khabaruttrakhand
Delhi NCR

ED Summons Case: CM Kejriwal आज भी ED के सामने नहीं होंगे, AAP ने दिया कारण

ED Summons Case: CM Kejriwal आज भी ED के सामने नहीं होंगे, AAP ने दिया कारण

दिल्ली के मुख्यमंत्री और AAP राष्ट्रीय संयोजक Arvind Kejriwal आज आयकर शुल्क नीति मामले में जारी जारी जाँच में शामिल नहीं होंगे। प्रत्युत्तर निदेशालय (ED) ने छठी बार समन जारी किया था और उन्हें 19 फरवरी को प्रकट होने के लिए कहा था। आम आदमी पार्टी ने कहा है कि अब ED समन की मान्यता के मामले न्यायालय तक पहुंच गया है। आधिकारिकता इसी समन के बारे में न्यायालय में है। ED को न्यायालय के निर्णय का इंतजार करना चाहिए।

प्रत्युत्तर निदेशालय (ED) ने दिल्ली के मुख्यमंत्री Arvind Kejriwal को दिल्ली एक्साइज पॉलिसी मामले में चल रहे जाँच में शामिल होने के लिए छठी बार समन जारी किया और उन्हें 19 फरवरी को प्रकट होने के लिए कहा था। इससे पहले, ED ने पाँच समन भेजे थे, जिन्हें मुख्यमंत्री ने नजरअंदाज किया था।

Advertisement

समन कब नजरअंदाज किए गए थे?

ED ने 2 फरवरी, 17 जनवरी, 3 जनवरी, 21 दिसम्बर और 2 नवम्बर को Kejriwal को समन भेजा था, लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री ने इस पर ध्यान नहीं दिया। पहले ही आम आदमी पार्टी (AAP) ने कहा था कि Kejriwal ने ED के समन को नजरअंदाज करने के जवाब में यह सवाल किया कि यदि उन्हें एक्साइज पॉलिसी से संबंधित मनी लॉन्ड्रिंग केस में अपराधी नहीं माना जाता है, तो फिर समन क्यों जारी किया गया था।

मुख्यमंत्री को न्यायालय से भी झटका, 17 फरवरी को न्यायालय में प्रदर्शन के निर्देश
दिल्ली के मुख्यमंत्री Arvind Kejriwal को दिल्ली के रौस एवेन्यू कोर्ट से बड़ा झटका मिला है। ED ने उनके अस्तित्व पर याचिका दाखिल की थी उनके गैर-हाजिरी के कारण। जिस पर न्यायालय ने मुख्यमंत्री को समन जारी करते हुए 17 फरवरी को न्यायालय में प्रदर्शन के लिए बुलाया है। देश भर में ED द्वारा जारी किए गए समन को न का जवाब देने के लिए Kejriwal पर दिल्ली एक्साइज पॉलिसी केस में अदालत में एक याचिका दाखिल हो गई है। ED ने बीते महीने ही आरोपी की गैर-हाजिरी के कारण दिल्ली के मुख्यमंत्री के खिलाफ राउस एवेन्यू कोर्ट में याचिका दाखिल की थी। ED ने पाँच समन भेजे थे, लेकिन Kejriwal ने इस पर ध्यान नहीं दिया था। जिसके बाद जाँच कार्यवाही शुरू की गई।

Advertisement

मुख्यमंत्री ने न्यायालय में अपने आत्मसमर्पण का भरोसा दिया

मुख्यमंत्री Arvind Kejriwal ने पिछले शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से न्यायालय में प्रदर्शन किया। उन्होंने न्यायालय को आश्वासन दिया कि वह मार्च में दिल्ली विधानसभा की बजट सत्र के बाद भौतिक रूप से प्रदर्शन करेंगे। इसके बाद, न्यायालय ने इस आश्वासन को स्वीकृत किया और 16 मार्च को सुनवाई की दिनांक तय की थी। न्यायालय ने उन्हें ED द्वारा जारी किए गए समन का उल्लंघन करने के लिए समन जारी किया था।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आश्वासन देते हुए, “बजट सत्र चल रहा है और फ्लोर टेस्ट होने वाला है, इसलिए मैं आज भौतिक रूप से उपस्थित नहीं हो सकता था। मैं आज न्यायालय में आना चाहता था, लेकिन अचानक फ्लोर टेस्ट आ गया। इसके बाद, अनुमति मिली और 16 मार्च को सुनवाई की गई।”

Advertisement

Related posts

Delhi Solar Policy: ‘AAP’ का दावा- LG ने Delhi सरकार की सोलर पॉलिसी रोकी, राजभवन ने आरोपों को बताया गलत

cradmin

Delhi: गृह मंत्रालय ने घटिया दवाओं की आपूर्ति की CBI जांच के दिए आदेश, मंत्री सौरभ भारद्वाज ने किया स्वागत

cradmin

Delhi High Court ने गर्भपात की इजाजत देने के आदेश को वापस लिया, 29 हफ्ते की गर्भवती महिला के मामले में

cradmin

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights