khabaruttrakhand
उत्तराखंडराजनीतिक

Lok Sabha Election 2024: फ्लैशबैक…देहरादून संसदीय सीट समाप्त हुई तो, हरिद्वार लोस सीट का हुआ जन्म

Lok Sabha Election 2024: फ्लैशबैक...देहरादून संसदीय सीट समाप्त हुई तो, हरिद्वार लोस सीट का हुआ जन्म

Lok Sabha Election 2024: 1952 से 2009 तक देहरादून और हरिद्वार लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति इस क्षेत्र के राजनीतिक परिदृश्य को समझने में बहुत महत्वपूर्ण है। इन निर्वाचन क्षेत्रों ने क्षेत्र की राजनीतिक गतिशीलता को आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और पिछले कुछ वर्षों में कई बदलाव देखे हैं।

1952 से 1977 तक Uttarakhand की राजधानी देहरादून के नाम पर एक संसदीय सीट का अस्तित्व इस क्षेत्र के राजनीतिक इतिहास में एक महत्वपूर्ण अध्याय है। हालांकि, 1977 में हरिद्वार लोकसभा सीट के अस्तित्व में आने के बाद इस सीट का अस्तित्व समाप्त हो गया। देहरादून का कुछ हिस्सा टिहरी गढ़वाल में और कुछ हिस्सा पौड़ी गढ़वाल संसदीय सीटों में शामिल कर लिया गया था।

Advertisement

यह बात उजागर करना जरूरी है कि 1951-52 में हुए पहले लोकसभा चुनाव में देहरादून एक अलग संसदीय सीट थी, जिसका पूरा नाम देहरादून जिला-बिजनौर जिला (उत्तर-पश्चिम)-सहारनपुर जिला सीट था। इसमें देहरादून जिले की देहरादून विधानसभा क्षेत्र, जिला सहारनपुर की विधानसभा क्षेत्र बीहट व हरिद्वार, रुड़की और लक्सर विधानसभा क्षेत्र शामिल रहे हैं।

1971 में देहरादून से Congress के मुल्क राज सैनी सांसद चुने गए

Advertisement

देहरादून लोकसभा सीट Congress के महावीर त्यागी 1952, 1957, 1962 चुने गए। हालांकि, 1967 के चुनावों में, घटनाओं में एक मोड़ आया, क्योंकि महावीर त्यागी एक स्वतंत्र उम्मीदवार यशपाल सिंह से सीट हार गए। 1971 में देहरादून से Congress के मुल्क राज सैनी सांसद चुने गए। हरिद्वार लोस सीट से 1977 में भारतीय लोक दल के भगवान दास राठौड़ पहले सांसद चुने गए।

हरिद्वार सांसद सुंदर लाल के निधन से 1987 में हुए उप चुनाव में Congress के राम सिंह से BSP सुप्रीमो मायावती व राम विलास पासवान तक को हार का सामना करना पड़ा। 2006 के परिसीमन के बाद हरिद्वार सीट में धर्मपुर, डोईवाला, ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र जुड़ गए थे। Uttarakhand की हरिद्वार लोकसभा सीट से पांच बार BJP , पांच बार Congress, एक बार लोकदल और एक बार SP, एक जनता पार्टी (सेकुलर ) प्रत्याशी विजय हुए हैं।

Advertisement

Related posts

ब्रेकिंग:-अपनी मांगों को लेकर प्रधान संगठन मुखर,विकासखडं में की तालाबंदी। मनरेगा कार्यों को लेकर प्रधान संगठन में अक्रोश।

khabaruttrakhand

Uttarakhand : खिलाड़ियों को नौकरी में चार प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण को वित्त और कार्मिक की मंजूरी, लाया जाएगा विधेयक

cradmin

ब्रेकिंगः-जिला पंचायत अल्मोड़ा की बैठक शुक्रवार को जिला पंचायत अध्यक्ष उमा बिष्ट की अध्यक्षता में जिला पंचायत सभागार धारानौला में हुयी सम्पन्न।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights