khabaruttrakhand
उत्तराखंड

Election 2024: कुमाऊं के 566 शतकवीर डालेंगे वोट, जानें अल्मोड़ा और ऊधमसिंह नगर के आंकड़े

Election 2024: कुमाऊं के 566 शतकवीर डालेंगे वोट, जानें अल्मोड़ा और ऊधमसिंह नगर के आंकड़े

Election 2024: कुमाऊं में लोकतंत्र के पर्व में शतायु मतदाताओं की अहम भूमिका रहेगी। मंडल में 566 शतकवीर लोकतंत्र के इस यज्ञ में वोट डालेंगे। यहां ऊधमसिंह नगर जिले में सर्वाधिक 297 शतायु मतदाता हैं। इनमें 176 महिलाएं हैं। सबसे कम 15 शतायु मतदाता चंपावत जिले में हैं। भीमताल विधानसभा क्षेत्र के गुनियालेख निवासी 135 वर्षीय स्वामी परमानंद पुरी सबसे उम्रदराज मतदाता हैं। दूसरे नंबर पर हल्द्वानी की 125 वर्षीय यशोदा देवी, तीसरे नंबर हल्द्वानी के ही 113 वर्षीय अनिल कुमार और चौथे नंबर पर बागेश्वर विधानसभा क्षेत्र के भिटारकोट बूथ की 110 वर्षीय देवकी देवी सबसे बुजुर्ग मतदाता हैं।

नैनीताल: शतकवीर है 84 मतदाता कालाढूंगी में सबसे ज्यादा

नैनीताल जिले के 84 शतकवीर हैं। यह सभी मतदाता घर पर रहकर ही वोट डालेंगे। जिले के सहायक निर्वाचन अधिकारी प्रेम सिंह रावत ने बताया कि लालकुआं विस क्षेत्र में तीन शतकवीर मतदाता हैं जिनमें 106 वर्षीय राजवती पत्नी किशन लाल शामिल हैं। भीमताल विधानसभा क्षेत्र में छह मतदाता हैं जिनमें स्वामी परमानंद पुरी सबसे अधिक उम्र 135 वर्ष के हैं। वह गुनियालेख के निवासी हैं।

Advertisement

नैनीताल विधानसभा क्षेत्र में नौ शतकवीर हैं, जिनमें 105 वर्षीय धर्मा देवी सबसे अधिक उम्र की हैं। वह कालाखेत की रहने वाली हैं। हल्द्वानी विधानसभा क्षेत्र में 20 शतकवीर हैं, जिनमें सर्वाधिक उम्रदराज 125 वर्षीय यशोदा देवी और 113 वर्षीय अनिल कुमार हल्द्वानी के निवासी हैं।

कालाढूंगी विधानसभा क्षेत्र में सबसे अधिक शतकवीर मतदाता हैं। यहां 37 मतदाता सौ साल की उम्र पूरी कर चुके हैं। इनमें 109 वर्षीय तुलसी देवी पतरामपुर की रहने वाली हैं, जबकि रामनगर विधानसभा क्षेत्र में कुल नौ मतदाता सौ साल की उम्र पूरी कर चुके हैं। इनमें सर्वाधिक 107 वर्षीय मिजाज पत्नी गुलाब बेग शामिल हैं। रावत ने बताया कि सभी शतकवीर मतदाताओं के वोट उनके घर पर जाकर पोस्टल बैलेट के माध्यम से लिए जाएंगे।

Advertisement

जिलेवार शतकवीर

जिला                 मतदाता संख्या
ऊधमसिंह नगर     297
अल्मोड़ा               87
नैनीताल               84
पिथौरागढ़             47
बागेश्वर                 36
चंपावत                15
कुल मतदाता        566

बागेश्वर: 36 शतकवीरों में 28 महिलाएं

बागेश्वर जिले में 36 शतकवीर लोकतंत्र के महापर्व पर वोट की आहुति डालेंगे। बागेश्वर विधानसभा क्षेत्र में 19 तो कपकोट विधानसभा क्षेत्र में 17 शतकवीर मतदाता है। इन 36 शतकवीरों में 28 महिलाएं हैं।

Advertisement

निर्वाचन कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार बागेश्वर विधानसभा क्षेत्र के भिटारकोट बूथ की 110 वर्षीय देवकी देवी पत्नी हरी दत्त सबसे बुजुर्ग मतदाता हैं। शतकवीरों में पारखेत बेदीबगड़ में 109 वर्षीय डिगरी देवी पत्नी त्रिलोक सिंह, छानी बूथ में 107 वर्षीय बलपा देवी पत्नी नारायण सिंह, भतरौला बूथ में 106 वर्षीय चंपिया देवी पत्नी राम स्वरूप, देवनाई बूथ की 105 वर्षीय राधा देवी पत्नी मोती सिंह, नौघर बूथ की गंगा देवी (103) पत्नी देवी राम, ढूंगापाटली की हरुली देवी (102) पत्नी देव सिंह, मन्यूड़ा की खिमुली देवी (102) पत्नी अमर सिंह, पाना की गंगा देवी (102) पत्नी केशर सिंह, अयारतोली की पार्वती देवी (102) पत्नी हयात सिंह, द्यांगण की भवानी देवी (102) पत्नी हयात सिंह, टाना की परुली देवी (102) पत्नी धरम सिंह, सौली की सावित्री देवी (101) पत्नी माल सिंह, कुलाऊं के हीरा सिंह (101) पुत्र बहादुर सिंह, डाक के पप्पू राम (101) पुत्र हरीश राम, मटियोली के दलीप सिंह (100) पुत्र खीम सिंह, घेटी की उदुली देवी (100) पत्नी वीर राम, थाकला की हरुली देवी (100) पत्नी किशन नाथ, द्यौनाई की भागुली देवी (100) पत्नी शेर सिंह शामिल हैं। कपकोट विधानसभा क्षेत्र में रिखाड़ी की गोपुली देवी (107) पत्नी गुमान सिंह और ऐठान की जशौदा देवी (107) पत्नी दीवान सिंह सबसे बुजुर्ग मतदाता हैं।

लीली की भवानी देवी (106) पत्नी हर सिंह, भनार की चनारा देवी (105) पत्नी चंचल सिंह, बजीना की खिमुली देवी (104) पत्नी दुलप सिंह, खुल्दौड़ी की पार्वती देवी (104) पत्नी रतन सिंह, अनर्सा की कनुली देवी (103) पत्नी बिशन सिंह, महरगाड़ी की भानुली देवी (103) पत्नी उच्छप सिंह, कपकोट के धन सिंह (103) पुत्र गोपाल सिंह, पोथिंग के खीम सिंह (103) पुत्र किशन सिंह, भयूं की पार्वती देवी (102) पत्नी दौलत सिंह, खलझूनी के पनी राम (102) पुत्र मन राम, चौरा के खुशाल सिंह (101) पुत्र दीवान सिंह, चौरा की सरस्वती देवी (101) पत्नी किशन सिंह, कालापैर कापड़ी की लीला देवी (101) पत्नी सोबन सिंह, पातल के हरी राम (100) पुत्र लच्छी राम और बनलेख की गोविंदी देवी (100) पत्नी राम दत्त शतकवीर मतदाता हैं।

Advertisement

अल्मोड़ा:100 पार कर चुके 87 मतदाता करेंगे वोट

अल्मोड़ जिले में 100 से 109 उम्र के 87 शतकवीर हैं। इनमें 21 पुरुष और 66 महिलाएं हैं। जिले की छह विधानसभा क्षेत्रों में 90 साल पूरे कर चुके 1921 मतदाता हैं। 90 से 99 साल उम्र के 467 पुरुष, 1376 महिलाएं हैं। द्वाराहाट विधासभा क्षेत्र में 19, सल्ट में 22, रानीखेत में 11, सोमेश्वर में 20, अल्मोड़ा में सात, जागेश्वर 8 शतकवीर हैं।

चंपावत: लीलावती सबसे बुजुर्ग मतदाता

चंपावत जिले की दो विधानसभा क्षेत्रों में 15 शतकवीर हैं। इसमें लोहाघाट विधानसभा में नौ और चंपावत में छह मतदाता 100 के पढ़ाव को पार कर चुके हैं। सबसे बुजुर्ग मतदाता चंपावत विधानसभा में लीलावती देवी 107 वर्ष की हैं। जिनका नाम लोहाघाट विधानसभा में जैती देवी 100 और उमेदी, दुर्गा देवी, पार्वती देवी, दौलत राम 101, पार्वती देवी 102, माधवी देवी, जीवंती, रूपसी देवी 103 आयु के हैं। चंपावत विधानसभा में उमापति, गुमानी देवी, गोविंदी देवी, चंचला देवी 100, पार्वती देवी, माधवी देवी में 103 और लीलावती देवी 107 आयु की हैं। स्वीप के नोडल अधिकारी जीवन कलौनी ने बताया कि गांव-गांव जाकर बुजुर्ग मतदाताओं की जानकारी जुटाई जा रही है। शतकवीर मतदाताओं को प्रमुखता से मतदान कराने में हर संभव मदद की जाएगी।

ऊधमसिंह नगर: 297 बुजुर्ग फिर चुनेंगे अपना सांसद

चुनावी लोकतंत्र में सौ बसंत देख चुके 297 मतदाता अपना सांसद चुनेंगे। जिले में सौ बरस से अधिक आयु वाले सर्वाधिक 47 मतदाता रुद्रपुर विधानसभा क्षेत्र में हैं। दूसरे नंबर पर सितारगंज में 42 मतदाता हैं। उप जिला निर्वाचन कार्यालय के अनुसार शतायु मतदाताओं में पुरुषों की संख्या 121 और महिला मतदाताओं की संख्या 176 है। नानकमत्ता विधानसभा को छोड़ सभी विधानसभाओं में पुरुषों से अधिक शतायु महिला मतदाता हैं। रुद्रपुर सीट पर तो महिलाओं की संख्या पुरुषों से दोगुनी से भी अधिक है।

Advertisement

Related posts

Uttarakhand: निजी नशा मुक्ति केंद्रों को सरकारी में होंगे अधिसूचित, नशीले पदार्थों की तस्करी वाले भेजे जाएंगे

cradmin

Uttarakhand के 1500 श्रद्धालुओं को विशेष ट्रेन से Ayodhya पहुंचाएगी विश्व हिंदू परिषद, Ramlala के दर्शन के लिए सबसे पहले करेंगे

khabaruttrakhand

ब्रेकिंग:-हर्षोल्लास के साथ मनाया गया सरोवर नगरी नैनीताल का 181 वां वर्ष।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights