khabaruttrakhand
उत्तराखंडटिहरी गढ़वालदिन की कहानीप्रभावशाली व्यतिराजनीतिकविशेष कवरस्वास्थ्य

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, एम्स ऋषिकेश में मनाए जा रहे स्वच्छता पखवाड़े के तहत लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के लिए विभिन्न जन-जागरूकता कार्यक्रमों का किया आयोजन।

– स्वस्थ जीवन के लिए स्वच्छता जरूरी
– एम्स में मनाया जा रहा स्वच्छता पखवाड़ा।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, एम्स ऋषिकेश में मनाए जा रहे स्वच्छता पखवाड़े के तहत लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के लिए विभिन्न जन-जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इस दौरान संस्थान के स्टाफ द्वारा स्वच्छता शपथ भी ली गई।

Advertisement

देशभर के स्वास्थ्य संस्थानों में इन दिनों स्वच्छता पखवाड़ा मनाया जा रहा है।
उद्देश्य है कि अस्पताल पहुंचने वाले लोग साफ-सफाई के प्रति विशेष ध्यान रखें और दैनिक जीवन में स्वच्छता बनाए रखने हेतु प्रेरित हो सकें।
इस अवसर पर एम्स ऋषिकेश में भी विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से आम मरीजों, उनके तीमारदारों और संस्थान के स्टाफ को स्वच्छता अपनाने के प्रति जागरूक किया गया।
बीते 1 अप्रैल से शुरू हुए इस स्वच्छता पखवाड़े के पहले चरण में संस्थान की कार्यकारी निदेशक प्रोफेसर डॉ. मीनू सिंह ने स्टाफ को स्वच्छता अपनाने की शपथ दिलाई।
इस दौरान उन्होंने कहा कि स्वच्छता ही स्वस्थ जीवन का आधार है।

जब हम स्वच्छ रहेंगे तो जीवन भी स्वस्थ रहेगा। उन्होंने कहा कि स्वच्छ व विकसित राष्ट्र बनाने लिए हम सभी को एकजुट होकर स्वच्छता अपनाने के प्रति संकल्पित होने की आवश्यकता है।

Advertisement

प्रो. मीनू सिंह ने कहा कि स्वस्थ समाज की परिकल्पना साकार करने के लिए हमें मिशन के रूप में मिलकर कार्य करने की आवश्यकता है।

चिकित्सा अधीक्षक प्रो. संजीव कुमार मित्तल ने स्वच्छता अपनाने और स्वच्छता बनाए रखने पर जोर दिया।

Advertisement

उन्होंने कहा कि स्वच्छता के अभाव में हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार की बीमारियां जन्म लेने लगती हैं। इसलिए जरूरी है कि हम अपने आस-पास के वातावरण के साथ-साथ अपने शरीर की स्वच्छता पर भी ध्यान दें।

अभियान की समन्वयक डॉ. पूजा भदौरिया ने स्वच्छता के प्रति जागरूकता को एक अभियान के तौर पर संचालित करने की बात कही। उन्होंने कहा कि स्वच्छता की शुरुआत हमें स्वयं से ही करनी होगी। यदि प्रत्येक व्यक्ति स्वच्छता को अपनाएगा तो बीमारयों का दुष्प्रभाव स्वतः ही कम हो जाएगा।

Advertisement

विभिन्न स्थानों पर आयोजित स्वच्छता कार्यक्रमों के दौरान नुक्कड़ नाटकों का आयोजन, विशेष सफाई अभियान, स्वच्छता संबंधी पोस्टर और वाल पेन्टिंग प्रतियोगिताओं का प्रदर्शन व मूल्यांकन तथा सेनेटाईजेशन विभाग द्वारा आईपीडी वार्डों में जाकर रोगियों और उनके तीमारदारों को स्वच्छता अपनाने के प्रति जागरूक किया गया।

उल्लेखनीय है कि 15 अप्रैल तक चलने वाले इस स्वच्छता पखवाड़े में अस्पताल के डॉक्टर्स व नर्सिंग स्टाफ के अलावा, हेल्थ केयर वर्कर्स, तकनीशियन, स्वच्छता टीम, संक्रमण नियंत्रण टीम, डायटीशियन आदि विभागों द्वारा प्रतिभाग किया जा रहा है।

Advertisement

विभिन्न स्थानों पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान प्रभारी डीन एकेडेमिक डॉ. शैलेन्द्र हांडू, उप निदेशक (प्रशासन) ले. कर्नल अमित पराशर, अधीक्षण अभियंता ले. कर्नल राजेश जुयाल, कॉलेज ऑफ नर्सिंग की प्रिंसिपल प्रोफेसर स्मृति अरोड़ा, डीएमएस डॉ. भारत भूषण, डॉ. यतिन तलवार, अस्पताल प्रशासन के डॉ. नरेन्द्र कुमार, मुख्य नर्सिंग अधिकारी रीटा शर्मा और विभिन्न विभागों के डीएनएस, एएनएस और नर्सिंग अधिकारी मौजूद रहे।

Advertisement

Related posts

चारधाम यात्रा पर आए थे 8 लोग, यहां उनकी गाड़ी हुई हादसे का शिकार। जाने अपडेट।

khabaruttrakhand

मुख्यमंत्री के जनपद भ्रमण प्रस्तावित कार्यक्रम को लेकर जिलाधिकारी ने रविवार को समस्त तैयारी/व्यवस्थाओं का लिया जायजा ।

khabaruttrakhand

ब्रेकिंग:-नशे की विरुद्ध पुलिस की बड़ी कार्यवाही 8 पेटी अवैध अंग्रेज़ी शराब के साथ 02 अभियुक्त वाहन सहित गिरफ्त में।

khabaruttrakhand

Leave a Comment

Verified by MonsterInsights