khabaruttrakhand
उत्तराखंड

Cabinet: प्रधानमंत्री Narendra Modi ने मंत्रिमंडल के निर्णय की सराहना की, कहा – रेलवे के ढाँचे मजबूत होंगे

Cabinet: प्रधानमंत्री Narendra Modi ने मंत्रिमंडल के निर्णय की सराहना की, कहा - रेलवे के ढाँचे मजबूत होंगे

प्रधानमंत्री Narendra Modi ने गत गुरुवार को कई केंद्रीय मंत्रालय के कई निर्णयों की सराहना की। उन्होंने रेलवे परियोजनाओं को मंजूरी देने से इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ावा मिलेगा, व्यस्त मार्गों पर भीड़ को कम करेगा और वाणिज्यिकता और कनेक्टिविटी को सुधारेगा, उन्होंने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट में कहा। प्रधानमंत्री Narendra Modi द्वारा चेयर किए गए केंद्रीय मंत्रिमंडल ने रेल मंत्रालय की छह परियोजनाओं को कुल लागत के आनुमानित ₹12,343 करोड़ के साथ मंजूरी दी। इनका 100 प्रतिशत वित्त प्रदान केंद्र सरकार द्वारा किया जाएगा।

छह रेलवे परियोजनाएं मंजूर

प्रधानमंत्री Narendra Modi द्वारा चेयर किए गए केंद्रीय मंत्रिमंडल ने रेल मंत्रालय की छह परियोजनाओं को कुल लागत के आनुमानित ₹12,343 करोड़ के साथ मंजूरी दी। इनका 100 प्रतिशत वित्त प्रदान केंद्र सरकार द्वारा किया जाएगा।

Advertisement

14 महीनों में 740 जिलों को कवर किया गया

कैबिनेट मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री Narendra Modi ने 1 अक्टूबर, 2022 को भारत में 5जी सेवाएं शुरू की थीं। 14 महीनों में 4.2 लाख से अधिक बेस ट्रांसीवर स्टेशन (BTS) तैनात किए गए हैं जो 740 जिलों को कवर कर रहे हैं। यह दुनिया में 5G सेवाएं सबसे तेज़ी से शुरू होने वाली हैं। 13 करोड़ से अधिक ग्राहक 5जी सेवाएं उपयोग कर रहे हैं। भारत अब दुनिया में दूसरा सबसे बड़ा 5G एकोसिस्टम रखता है। यहां का औसत मोबाइल डाउनलोड स्पीड 91Mbps बढ़ गई है। भारत का वैश्विक मोबाइल स्पीड में रैंक 113 से 22 हो गया है।

प्रधानमंत्री ने मत्स्य किसान समृद्धि योजना के तहत ₹6,000 करोड़ से अधिक के निवेश को मंजूरी दी

Advertisement

सरकार ने प्रधानमंत्री मत्स्य किसान समृद्धि सह योजना (PM-MKSSY) में ₹6,000 करोड़ से अधिक के निवेश को मंजूरी दी है ताकि मत्स्य सेक्टर को संरचित बनाया जा सके और इस सेक्टर से जुड़े छोटे-मध्यम उद्यमों को समर्थन मिल सके। इस निवेश को 2023-24 से 2026-27 के अगले चार वर्षों में सभी राज्यों/संघ क्षेत्रों में किया जाएगा।

केंद्रीय मंत्रिमंडल की मंजूरी के बाद, इस निवेश का उपयोग एक राष्ट्रीय मत्स्य डिजिटल प्लेटफॉर्म बनाने के लिए भी किया जाएगा। इसका उद्देश्य 40 लाख छोटे और सूक्ष्म उद्यमों को श्रम आधारित पहचान प्रदान करना है। इसके अलावा, इस सेक्टर को धीरे-धीरे संरचित किया जाएगा। इससे 6.4 लाख सूक्ष्म उद्यमों और 5,500 मत्स्य सहकारी समितियों को संस्थागत ऋण प्राप्त करने की सुविधा मिलेगी। इसका मतलब है कि वे व्यापार के लिए ऋण प्राप्त कर सकेंगे।

Advertisement

Related posts

Lok Sabha Election 2024: डूबकर भी प्यासा ही रह गया टिहरी…जानिए कैसा रहा है 72 साल का चुनावी इतिहास

cradmin

भिलंगना ब्लॉक के इस रा०ई०का० में एक दिवसीय आपदा संबंधी/त्वरित राहत-बचाव कार्य एवं जगरूकता प्रशिक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत जनपद आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA), टिहरी गढ़वाल द्वारा दिया गया प्रशिक्षण।

khabaruttrakhand

ED raid: Harak Singh Rawat ने कहा- ‘मैंने कोई चोरी या डकैती नहीं की, इसलिए ED ने मेरे घर पर ऐसे छापा मारा’

cradmin

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights