरी स्थिति को समझ सकते हैं। मुझे उन पीढ़ियों के सपने की पूर्ति में मौजूद होने का गर्व है जो वर्षों से अपने दिल में एक संकल्प की तरह जी रहे हैं। भगवान ने मुझे उन सभी भारतीयों का प्रतिष्ठान्तरूप साक्षी बनाने का साधन बनाया है।

Advertisement

उन्होंने कहा, ‘यह एक विशाल जिम्मेदारी है। जैसा कि हमारे शास्त्रों में कहा जाता है, हमें यज्ञ और भगवान की पूजा के लिए अपने आत्मा में दिव्य चेतना को जागरूक करना है। इसके लिए, शास्त्रों में व्रत और सख्त नियमों को निर्दिष्ट किया गया है, जिन्हें पूजा से पहले अनुसरण किया जाना चाहिए। इसलिए, मैंने आज कुछ तपस्या जीवन के महात्मा और यात्रा के महान लोगों की मार्गदर्शन से प्राप्त मार्गदर्शन के अनुसार 11 दिनों की एक विशेष रीति की शुरुआत कर रहा हूँ। इस पवित्र अवसर पर, मैं ईश्वर के पैरों में प्रार्थना करता हूँ। मैं ऋषियों, संतों और तपस्वियों की याद करता हूं। मैं जनता-जरनादन की प्रार्थना करता हूँ, जो ईश्वर की रूप है, कि आप मुझे आशीर्वाद दें ताकि मेरी ओर से मन, वचन और कर्म में कोई कमी ना हो।

PM Modi ने कहा, ‘मुझे यह भाग्यपूर्ण है कि मैं अपनी 11-दिन की तपस्या की शुरुआत नासिक धाम-पंचवटी से कर रहा हूँ। पंचवटी वह पवित्र स्थान है जहां भगवान श्रीराम ने काफी समय बिताया था और आज मेरे लिए एक खुश किस्मती है कि आज स्वामी विवेकानंद का जन्म जयंती है। यह स्वामी विवेकानंद थे जिन्होंने भारत की आत्मा को हिजड़ा बना दिया था जो हजारों वर्षों से हमले के तहत थी। आज भी हमारे रूप में एक महान Ram Mandir के साथ उन्हीं में विश्वास की वही आत्मविश्वास दिखाई दे रहा है।

Advertisement

उन्होंने कहा, ‘देखिए, तो ये बात कुछ और है, आज माता जिजाबाई की जयंती भी है। माँ जिजा बाई, जिन्होंने छत्रपति शिवाजी महाराज के रूप में एक महान पुरुष को जन्म दिया। माँ जिजा बाई का आज के भारत को उसके संपूर्ण रूप में जो देख रहे हैं में विशेष योगदान है और दोस्तों, जब मैं माता जिजाबाई की गुणवत्ताओं की याद कर रहा हूँ, तो मेरी माँ की याद करना स्वाभाविक है। मेरी माँ अपने जीवन के अंत तक माला जाप करती रहती थीं और माला जाप करते समय वह Sitaram का नाम जपती थीं।

Advertisement

Related posts

Uttar Pradesh: Akhilesh Yadav लड़ाएंगे तो वरुण गांधी के लिए छोड़ देंगे उम्मीदवारी; पीलीभीत से SP प्रत्याशी का बड़ा बयान

cradmin

CM Yogi ने दिया साकारात्मक संदेश: ‘प्राण प्रतिष्ठा को सियासी चश्मे से नहीं देखने की जरूरत, वोट बैंक तलाशने का अवसर नहीं

cradmin

बदायूं में CM Yogi ने कहा: अयोध्या में रामलला के साथ भारत का गौरव प्रतिष्ठापन हुआ… यही है रामराज्य, बायोगैस प्लांट का उद्घाटन नई शुरुआत

cradmin

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights